अधिक सर्दी लगना दूर करेंगे यह 16 आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे | Adhik Sardi ya Thand Lagna

Home » Blog » Disease diagnostics » अधिक सर्दी लगना दूर करेंगे यह 16 आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे | Adhik Sardi ya Thand Lagna

अधिक सर्दी लगना दूर करेंगे यह 16 आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे | Adhik Sardi ya Thand Lagna

अधिक सर्दी (sardi)या ठंड (thand ) लगना:

सर्दी के मौसम में कुछ स्वस्थ व्यक्तियों को जरूरत से ज्यादा सर्दी लगती है। ऐसे लोग सर्दी के दिनों में अधिक ठंड न होने पर भी अधिक ठंड का अनुभव करते हैं। इसमें व्यक्तियों को ऐसे ठंड लगती है जैसे कि मलेरिया के रोग से ग्रस्त रोगी को अधिक ठंड लगती है।आइये जाने adhik thandi lagne ka gharelu ilaj in hindi

ठंड (thand)का घरेलु औषधियों से उपचार :

1. लहसुन (Garlic): लगभग 10 से 30 बूंद लहसुन के रस की या 2 से 3 ग्राम की मात्रा में लहसुन के काढ़े को शहद के साथ रोजाना खाने से सर्दी के मौसम में लगने वाली आवश्यकता से अधिक सर्दी नहीं लगती है। इस काढ़े को पीने से सर्दी के कारण होने वाले रोग भी दूर रहते हैं।

2. स्पृक्का : चौथाई से आधा चम्मच स्पृक्का का रस रोजाना दिन में 3 बार लेने से ठंड़(thandi) के कारण होने वाले सभी रोग ठीक हो जाते हैं और सर्दी का कम अनुभव होता है।

3. मरसा : शरीर में अधिक सर्दी या ठंड (thand )महसूस होने पर सफेद मरसा के बीजों को भूनकर खाने से सर्दी कम लगती है। सर्दी अधिक लगने पर इसके साग को भी खाने से सर्दी का प्रकोप कम हो जाता है।

4. अंजीर(Fig) : लगभग एक चौथाई से कम की मात्रा में अंजीर को खाने से सर्दी के कारण होने वाले दिल और दिमाग के रोगों में बहुत ज्यादा लाभ मिलता है।

5. कॉफी (Coffee): आवश्यकता से अधिक सर्दी महसूस होने पर कॉफी को पीने से शरीर में गर्मी का अनुभव होता है और सर्दी का प्रकोप शान्त हो जाता है।

6. केला (banana): पके केले में 4 बूंद शहद को मिलाकर रोजाना दिन में 2 या 3 बार खाने से आवश्यकता से अधिक ठंड़ महसूस होना बन्द हो जाती है।

7. विजयपर्पटी : सुबह और शाम को लगभग एक चौथाई से कम की मात्रा में विजय पर्पटी को शहद या दूध में मिलाकर लेने से हृदय रोग ठीक होता है और खून का संचार शरीर में ठीक रहता है तथा सर्दी का कम अनुभव होता है।

इसे भी पढ़े :  सर्दी जुकाम दूर करने के 15 सरल घरेलू उपचार | 15 Best Home Remedies For Common Cold And Cough

8. उतरन : लगभग 3 से 6 ग्राम की मात्रा में उतरन की जड़ के बारीक चूर्ण को शहद के साथ खाने से शरीर के अन्दर गर्मी आ जाती है और सर्दी का अनुभव कम होता है।

9. द्रोणपुष्पी : द्रोणपुष्पी का रस नाक में 2-2 बूंद डालने और इसके रस को सूंघने से सर्दी नष्ट हो जाती है।

10. गुड़ : पानी में गुड़, अदरक, नींबू का रस, अजवाइन और हल्दी को बराबर की मात्रा में डालकर उबालकर और छानकर पीने से सर्दी अधिक लगना कम हो जाती है।

11. संतरा(Orange) :

★ सर्दी या खांसी होने पर गर्मी में ठंडे पानी के साथ और सर्दी में गर्म पानी के साथ संतरे का रस पीने से लाभ होता है।
★ बच्चों को रोजाना मीठे संतरे का रस पीते रहने से सर्दी के मौसम में कोई रोग नहीं होता। दूध पीते बच्चों के लिए यह रस बहुत लाभदायक होता है और उनके शरीर में ताकत भी बढ़ती है।

12. कायफल : कायफल का बारीक चूर्ण छाती, पेट और हाथ-पैरों पर मलने से शरीर में गर्मी का संचार होकर सर्दी का प्रभाव दूर होता है।

13. पोदीना(Mint) : पोदीने की पत्तियों तथा कालीमिर्च को मिलाकर चाय बनाएं। यह चाय गर्म-गर्म रोगी को पिलाने से सर्दी-खांसी, जुकाम, दमा और बुखार में आराम मिलता है।

14. लौंग(Cloves) : लौंग का काढ़ा बनाकर खाने से या लौग के तेल की 2 बूंद चीनी में डालकर लेने से सर्दी लगना कम हो जाती है।

15. अमरूद : 3 दिनों तक केवल अमरूद खाकर रहने से बहुत पुरानी सर्दी की शिकायत दूर हो जाती है।

इसे भी पढ़े :  क्या आप है साइनस से परेशान इसे आजमायें-अच्युताय हरिओम योगी आयु तेल

16. पीपल :

★ 1 ग्राम पीपल के चूर्ण को शहद के साथ दिन में 2 बार लेने से सर्दी-जुकाम और बुखार के रोग में लाभ होता है।
★ दूध में 2 पीपल या चौथाई चम्मच सोंठ डालकर, उबालकर पीने से सर्दी-बुखार और जुकाम में आराम आता है।

विशेष : अधिक सर्दी या ठंड लगने पर अच्युताय हरिओम फार्मा की यह आयुर्वेदिक औषधियां काफी लाभप्रद है |
१] अच्युताय हरिओम तुलसी अर्क
२] अच्युताय हरिओम गौ झरण अर्क
३] अच्युताय हरिओम अमृत द्रव्य

प्राप्ति-स्थान : संत श्री आशारामजी आश्रमों और श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र |

keywords –   adhik thandi lagne ka gharelu ilaj in hindi ,symptoms of thand lagna ,Adhik Sardi ya Thand Lagne ka gharelu ilaj in hindi