पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

घमौरियों से छुटकारा देंगे यह 19 असरकारक घरेलु नुस्खे | Effective Home Remedies For Prickly Heat Rash

Home » Blog » Disease diagnostics » घमौरियाँ Ghamori(Heat rash) » घमौरियों से छुटकारा देंगे यह 19 असरकारक घरेलु नुस्खे | Effective Home Remedies For Prickly Heat Rash

घमौरियों से छुटकारा देंगे यह 19 असरकारक घरेलु नुस्खे | Effective Home Remedies For Prickly Heat Rash

गर्मियों में घमोरियां होना एक आम बात है एक तो भयंकर गर्मी और उस पर बहते पसीने में ये घमोरियां, पुरे तन बदन में आग लगा देती हैं। घमोरियां ज़्यादातर गले पेट और पीठ पर अधिक प्रकोप दिखाती हैं। गर्मियों में घमौरियों से बचने के लिए भोजन में तड़का (छोंक) लगते समय प्याज और लहसुन और गर्म मसालों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। कच्चा प्याज गर्मी से बचाता है तो छोंक लगा हुआ प्याज गर्मी करता है।
अगर घमोरियां हो गयी हों तो ऐसे में आप तुरंत आराम के लिए निम्नलिखित प्रयोग अपना कर घमौरियों के कष्ट से तुरंत आराम पा सकते हैं।आइये जाने घमौरियों(Ghamoriyo) को दूर करने के घरेलू उपाय

Home Remedies for PRICKLY HEAT RASH in Hindi

उपचार :

पहला प्रयोगः नींबू का रस लगाने से अथवा आम की गुठली के चूर्ण को पानी में मिलाकर उसे शरीर पर लगाकर स्नान करने से घमौरियाँ(Ghamori)मिटती हैं।

दूसरा प्रयोगः ग्रीष्म ऋतु में प्रायः पीठ के ऊपर घमौरियाँ (छोटी-छोटी फुन्सियाँ) हो जाती हैं। 5 ग्राम सोंफ कूटकर पानी से भरे बर्तन में डाल दें व प्रातः इसी पानी से स्नान करे व सोंफ को पानी में पीसकर लेप बनाकर पीठ पर लगाने से घमौरियाँ शीघ्र ही ठीक होती हैं।

विशेष : अच्युताय हरिओम आँवला मिश्री चूर्ण ” ” अच्युताय हरिओम गुलकंद ” ” अच्युताय हरिओम गुलाब सर्बत ” शरीर की गर्मी को ख़त्म कर घमौरियों(Ghamoriyo)से राहत प्रदान करते है .

विभिन्न औषधियों से उपचार-

१* मुलतानी मिट्टी से घमौरियों का इलाज:

शरीर पर “अच्युताय हरिओम मुलतानी मिट्टी” का लेप करने से घमौरियां कुछ ही दिनों में मिट जाती हैं।

२* मेहंदी से घमौरियों का इलाज:

शरीर में घमौरियां होने पर मेहंदी का लेप करने से घमौरियां कुछ ही समय में बिल्कुल खत्म हो जाती हैं।नहाते समय पानी में मेहंदी के पत्तों को पीसकर मिला लें। इस पानी से नहाने से घमौरियां ठीक हो जाती हैं और रोगी को राहत मिलती है।

३* नीम से घमौरियों का इलाज:

घमौरियां होने पर नीम की छाल को घिसकर चन्दन कीतरह शरीर पर लगाने से घमौरियां कुछ ही समय में ठीक हो जाती हैं। पानी में थोड़ी सी नीम की पत्तियां डालकर उबाल लें। इस पानी से नहाने से घमौरियां दूर हो जाती हैं।

४* चंदन से घमौरियों का इलाज:

सफेद चंदन को पानी के साथपीसकर शरीर पर लेप करने से घमौरियां ठीक हो जाती हैं।गुलाब जल में चंदन और कपूर को घिसकर घमौरियों पर लगाने से आराम आता है।

५* खसखस से घमौरियों का इलाज:

20 ग्राम खसखस को पीसकरपानी में मिलाकर घमौरियों पर लगाने से घमौरियों से राहत मिलती है। इसके अलावा 2 चम्मच खसखस के शर्बत को 1कप पानी में मिलाकर दिन में 2-3 बार पीने से भी घमौरियों में लाभ होता है।

६* घी से घमौरियों का इलाज :

गाय या भैंस के असली घी की पूरे शरीर पर मालिश करने से घमौरियां मिट जाती हैं और दुबारा कभी होती भी नहीं हैं।

७* तुलसी से घमौरियों का इलाज:

तुलसी की लकड़ी को पीसकर चन्दन की तरह शरीर पर मलने से घमौरियां समाप्त हो जाती हैं।

८* समुद्रफेन से घमौरियों का इलाज:

समुद्रफेन के बारीक चूर्ण को गुलाब जल में मिलाकर शरीर पर लगाने से घमौरियों से राहत मिलती है।

९* करेला से घमौरियों का इलाज:

चौथाई कप करेले के रस में 1चम्मच खाने वाला मीठा सोडा मिलाकर दिन में 2 से 3 बार घमौरियों पर लेप करने से घमौरियां मिट जाती हैं।

१०* आम से घमौरियों का इलाज:

कच्चे आम को धीमी आंच में भूनकर इसके गूदे का शरीर पर लेप करने से घमौरियों में आराम होता है।

११* धनिया से घमौरियों का इलाज:

पानी में 50 ग्राम धनिये के पानी को भिगो देना चाहिए। लगभग 5 घंटे बाद इस पानी को छानकर घमौरियों वाले स्थान पर लगाने से राहत मिलती है। यदि किसी छोटे तौलिये को इस पानी में भिगोकर घमौरियों पर रखा जाए तो रोगी को बहुत आराम मिलता है। इस प्रक्रिया को 2 दिन तक सुबह-शाम करने सेघमौरियां नष्ट हो जाती हैं। इसकेअतिरिक्त नींबू के रस में धनिया डालकर पीना भी घमौरियों में लाभकारी रहता है। ध्यान रहे कि घमौरियों के कारण शरीर में नमक की मात्रा कम होनेलगती है। इसलिए नमक का सेवन अवश्य ही करना चाहिए। यदि रोटी में नमक और अजवायन को मिला लिया जाएतो भी घमौरियों में बहुत आराम मिलता है।

१२* एलोवेरा :

एलोवेरा के पत्तों का गूदा दिन में दो बार घमौरियों वाले स्थान पर लगाएं और इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें और उसके बाद धो दें। ऐसा करने से घमौरियाँ ठीक हो जाएंगी।

१३* जई(Oatmeal) :

एक कप जई(Oatmeal) का महीन आटा नहाने के एक बाल्टी पानी में घोल लें। इस पानी से घमोरियों को धीरे धीरे धोने से घमोरियों ( ghamori )

में आराम मिलता है।

१४* हल्दी :

हल्दी , बेसन का उबटन लगाकर नहाने से घमोरी ghamori में आराम मिलता है।

१५ *नींबू:

एक गिलास पानी में एक नींबू का रस निचोकर दिन में तीन बार लेने से घमोरियां ठीक होती है। नींबू का रस मुल्तानी मिटटी मे मिलाकर घमोरियों पर लगाने से भी आराम मिलता है।

१६* पानी:

गर्मी में पानी , शर्बत , ठंडाई , और फलों का जूस इत्यादि का सेवन ज्यादा करने से घमोरी ghamori नहीं होती है।

१७*करेले :

करेले का रस चौथाई कप लें इसमें इतना ही पानी मिलाकर पिएँ। चार पांच दिन सुबह शाम पीने से घमौरियाँ ghamoriya ठीक हो

जाती है।

Leave a Reply