पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

चाय-काफी में दस प्रकार के जहर | Harmful side effects of Coffee and Tea

Home » Blog » Ahar-vihar » चाय-काफी में दस प्रकार के जहर | Harmful side effects of Coffee and Tea

चाय-काफी में दस प्रकार के जहर | Harmful side effects of Coffee and Tea

1. टेनिन नाम का जहर 18 % होता है, जो पेट में छाले तथा पैदा करता है।

2. थिन नामक जहर 3 % होता है, जिससे खुश्की चढ़ती है तथा यह फेफड़ों और सिर में भारीपन पैदा करता है।

3. कैफीन नामक जहर 2.75 % होता है, जो शरीर में एसिड बनाता है तथा किडनी को कमजोर करता है।

4. वॉलाटाइल नामक जहर आँतों के ऊपर हानिकारक प्रभाव डालता है।

5. कार्बोनिक अम्ल से एसिडिटी होती है।

6. पैमिन से पाचनशक्ति कमजोर होती है।

7. एरोमोलीक आँतड़ियों के ऊपर हानिकारक प्रभाव डालता है।

8. साइनोजन अनिद्रा तथा लकवा जैसी भयंकर बीमारियाँ पैदा करती है।

9. ऑक्सेलिक अम्ल शरीर के लिए अत्यंत हानिकारक है।

10. स्टिनॉयल रक्तविहार तथा नपुंसकता पैदा करता है।

इसलिए चाय अथवा कॉफी कभी नहीं पीनी चाहिए और अगर पीनी ही पड़े तो आश्रम द्वारा निर्मित आयुर्वैदिक चाय (ओजस्वी पेय )पीनी चाहिए।

2017-03-13T10:16:02+00:00 By |Ahar-vihar|0 Comments

Leave a Reply