पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेश धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।। हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।" "ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।" पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

छोटे छोटे वास्तु टिप्स, जिनसे खत्म होगा मानसिक तनाव

Home » Blog » Vastu » छोटे छोटे वास्तु टिप्स, जिनसे खत्म होगा मानसिक तनाव

छोटे छोटे वास्तु टिप्स, जिनसे खत्म होगा मानसिक तनाव

– रात में झूठे बर्तन न रखें।- संध्या समय पर खाना न खाएं और नही स्नान करें।

– शाम के समय घर में सुगंधित एवं पवित्र धुआ करें।

– दिन में एक बार चांदी के गिलास का पानी पीएं। इससे क्रोध पर नियंत्रण होता है।

– शयन कक्ष में मदिरापान नहीं करें। अन्यथा रोगी होने तथा डरावने सपनों का भय होता है।

– कंटीले पौधे घर में नहीं लगाएं।

– किचन में अग्रि और पानी साथ न रखें।

– अपने घर में चटकीले रंग नहीं कराये।

– घर में जाले न लगने दें, इससे मानसिक तनाव कम होता है।

– किचन का पत्थर काला नहीं रखें।

– भोजन रसोईघर में बैठकर ही करें।

– इन छोटे-छोटे उपायों से आप शांति का अनुभव करेंगे।

– घर में कोई रोगी हो तो एक कटोरी में केसर घोलकर उसके कमरे में रखे दें। वह जल्दी स्वस्थ हो जाएगा।

– घर में ऐसी व्यवस्था करें कि वातावरण सुगंधित रहे। सुगंधित वातावरण से मन प्रसन्न रहता है।

2017-01-05T20:59:33+00:00 By |Vastu|0 Comments

Leave a Reply