पेट और कमर की चर्बी :

अकसर लोग वजन कम करने में लगे रहते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, वजन कम करने से भी ज्यादा जरूरी होता है आपका कमर और पेट को कम करना। एकबारगी आप अपना वजन तो आसानी से कम कर सकते हैं, लेकिन सबसे अधिक जो समस्या आती है वह है कमर और पेट के आस-पास की चरबी को हटाने की। क्या आप जानते हैं कि कुछ लोग मोटे नहीं होते, लेकिन उनके पेट के आस-पास काफी चरबी जमा हो जाती है, जिससे वे परेशान रहने लगते हैं और अपने आपको मोटा समझने लगते हैं। वैसे भी खासकर लड़कियाँ कमर और पेट के आस-पास जमा वसा के कारण तंग कपड़े नहीं पहन पातीं। यदि वे ऐसा करती भी हैं तो यह उनके व्यक्तित्व में निखार नहीं आ पाता। यदि आप चाहते हैं कि आपके पेट और कमर आसानी से कम हो जाएँ तो आप कुछ टिप्स अपना सकते हैं। आइए, जानें कमर और पेट कम करने के तरीके

पेट और कमर कम करने के तरीके : Kamar aur Pet Kam Karne ka Gharelu Tarika aur Upay

सप्ताह में एक दिन उपवास करें –
यदि आप खाने-पीने के बहुत शौकीन हैं और अपनी इस आदत से भी परेशान हैं तो आपको चाहिए कि आप सप्ताह में कम-से-कम एक बार उपवास जरूर करें। आप चाहें तो सप्ताह में एक दिन तरल पदार्थ पर रह सकते हैं। इसमें आप पानी, नींबू पानी, दूध, जूस, सूप इत्यादि चीजों को प्राथमिकता देंगे। आप चाहें तो एक दिन सलाद या फलाहार को भी दे सकते हैं, जिसमें आप सिर्फ फल या सलाद ही खाएँगे। सलाद खाकर वजन घटाने में आपको मदद मिलेगी।( और पढ़ेउपवास रखने के 5 बड़े फायदे )

पेट कम करने के लिए योगासन है जरूरी –
कमर और पेट कम करने के लिए आपको नियमित रूप से सुबह उठकर योग करना चाहिए। ऐसे में आपको कुछ ऐसे आसनों को शामिल करना होगा, जिनसे आपके पेट और कमर को कम करने में मदद मिले। वैसे भी आप योग से नीरोग रह सकते हैं। आपको रोजाना सूर्य नमस्कार की सभी क्रियाएँ, सर्वांगासन, भुजंगासन, वज्रासन, शलभासन इत्यादि को करना चाहिए। ( और पढ़ेमोटापा कम करने के सफल 58 घरेलू नुस्खे )

खान-पान संतुलित रखें –
यदि आप जंक फूड खूब खाते हैं या फिर आपको तैलीय खाना बहुत पसंद है तो आपको चाहिए कि आप ऐसे खाने से बिलकुल परहेज करें। सामान्य आटे के बजाय जौ और चने के आटे को मिलाकर बनी चपाती खाएँ। इससे आपका शरीर सुडौल बनेगा। ( और पढ़ेखान पान के यह नियम आपको रखेगे सदा तंदरुस्त)

शहद है फायदेमंद –
शहद के कई गुण हैं। यह मोटापा कम करने में कारगर है। आपको चाहिए कि आप रोजाना सुबह पानी के साथ शहद का सेवन करें। इससे आप जल्द ही कमर और पेट को कम करेंगे।( और पढ़ेशहद खाने के 18 जबरदस्त फायदे  )

ग्रीन टी भी है मददगार-
आप चाय पीने के बहुत शौकीन हैं और आप चाहते हैं कि आप जल्द ही अपना वजन घटाएँ तो आपको चाहिए कि आप दूध की चाय पीने के बजाय एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी, लेमन टी या आयुर्वेदिक टी (काडा) लें। दरअसल, दूध की चाय पीने से आपका मोटापा बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है।( और पढ़ेग्रीन टी के फायदे और नुकसान )

सुबह-शाम करें सैर-
आपको कमर और पेट के आस-पास की चरबी दूर करने के लिए चाहिए कि रोजाना सुबह उठकर कुछ देर सैर पर जाएँ और रात के खाने के बाद भी सैर करना न भूलें। इससे आप अतिरिक्त कैलोरी को आसानी से कम कर पाएँगे और पेट व कमर की चरबी घटती जाएगी। ( और पढ़ेदौड़ने के लाजवाब फायदे और स्‍वास्‍थ्‍य लाभ)

कमर और पेट कम करने के लिए क्या खाना चाहिए और आहार कैसा लें :

• दिन की शुरुआत कभी भी कॉफी या चाय के साथ न करें। कैफीन वाली चीजें रक्तचाप व दिल की धड़कन बढ़ाती हैं। इससे शरीर में तनाव महसूस होता है, जो पाचन-तंत्र का सबसे बड़ा दुश्मन हैं। हम चाय या कॉफी पीकर नींद खुलने जैसा महसूस करते हैं, उसकी असली वजह दिल की धड़कन या साँस की रफ्तार का बढ़ना होता है। सुबह के वक्त शरीर हलका-फुलका रहता है और दिल की धड़कन सामान्य रहती है। इस सामान्य गति को बनाए रखने के लिए वास्तविक खाने की जरूरत है। चाय-कॉफी से पिछले 9-10 घंटे से भूखे कोशिकाओं को पोषण न बराबर मिलता है। इससे भूख मरती है। आप लंबे वक्त तक बिना महसूस किए भूखे रहते हैं। सूरज निकलने के साथ मेटाबॉलिज्म चरम पर होता है। ऐसे में इस वक्त सबसे ज्यादा खाने की जरूरत होती है। अगर आप कुछ ठोस नहीं खाना चाहते हैं तो फल खा सकते हैं। इसके एक घंटे बाद फाइबर-युक्त चीजें खाएँ; जैसे-रोटी, उपमा, इडली आदि लेना चाहिए।

• ज्यादा सक्रिय हों तो ज्यादा खाएँ और कम सक्रिय हों तो कम।

• अगर खुद को भूखे रखना सजा है तो ज्यादा खाना अपराध। बिना यह ध्यान दिए कि हमारे पेट को क्या जरूरत है, हम खाते जाते हैं। हम मोटे इसलिए होते हैं, क्योंकि हम सही वक्त पर खाने के बजाय गलत वक्त पर खाते हैं। उदाहरण के लिए, लड्डू में काफी कैलोरी होती है और अगर लड्डू खाने के साथ या रात में खाएँ तो उन्हें कैलोरी के रूप में शरीर में जमा होने से कोई नहीं रोक सकता। भरे पेट (खाने के बाद) और मेटाबॉलिक रेट कम होने के बाद (सूर्यास्त के बाद) शरीर पोषक न्यूट्रिएंट लेना बंद कर देता है। एक अच्छी और तनाव-रहित नींद भी चरबी कम करने में मदद करती हैं। सही तरीका यह है कि रात में 6.30 बजे तक पूरा खाना और 8.30 बजे तक हलका खाना खा लें।

• नियमित आहार के बीच चिवड़ा, ढोकला, सलाद, अंकुरित दालें, फल या सलाद खा सकते हैं। तेल और चीनी से परहेज करें। खाली कार्बोहाइड्रेट लेने से भूख जल्दी लगती है, इसलिए प्रोटीन भी खाने में शामिल करें।

• मौसमी फल और सब्जी खाएँ। जूस के बजाय साबुत फल खाना बेहतर होता है। अलग-अलग सब्जी से अलग-अलग पोषक तत्त्व मिलते हैं। हरी पत्तेदार सब्जियाँ खाएँ। इनमें खनिज और विटामिन काफी तादाद में । होते हैं।

• वजन कम करना चाहते हैं तो ज्यादातर सफेद चीजें (आलू, मैदा, चीनी, चावल आदि) कम करें और मल्टीग्रेन या मल्टी…(दालें, गेहूँ, चना, जौ, गाजर, पालक, सेब, पपीता आदि) पर जोर दें।

• बिना फैटवाला दूध या दही खाएँ। दूध में वेट कम करने के लिए उसमें पानी मिलाने से बेहतर है कि मलाई उतार ली जाए। पानी मिलाने से दूध में पोषक तत्त्व भी कम होते हैं। जिन्हें दूध या सोया प्रोडक्ट से एलर्जी है, वे राजमा, नींबू, टमाटर, मेथी, पालक, बादाम, काजू जैसी चीजें खाकर कैल्शियम की कमी से बच सकते हैं।

• दिन में 3-4 लीटर पानी व तरल पदार्थ लें। पानी न सिर्फ फैट कम करता है, बल्कि शरीर से जहरीले तत्त्वों को भी निकालता है। यह भूख कम करता हैं और कब्ज रोकता है। खाने की शुरुआत एक गिलास पानी, नारियल पानी, जूस, सूप, नींबू पानी या छाछ से करें।

खाने-पीने की सावधानियाँ

मोटापे से आपको कई तरह के रोग होने की संभावना रहती है। इसलिए जरूरी है कि मोटापा बढ़ने पर सचेत हो जाएँ और इसको कम करने के उपाय करें। मोटापा कम करने के लिए व्यायाम के साथ-साथ उचित खानपान भी होना चाहिए। खाने-पीने में कुछ सावधानियाँ बरतने से मोटापे से छुटकारा मिल सकता है।

✦खाने के बाद पानी नहीं पिएँ-
अकसर लोग भोजन के बाद ढेर सारा पानी पी लेते हैं, जो बहुत सही नहीं है। भोजन करने के आधे घंटे बाद ही पानी पीना चाहिए। इससे पेट और कमर पर मोटापा नहीं होता, साथ ही मोटापा भी कम हो जाता है।

✦हरी सब्जियों का प्रयोग-
खाने में हरी सब्जी, साग व सलाद की मात्रा रोटी व चावल से ज्यादा रखें। इससे शरीर में चरबी नहीं जमा होगी।

✦उपवास के लाभ-
अगर संभव हो तो हफ्ते में एक दिन उपवास करें और इस दौरान सिर्फ दूध व फल का ही सेवन करें। इससे आपकी पाचन-शक्ति भी ठीक होगी। जौ-चने के आटे की रोटी खाएँ खाने में गेहूं के आटे की रोटी न लेकर जौ-चने के आटे की रोटी लेना शुरू कर दें। इससे सिर्फ पेट और कमर ही नहीं, बल्कि सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।

✦शहद-
रोज कुनकुने पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पीने से भी कुछ दिनों में मोटापा कम होने लगता है।

✦पुदीना –
पुदीना मोटापा कम करने में सहायक होता है। पुदीने के रस में शहद मिलाकर सेवन करने से मोटापा कम होता है।

✦पत्तागोभी खाएँ –
पत्तागोभी में चरबी घटाने के गुण होते हैं और इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म शक्तिशाली होता हैं।

✦रेशेवाले फल-सब्जियों का प्रयोग-
खाने में ज्यादा-से-ज्यादा रेशेवाले पदार्थ शामिल करें। हरी सब्जियों व फलों में रेशे अधिक होते हैं, इसलिए इनका सेवन ज्यादा-से-ज्यादा करें।

✦पानी ज्यादा पिएँ-
ज्यादा-से-ज्यादा पानी पिएँ। इससे शरीर की चयापचय पाचन क्रिया तेज होगी और ज्यादा कैलोरी की। खपत होगी, जिससे चरबी कम होगी।

✦फाइबर-युक्त आहार-
फाइबर युक्त आहार का सेवन करें; जैसे-बादाम, बौंस, पॉपकॉर्न व ब्राउन राइस। इससे शरीर की चरबी कम होती हैं।

✦खाना नहीं छोड़ें-
नाश्ता, लंच और डिनर समय से करें। किसी भी समय के खाने को छोड़े नहीं, क्योंकि इससे आप अगले वक्त का खाना अधिक खाते हैं। इसलिए सही समय पर खाना खाएँ।

कमर और पेट कम करने के लिए योगासन : Kamar aur Pet Kam Karne ke Liye Yoga

योगासन द्वारा वजन घटाएँ
वजन कम करने का सबसे सटीक और सरल तरीका है योग। ये आसन वजन कम करने में मददगार
हैं

• कपालभाति-साँस को तेजी से नाक से बाहर फेंकें, जिससे पेट अंदर-बाहर जाएगा। 5-10 मिनट करें। हाई बीपी वाले धीरे-धीरे करें और कमर दर्द वाले कुरसी पर बैठकर करें।

• अग्निसार-खड़े होकर पैरों को थोड़ा खोलकर हाथों को जंघाओं पर रखें। साँस को बाहर रोक दें। फिर पेट की पंपिंग करें यानी पेट अंदर खींचें, फिर छोड़ें। स्लिक डिस्क, हाई बी.पी. या पेट का ऑपरेशन करा चुके लोग इसे न करें।

• ऊर्ध्व हस्तोत्तानासन-खड़े होकर पैरों को थोड़ा खोलें। हाथों की उँगलियों को फँसाकर सिर के ऊपर उठा लें। साँस निकालें और कमर को बाईं तरफ झुका लें। इसी प्रकार दूसरी ओर भी करें।

• द्रुत उत्तानपादासन-कमर के बल लेटकर हाथों को जंघाओं के नीचे जमीन पर रखें। दोनों पैरों को 90 डिग्री तक ऊपर उठाएँ। इस प्रकार जमीन पर बिना टिकाए बार-बार पैरों को ऊपर-नीचे करते रहें। कमर दर्द वाले इसे न करें।

• हृदय स्तंभासन-कमर के बल लेटकर हाथों को जंघाओं के ऊपर रखें। साँस भरकर पैरों को उठाएँ। सिर और कमर को उठाएँ। इस दौरान शरीर का भार हिप्स पर रहेगा।

• दिवपाद साइकिलिंग-कमर के बल लेटे-लेटे ही दोनों पैरों को मिलाकर एक साथ साइकिलिंग की तरह घुमाएँ। थकान होने तक लगातार घुमाते रहें। हाथों को कमर के नीचे रखें।

• भुजंगासन- पेट के बल लेटकर दोनों हाथों को हिप्स के नीचे रखें। साँस भरते हुए आगे से सिर और छाती को ऊपर उठाकर पीछे की ओर मोड़ लें।

• उज्जायी प्राणायाम-थायरॉइड के मरीजों के लिए यह काफी फायदेमंद है। सीधे बैठकर सॉस बाहर निकालें। अब साँस भरते हुए गले की मांसपेशियों को टाइट करें और साँस भरते जाएँ। गले से घर्षण की आवाज करते जाएँ। फिर नाक से साँस धीरे से बाहर निकाल दें।

कमर और पेट कम करने के लिए आयुर्वेदिक दवा : Pet Kam Karne ki Ayurvedic Dawa

अच्युताय हरिओम फार्मा द्वारा निर्मित कमर और पेट की चरबी को हटाने की लाभदायक आयुर्वेदिक औषधियां ।

1) शोधन कल्प चूर्ण
2) गोझरण अर्क
3) तुलसी अर्क

प्राप्ति-स्थान : सभी संत श्री आशारामजी आश्रमों व श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र से इसे प्राप्त किया जा सकता है ।