पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेश धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।। हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।" "ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।" पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

अपान आसन : पेट के रोगों को दूर कर पाचनशक्ति बढ़ाने वाला लाभदायक आसन | Apana Asana

Home » Blog » Yoga & Pranayam » अपान आसन : पेट के रोगों को दूर कर पाचनशक्ति बढ़ाने वाला लाभदायक आसन | Apana Asana

अपान आसन : पेट के रोगों को दूर कर पाचनशक्ति बढ़ाने वाला लाभदायक आसन | Apana Asana

विधि : Apana Asana steps

★ पद्मासन में बैठ जायें, फिर दोनों नथुनों से श्वास को पूरी तरह बाहर निकाल दें |
★ अब उड्डीयान बंध लगायें अर्थात पेट को अंदर की ओर खींचे तथा दोनों हाथों से पसलियों के निचले भाग में पेट के दोनों पार्श्वो ( बाजूवाले भागों ) को पकड़कर बलपूर्वक दबा लें |
★ यथाशक्ति इसी स्थिति में रहें, फिर सामान्य स्थिति में आ जायें और धीरे – धीरे श्वास ले लें |
★ पाँच – सात बार इसे दोहरायें |

इसे भी पढ़े : भद्रासन फेफड़ों को बलसाली बनाता है यह चमत्कारिक आसन |

लाभ : Apanasana benefits

१) बढ़ा हुआ वात, कफ ठीक होता है, तिल्ली व यकृत वृद्धि में भी लाभदायक है |
२) पाचनशक्ति बढने के साथ पेट के अन्य विकार भी दूर होते है |
३) मणिपुर चक्र को सक्रिय करने में मदद करता है |
४) वजन कम करने में लाभदायी है |

स्त्रोत – ऋषिप्रसाद

keywords – Apanasana Steps and Health Benefits in hindi , apanasana benefits ,apanasana yoga journal ,apanasana meaning ,eka pada apanasana ,apanasana steps , अपान आसन

 

2017-06-23T13:59:51+00:00 By |Yoga & Pranayam|0 Comments

Leave a Reply