हरि ध्यान मुद्रा : क्रोध को दूर करने वाली लाभदायक मुद्रा | Hari dhyan mudra

Home » Blog » Mudra » हरि ध्यान मुद्रा : क्रोध को दूर करने वाली लाभदायक मुद्रा | Hari dhyan mudra

हरि ध्यान मुद्रा : क्रोध को दूर करने वाली लाभदायक मुद्रा | Hari dhyan mudra

हरि ध्यान मुद्रा विधि व फायदे : Hari dhyan mudra Benefits in hindi

हरि ध्यान मुद्रा के लाभ:

★ इस मुद्रा(Hari dhyan mudra) के निरंतर अभ्यास से जोड़ों का दर्द, पीठ का दर्द, कमर का दर्द, रीढ़ की हड्डी का दर्द आदि रोग दूर हो जाते हैं।

★ जिन स्त्रियों को हिस्टीरिया के दौरे पड़ते हों, गुस्सा आता हो या स्वभाव चिड़चिड़ा हो वे अगर इस मुद्रा को करती हैं तो उनके सारे रोग एकदम शांत हो जाते हैं।

इसे भी पढ़े :
अन्तस्वर मुद्रा : शरीर में ऊर्जा शक्ति बढ़ाने वाली उत्तम मुद्रा |
अगोचरीमुद्रा : तेजी से पाप का क्षय कर आत्मशांति देने वाली लाभदायक मुद्रा
अग्निशक्ति मुद्रा लो ब्लडप्रेशर में होने वाली कमजोरी से राहत देती है यह मुद्रा |

हरि ध्यान मुद्रा बनाने की विधि :

★ अपने हाथ की मुट्ठी को बंद करके अपने एक हाथ को दूसरे हाथ के ऊपर रख दें बिल्कुल वैसे ही जैसे कि हम किसी चीज में ध्यान लगाते हुए करते हैं।
★ इस मुद्रा (Hari dhyan mudra)को करते समय एक बात का ध्यान रखें कि जब इस मुद्रा को करें आपकी रीढ़ की हड्डी बिल्कुल सीधी रहनी चाहिए।

2017-11-20T17:15:15+00:00 By |Mudra|0 Comments

Leave A Comment

5 + nine =