शरीर की कमजोरी दूर कर ताकत बढ़ाने के घरेलू उपाय | Kamjori ke Karan Lakshan Dawa aur ilaj

Home » Blog » Disease diagnostics » शरीर की कमजोरी दूर कर ताकत बढ़ाने के घरेलू उपाय | Kamjori ke Karan Lakshan Dawa aur ilaj

शरीर की कमजोरी दूर कर ताकत बढ़ाने के घरेलू उपाय | Kamjori ke Karan Lakshan Dawa aur ilaj

शरीर की कमजोरी :

किसी रोग से परेशान होने के साथ-साथ मानसिक और शारीरिक शक्ति की कमी हो जाने को कमजोरी कहते हैं। यह हमारे शरीर में उचित पोषक तत्वों की कमी के कारण हो जाती है, आइये जाने कमजोरी के कारण क्या है ।

कमजोरी के कारण : kamjori ke kara

शरीर में कमजोरी के कारण, नींद, लंघन, शोक, उल्टी, दस्त, अति मैथुन, अल्प भोजन, मल-मूत्रादि के वेग का रोकना, चिन्ता और भय आदि होते हैं।

कमजोरी के लक्षण हिंदी में :

शारीरिक शक्तिहीनता में शरीर अधिक पतला और कमजोर हो जाता है। शरीर की हडि्डयां दिखाई दें, गाल अन्दर की ओर घुसे हुए हों, आंखों के आस-पास काले घेरे पड़े हों और स्तन बिल्कुल भी न पता चले।ये कमजोरी की निशानी है। ज्यादा कमजोर व्यक्तियों को शक्तिहीनता के अलावा अनेक प्रकार के रोग भी हो जाते हैं।

कमजोरी दूर करने के घरेलू नुस्खे : kamjori dur karne ke gharelu upay aur nuskhe

1- दूध से कमजोरी दूर करने के उपाय-
एक गिलास दूध में पांच बादाम पीसकर मिलाएं और एक चम्मच देशी घी डालें और पी जाएं। इस प्रयोग से बल मिलता है। बल के लिए सर्दियों के मौसम में आधा ग्राम केसर डालकर पीना चाहिए।( और पढ़ेदूध पीने के फायदे )

2-अंजीर से कमजोरी दूर करने के उपाय-
पके अंजीर को बराबर की मात्रा में सौंफ के साथ चबा-चबाकर किया गया नियमित सेवन 40 दिनों में सारी शारीरिक दुर्बलता दूर कर देता है।( और पढ़ेअंजीर के फायदे और नुकसान )

3-काजू से कमजोरी दूर करने के उपाय-
पैरों पर काजू के दूध का लेप करने से पैरों की कमजोरी ठीक होती है।

4-गम्भारी से कमजोरी दूर करने के उपाय-
सामान्य दुर्बलता (कमजोरी), शुक्र दुर्बलता में गंभारी के फल का चूर्ण और मिश्री को एक साथ मिलाकर सुबह-शाम 1-1 चम्मच गाय के दूध के साथ सेवन करें तथा बुखार के बाद की दुर्बलता में इसकी छाल का 50-100 मिलीलीटर क्वाथ (काढ़) पिलाना लाभकारी होता है।

5-लाल चीता (लाल चित्रक) से कमजोरी दूर करने के उपाय-
लगभग 1-2 ग्राम लाल चीता शहद के साथ सुबह-शाम सेवन करने से शरीर की कमजोरी मिट जाती है और शरीर को नयी स्फूर्ति मिलती है।

6-बबूल से कमजोरी दूर करने के उपाय-
बबूल के गोंद को घी के साथ तलकर उसमें दुगुनी चीनी मिला दें। इसे प्रतिदिन 20 ग्राम लेने से शक्ति में वृद्धि होती है।( और पढ़ेगोंद खाने के फायदे और सेवन विधि)

7-नमक से कमजोरी दूर करने के उपाय-
1 भाग नमक में 30 भाग ठंड़ा पानी मिलाकर घोल तैयार करें। इसको मांसपेशियों में मालिश करने से मांसपेशियों की कमजोरी मिट जाती है।

8-गिलोय से कमजोरी दूर करने के उपाय-
100 मिलीलीटर गिलोय का रस (कल्क), 100 ग्राम अनन्तमूल का चूर्ण, दोनों को एक साथ 1 लीटर उबलते पानी में मिलाकर किसी बन्द पत्ते में रखकर 2 घंटे के बाद मसल-छानकर रख लें। इसे 50-100 मिलीलीटर रोजाना 2-3 बार सेवन करने से बुखार से आई कमजोरी मिट जाती है।( और पढ़ेगिलोय के फायदे और नुकसान )

9-काली मूसली से कमजोरी दूर करने के उपाय-
3-6 ग्राम काली मूसली सुबह-शाम मिश्री मिले दूध के साथ सेवन करने से कमजोरी और नपुंसकता मिट जाती है।

10- सफेद मूसली से कमजोरी दूर करने के उपाय-
10 ग्राम सफेद मूसली के चूर्ण में चीनी मिलाकर दूध के साथ सुबह-शाम सेवन से नपुंसकता, दुर्बलता और शुक्रमेह आदि बीमारी से लाभ होता है।

11- विधारा से कमजोरी दूर करने के उपाय-
डेढ़ से 3 ग्राम विधारा का मूल चूर्ण मिश्री मिले दूध के साथ रोजाना सुबह-शाम सेवन करने से शरीर की कमजोरी मिट जाती है। बंगाल में इसका खूब सेवन किया जाता है।

12-ममीरा से कमजोरी दूर करने के उपाय-
लगभग आधा ग्राम ममीरा सुबह-शाम शहद या दूध के साथ सेवन करने से किसी बीमारी के कारण आई कमजोरी मिट जाती है। इससे पाचन संस्थान और मूत्र संस्थान की परेशानी से भी आराम मिलता है।

13-शंखपुष्पी से कमजोरी दूर करने के उपाय-
लगभग 10-20 मिलीलीटर शंखपुष्पी का रस सुबह-शाम सेवन करने से कमजोरी मिट जाती है।( और पढ़े – शंखपुष्पी के फायदे और नुकसान )

14-गुलकन्द (गुलाब की पंखुड़ियों से बना) –
लगभग 10-20 ग्राम गुलकन्द सुबह-शाम सेवन करने से शौंच साफ आता है, भूख बढ़ती है, शरीर मजबूत हो जाता है। इसके न मिलने पर इसके चूर्ण का भी प्रयोग किया जा सकता है। इसे 1-3 ग्राम की मात्रा में लें।

15-मखाना से कमजोरी दूर करने के उपाय-
मखाने की खीर नियमित सेवन करने से शारीरिक शक्ति और वीर्य शक्ति दोनों में लाभ मिलता है।

16- मुनक्का से कमजोरी दूर करने के उपाय-
मुनक्के का सेवन करने से कमजोरी मिट जाती है। इससे मल-मूत्र भी साफ हो जाता है।

17-अखरोट से कमजोरी दूर करने के उपाय-
अखरोट की गिरी के सेवन से कमजोरी मिट जाती है।( और पढ़ेअखरोट के 16 चमत्कारी फायदे)

18-अलसीसे कमजोरी दूर करने के उपाय-
एक गिलास दूध के साथ सुबह-शाम एक-एक चम्मच अलसी का बीज निगलते रहने से शारीरिक दुर्बलता दूर होकर पुष्टता आती है।

19-केला से कमजोरी दूर करने के उपाय-
खाना खाने के बाद लगातार तीन महीने तक केले खाने से कमजोर आदमी भी बलवान बन जाता है।

20-निर्गुण्डी से कमजोरी दूर करने के उपाय-
निर्गुण्डी के तेल की मालिश करने से पैरों की बीमारी और कमजोरी दूर होती है।

21-बादाम से कमजोरी दूर करने के उपाय-
4 पीस बादाम, 2 पीस छुहारा, 8 पीस मुनक्का शाम को पानी में भिगो दें। सुबह छुहारे की गुठली और बादाम का छिलका और मुनक्के के बीज अलग कर दें और शेष महीन पीसकर, इसमें शुद्ध घी मिलाकर रोजाना सेवन करने से कमजोरी मिट जाती है।

22-खजूर से कमजोरी दूर करने के उपाय-
नियमित रूप से 6 से 10 खजूर खाकर ऊपर से 1 कप दूध पीने से कुछ दिनों में ही शरीर में स्फूर्ति पैदा होती है। बल बढ़ता है, नया खून पैदा होता है और वीर्य बढ़ने लगता है।

23-गाजर से कमजोरी दूर करने के उपाय-
गाजर के हलवा के सेवन से कमजोरी में लाभ होता है। इसके सेवन से गुर्दे की कमजोरी भी दूर हो जाती है।

24-अश्वगंधा से कमजोरी दूर करने के उपाय-
अश्वगंधा का चूर्ण 6 ग्राम, इसमें बराबर की मिश्री और बराबर शहद मिलाकर इसमें 10 ग्राम गाय का घी मिलायें, इस मिश्रण को सुबह-शाम शीतकाल में चार महीने तक सेवन करने से बूढ़ा व्यक्ति भी युवक की तरह प्रसन्न रहता है।

25-आम से कमजोरी दूर करने के उपाय-
नियमित सुबह मीठे आम चूसकर, ऊपर से सौंठ व छुहारे डालकर पकाये हुए दूध को पीने से पुरुषार्थ वृद्धि और शरीर पुष्ट होता है।

कमजोरी की आयुर्वेदिक दवा : kamjori dur karne ki dawa

अच्युताय हरिओम फार्मा द्वारा निर्मित कमजोरी दूर कर शक्ति,बल ,वीर्यवर्धक, स्नायु व मांसपेशियों को ताकत देने वाली लाभदायक आयुर्वेदिक औषधियां ।

1)  अश्वगंधा पाक
2) सौभाग्य शुंठी पाक
3) अश्वगंधा टेबलेट

प्राप्ति-स्थान : सभी संत श्री आशारामजी आश्रमों व श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र से इसे प्राप्त किया जा सकता है ।

मित्रों शरीर की कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय का यह लेख आपको कैसा लगा हमें जरुर बतायें । अगर आपके पास भी ताकत बढ़ाने के नुस्खे और उपाय हो तो हमारे साथ भी उन्हें शेयर जरुर करें ।

(वैद्यकीय सलाहनुसार सेवन करें)

2018-11-17T10:29:09+00:00 By |Disease diagnostics|0 Comments