पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेश धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।। हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।" "ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।" पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

मन की चंचलता मिटा बुद्धि बढ़ाने वाला योगियों का दिव्य प्रयोग |

Home » Blog » Students » मन की चंचलता मिटा बुद्धि बढ़ाने वाला योगियों का दिव्य प्रयोग |

मन की चंचलता मिटा बुद्धि बढ़ाने वाला योगियों का दिव्य प्रयोग |

चंचलता – निवारण करने का अपना विचार होता है तो आदमी बहुत ऊँचा उठ जाता है | चंचलता ध्यान के द्वारा कम होती है | लम्बा श्वास लेकर दीर्घ प्रणव ( ॐकार ) का जप करो | जितना समय उच्चारण में लगे उतनी देर शांत हो जाओ | आप अपने शुद्ध ज्ञान में स्थित होंगे तो चारों प्रकार की चंचलता आसानी से मिट जायेगी, उससे होनेवाली शक्तियों का ह्रास रुक जायेगा |

प्रयोग :

★ १० से १२ मिनट तक ॐकार गुंजन करने तथा ॐकार मंत्र का अर्थ सहित ध्यान करने से हारे को हिम्मत, थके को विश्रांति मिलती है, भूले को अंतरात्मा मार्गदर्शन करता है |
★ विद्युत् का कुचालक आसन बिछा दे,
★ १० – १५ मिनट तक ध्यान करे और एकटक भगवान या गुरु की प्रतिमा अथवा ॐकार को देखता जाय तो साधारण – से – साधारण व्यक्ति भी इन चंचलताओं से ऊपर उठ जायेगा |
★ बात को खींच – खींचकर लम्बी करने की गंदी आदत छूट जायेगी |
★ मधुर वाणी, सत्य वाणी, हितकर वाणी जैसे सदगुण स्वाभाविक उत्पन्न होने लगेंगे |

इसे भी पढ़े :  सूर्यनारायण का ध्यान

लाभ :

★ यह प्रयोग करने से चारों प्रकार की चंचलताएँ छुट जायेंगी,
★ व्यसन छोड़ने नही पड़ेंगे, अपने – आप भाग जायेंगे |
★ चिंता भगाने के लिए कोई दूसरे नये उपाय नहीं करने पड़ेंगे |
★ बुद्धिदाता की कृपा हो तो अल्प बुद्धिवाला भी अच्छी बुद्धि का धनी हो जायेगा |

स्त्रोत – ऋषिप्रसाद

keywords – man ki chanchalta ,man ki shanti ke liye mantra ,man ki shanti ke liye yoga ,vairagya in english ,meditation kaise kare in hindi ,man shant karne ka mantra ,osho hindi dhyan vidhi ,man ko kaise control kare in hindi ,mind ko kaise control kare ,Man Ki Ekagrata Kaise Badhaye,ekagrata mantra in hindi ,ekagrata yoga ,ekagrata ka rahasya ,man ko kaise control kare in hindi ,ekagrata kaise banaye ,meditation kaise kare in hindi ,essay on ekagrata in hindi ,man ki shanti ka mantra ,Concentration power Kaise Badhaye ,मन की चंचलता ,ॐ शांति शांति शांति ,मन को नियंत्रित करना ,मन की एकाग्रता ,मन के विचार ,मन शांत कसे ठेवावे ,मन की शांति के लिए योग ,मन की शांति के लिए क्या करना चाहिए ,एकाग्रता बढ़ाने के उपाय ,एकाग्रता का महत्व ,एकाग्रता का रहस्य ,एकाग्रता मंत्र , एकाग्रता की शक्ति , एकाग्रता क्या है ,एकाग्रता अर्थ
2017-06-23T12:04:33+00:00 By |Students|0 Comments

Leave a Reply