जोड़ों में कितना भी दर्द हो दूर करेगा यह स्वादिष्ट पाक | Sandhishulhar Pak for joints pain

Home » Blog » Disease diagnostics » जोड़ों में कितना भी दर्द हो दूर करेगा यह स्वादिष्ट पाक | Sandhishulhar Pak for joints pain

जोड़ों में कितना भी दर्द हो दूर करेगा यह स्वादिष्ट पाक | Sandhishulhar Pak for joints pain

संधिशुलहर पाक :Jodo ka dard kare dur -Sandhishulhar Pak

लाभ :

★ ऊत्तम वायुनाशक व हड्डियों को मजबूत करनेवाली मेथी, दोषों का पाचन करनेवाली सौंठ व जठराग्नि को प्रदीप्त करनेवाले द्रव्यों से बना यह पाक जोड़ों के दर्द(Jodo ka dard /Joint Pain), गृध्रसी (सायटिका), गठिया, गर्दन का दर्द (सर्वायकल स्पोंडीलोसिस), कमरदर्द तथा वायु के कारण होनेवाली हाथ-पैरों की ऐंठन, सुन्नता, जकडन आदि में अतीव गुणकारी है |
★ सर्दियों में ४० – ६० दिन तक इसका सेवन कर सकते है |
★ बल व पुष्टि के लिए निरोगी व्यक्ति भी इसका लाभ ले सकते है |
★ प्रसूता माताओं के लिए भी यह खूब लाभदायी है | इससे गर्भाशय की शुद्धि व दूध में वृद्धी होती है |

सामग्री :

★ मेथी का आटा व सौंठ का चूर्ण प्रत्येक ५० ग्राम,
★ देशी घी १५० ग्राम.
★ मिश्री ६५० ग्राम |
★ प्रक्षेप द्रव्य – पीपर, सौंठ, पीपरामूल, चित्रक, जीरा, धनिया, अजवायन, कलौंजी, सौंफ, जायफल, दालचीनी, तेजपत्र एवं नागरमोथ प्रत्येक का चूर्ण १० – १० ग्राम व कलि मिर्च का चूर्ण १५ ग्राम |

विधि :

★ मिश्री की एक तार की चाशनी बना लें |
★ सौंठ को घी में धीमी आँच पर सेंक लें | जब उसका रंग सुनहरा लाल हो जाय, तब मेथी का आटा व चाशनी मिलाकर अच्छे से हिलायें |
★ नीचे उतारकर प्रक्षेप द्रव्य मिला दे |

सेवन-विधि :

१५-२० ग्राम पाक सुबह गुनगुने पानी के साथ ले |

सूचना : जोड़ों के दर्द में दही, टमाटर आदि खट्टे पदार्थ, आलू, राजमा, उडद, मटर व तले हए, पचने में भारी पदार्थ न खाये |

विशेष : १) जोडो के दर्द की दवा – च्युताय हरिओम संधिशूलहर योग चूर्ण(Achyutaya Hariom Sandhishulhar Churna)
इससे जोड़ो व कमर का दर्द ठीक होता है ।हड्डियाँ व नसे मजबूत बनती है । गठिया,मधुमेह,सायटिका (sciatica)व मोटापे आदि में लाभदायी ।

२) जोड़ों के दर्द के लिए उत्तम तेल –अच्युताय हरिओम स्पेशल मालिश तेल (Achyutaya Hariom Special Malish Tel)
जोड़ों का दर्द ,अंदरुनी चोट ,मुढमार,पैर मे मोच आना आदि में हल्के हाथ से मालिश करके गरम कपडे से सेंकने पर शीघ्र लाभ होता है।

प्राप्ति-स्थान : सभी संत श्री आशारामजी आश्रमों( Sant Shri Asaram Bapu Ji Ashram ) व श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र से इसे प्राप्त किया जा सकता है

2018-01-15T12:40:27+00:00 By |Ahar-vihar, Disease diagnostics|0 Comments