सर्दियों में त्वचा को फटने व रूखेपन से बचाने के 12 घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे | Winter Skin Care Tips

Home » Blog » Disease diagnostics » सर्दियों में त्वचा को फटने व रूखेपन से बचाने के 12 घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे | Winter Skin Care Tips

सर्दियों में त्वचा को फटने व रूखेपन से बचाने के 12 घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे | Winter Skin Care Tips

अत्यधिक ठंड के मौसम में त्वचा सूखी और बेजान हो जाती है। आपको इसकी उचित देखभाल करनी चाहिए ताकि अपकी एड़ी में दरार ना पड़े और आपकी त्वचा अस्वस्थ ना हो।

ठंड में रूखी फटी त्वचा का घरेलू इलाज : Sardi Mai Hath Pairon Ka Fatna

1. सरसों का तेल : सर्दियों में त्वचा को फटने से बचाने के लिए, रोज हाथों, पैरों, एड़ियों की त्वचा को प्यूमिक स्टोन से रगड़कर धायें। फिर सरसों के तेल से मालिश करें। इससे त्वचा में माॅश्चराइज की कमी नहीं होती है। हाथ, पैर, एड़ियां फटने की समस्या से आसानी से बच जा सकता है।

2. कीकर : फटी एड़ी या हाथ की झाईयों में कीकर की पिसी हुई गोली का सेवन करने से लाभ होता है।

3. अलसी का तेल : 50 मिलीलीटर अलसी का तेल गर्म करके इसमें 5 ग्राम देसी मोम और लगभग 3 ग्राम कपूर को डालकर फटे हुए हाथ और पैरों पर लगाने से आराम आता है।

4. हल्दी : कच्चे दूध में पिसी हुई हल्दी मिलाकर त्वचा पर मलने से त्वचा मुलायम होती है। इससे हाथ-पैर भी नहीं फटते हैं और यदि फट भी गये हो तो उनमें हल्दी भर देने से लाभ होता है।

5. जामुन : टाईट, नया जूता पहनने या ज्यादा चलने से पैरों में छाले और घाव बन जाते हैं। ऐसे में जामुन की गुठली पानी में घिसकर दिन में 2-3 बार लगाने से लाभ होता है।

6. काजू : काजू का तेल चमड़ी के बाहरी भाग पर स्थित मस्सों पर लगाने से लाभ पहुंचता है। पैर फटकर दरारे पड़ गई हो तो काजू के तेल की मालिश करनी चाहिए।

7. पीपल : पीपल के पत्तों का रस या दूध फटे हुए हाथ और पैरों पर लगाने से लाभ होता है।

8. सीप भस्म : 10 ग्राम की मात्रा में सीप भस्म (सीप की राख) को गाय के घी मे मिलाकर हाथ-पैरों के फटने पर लगाने से रोगी को आराम मिलता है।

9. मैनफल : 140 ग्राम भैंस के ताजे मक्खन को गर्म करके उसमें 11 ग्राम मैनफल चूर्ण और सेंधानमक को बराबर मात्रा में मिलाकर रख लें। इसे लगातार 7 दिनों त्वचा पर लगाने से जलन शान्त होती है और फटे हुए पैर मुलायम हो जाते हैं।

10.गुलाबजल :हाथों, पैरों, एड़ियों पर ग्लिसरीन और गुलाबजल मिलाकर मालिश करें। ग्लसरीन और गुलाबजल मालिश काफी हद तक हाथ पैर, एड़ियां फटने से बचाने में सहायक है।

11. नारियल पानी : हाथ पैर एड़ियां फटने पर नारियल पानी और शहद का मिश्रण 15-20 मिनट तक लगायें। फिर गुनगुने पानी से धो लें। नारियल पानी और शहद मिश्रण फटी त्वचा को जल्दी ठीक करने में सहायक है।

12. एलोवेरा या घृतकुमारी जेल : अच्युताय हरिओम एलोवेरा जेल(Achyutaya Hariom AloeVera Gel)यह जेल सर्दियों में आपकी त्वचा के लिए अच्छा है। स्नान करने के बाद अपने चेहरे, हाथों और शरीर पर इस जेल का प्रयोग करें। यह जेल आपकी त्वचा को नरम और सुनम्य रखता है और त्वचा को अशुद्धता से दूर रखता है।

प्राप्ति-स्थान : सभी संत श्री आशारामजी आश्रमों( Sant Shri Asaram Bapu Ji Ashram ) व श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र से इसे प्राप्त किया जा सकता है |