शकरकंद के लाजवाब फायदे गुण उपयोग और नुकसान | Shakarkandi ke Fayde aur Nuksan

Home » Blog » Herbs » शकरकंद के लाजवाब फायदे गुण उपयोग और नुकसान | Shakarkandi ke Fayde aur Nuksan

शकरकंद के लाजवाब फायदे गुण उपयोग और नुकसान | Shakarkandi ke Fayde aur Nuksan

शकरकंद क्या है : shakarkandi in hindi

सर्दियां शुरू होते ही बाजार में तरहतरह की सब्जियां, फल और कंदमूल आने लगते हैं। सर्दियों से बचाव के लिए लोग कई तरह के उपाय करते हैं, इन में गरम कपड़ों से ले कर खानेपीने की चीजें भी हैं। अमीर तो जो चाहे वह खरीद कर खा सकते हैं, लेकिन गरीबों को अपने बजट के हिसाब से खर्च करना पड़ता है। हम आप को बता रहे हैं, ऐसी ही एक चीज जिसे गरीब भी आसानी से खरीद कर खा सकते हैं और सर्दियों में अपने शरीर को गरम रख सकते हैं।

हम बात कर रहे हैं शकरकंद की, जिसे स्वीट पोटैटो भी कहा जाता है। यह ऊर्जा का खजाना है। अकसर लोग इसे आलू से जोड़ कर देखते हैं, लेकिन पोषक तत्त्वों और सेहत के लिहाज से इस के कई फायदे हैं। शकरकंद खाने में मजेदार तो होता ही है, साथ ही काफी फायदेमंद भी है।

शकरकंद का इस्तेमाल सर्दियों में बहुत मुफीद होता है। सर्दियों में कंदमूल ज्यादा फायदेमंद रहते हैं, क्योंकि ये शरीर को गरम रखते हैं। इसलिए सर्दी के मौसम में शकरकंद खाना सेहत के लिए फायदेमंद है।

शकरकंद के गुण और उपयोग :

shakarkandi benefits in hindi शकरकन्द को व्रत (उपवास) में फलाहार व साग के रूप में सेवन किया जाता है। शकरकन्द खून को बढ़ाता है। शरीर को मोटा करता है तथा वीर्यशक्ति को भी बढ़ाता है। शकरकन्दी को आग की भट्टी में सेंककर खानें से वह और अधिक मधुर (मीठी) लगती है। इसको शक्कर के साथ खाने से अधिक लाभ होता है। बैंगन और शकरकन्द का साग स्वादिष्ट बनता है। शकरकन्द के साग में बैंगन मिलाने से इसका वायुकारक और गरिष्ठता का दोष कम हो जाता है।
शकरकन्द को सुखाकर बनाया हुआ आटा व्रत में लाभदायक होता है। शकरकन्द को उबालकर, दूध में मसलकर सेवन किया जा सकता है। शकरकन्द के पत्ते बहुत पौष्टिक माने जाते हैं। इसके कोमल पत्तों की सब्जी भी बनाई जाती है। शकरकन्द से सिरप-सिरका, आटा, स्टार्च, औद्योगिक उपयोगार्थ, अल्कोहल, पेक्टिन आदि कई वस्तुऐं बनती है।

वैज्ञानिकों के अनुसार शकरकंद में पोषक तत्व : sweet potato nutrition in hindi

शकरकन्द में 16 प्रतिशत स्टार्च और 4 प्रतिशत शर्करा होती है, अर्थात् शकरकन्द के 20 प्रतिशत भाग से अल्कोहल बन सकता है। शकरकन्द में विटामिन `ए´, कैल्सियम, फॉस्फोरस, सोडियम, पोटाशियम, लौह और अल्पमात्रा में विटामिन `सी´ होता है। आलु की तुलना में शकरकन्द में कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम और विटामिन `ए´ के तत्त्व ज्यादा मात्रा में होते हैं। कुछ चीजों में शकरकन्द आलू से अधिक लाभकारी होता है।आइये जाने shakarkandi ke fayde hindi me,

शकरकंद के फायदे : sweet potato benefits in hindi

1- हड्डियों की मजबूती
शकरकंद विटामिन ‘डी’ का एक अच्छा सोर्स है। यह दांतों, हड्डियों, त्वचा और नसों की बढ़ोतरी और मजबूती के लिए जरूरी है। शकरकंद विटामिन ‘ए’ का भी काफी अच्छा माध्यम है। इस के इस्तेमाल से शरीर की 90 फीसदी तक विटामिन ‘ए’ की पूर्ति होती है।
( और पढ़ेहड्डियों की मजबूती के लिए घरेलू नुस्खे)

2-आयरन का अच्छा श्रोत
शकरकंद में भरपूर आयरन होता है। आयरन की कमी से हमारे शरीर में ऐनर्जी नहीं रहती, रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है और ब्लड सेल्स का निर्माण भी ठीक से नहीं होता। शकरकंद आयरन की कमी को दूर करने में मददगार रहता है।

3-किडनी के लिए लाभदायक
शकरकंद पोटैशियम का अच्छा स्रोत है। यह नर्वस सिस्टम की सक्रियता को सही बनाए रखने के लिए जरूरी है। साथ ही किडनी को भी स्वस्थ रखने में। यह खास योगदान देता है।
( और पढ़ेकिडनी रोग का इलाज व घरेलू उपचार)

4-प्रदर रोग को दूर करने वाला
✦शकरकन्द और जिमीकन्द बराबर मात्रा में लेकर छाया में सुखा लें। और इसको पीसकर बारीक चूर्ण बना लें। इसे 5-6 ग्राम तक ताजे पानी के और बकरी के दूध के या अशोका की छाल के काढे़ में शहद मिलाकर कर सेवन करने से सभी प्रकार के प्रदर में लाभ होता है।
✦शकरकन्द का छाया में सुखाया हुआ बारीक चूर्ण 3-5 ग्राम की मात्रा में गर्म दूध के साथ सेवन करने से प्रदर रोग में लाभ मिलता है।
( और पढ़ेश्वेत प्रदर लिकोरिया का रामबाण इलाज)

5-खून बढ़ाने वाला
✦रोजाना शकरकंदी खाने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ जाती है और शरीर मोटा-ताजा बनता है।
( और पढ़ेखून की कमी को दुर कर तेजी से खून बढ़ाते है यह 50 घरेलु उपाय)

6-बल वर्धक
✦शकरकंदी का सेवन करने से बलवीर्य शक्ति बढ़ जाती है।
✦शकरकंदी को चीनी के साथ खाना ज्यादा उपयोगी होता है।

7-सुन्दरता बढ़ाने
शकरकंद में आयरन, फोलेट, कौपर, मैगनीशियम, विटामिन्स आदि होते हैं। इसे खाने से त्वचा में चमक आती है और चेहरे पर जल्दी झुर्रियां नहीं पड़तीं। इस में मौजूद विटामिन ‘सी’ त्वचा में कोलाजिन का निर्माण करता है जिस से आप हमेशा जवान और खूबसूरत दिखते हैं।
( और पढ़ेकुदरती देखभाल से निखरे रूप व सौंदर्य )

8-खून बढ़ाने वाला
शकरकंद डायट्री फाइबर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर है। शकरकंद खाने में मीठा होता है। इस के इस्तेमाल से खून बढ़ता है, शरीर मोटा होता है साथ ही यह कामशक्ति को भी बढ़ाता है। नारंगी रंग के शकरकंद में विटामिन ‘ए’ सही मात्रा में होता है। शकरकंद में कैरोटीनौयड नामक तत्त्व पाया जाता है जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है।

9-ब्लड शुगर कंट्रोल
अगर आप का ब्लड शुगर लैवल कुछ भी खाने से तुरंत बढ़ जाता है तो शकरकंद खाना ज्यादा अच्छा है। इसे खाने से ब्लड शुगर हमेशा कंट्रोल रहता है और इंसुलिन बढ़ने नहीं देता।

10-संतुलित आहार
शकरकंद में कैलोरी और स्टार्च की सामान्य मात्रा होती है। वहीं, सैचुरेटेड फैट और कोलेस्ट्रोल की मात्रा इस में न के बराबर रहती है। इस में फाइबर, एंटीऔक्सीडेंट्स, विटामिन और लवण भरपूर होते हैं।

11-विटामिन बी6 से भरपूर
शकरकंद में भरपूर मात्रा में विटामिन बी6′ पाया जाता है, जो शरीर में होमोसिस्टीन नाम के अमीनो एसिड के स्तर को कम करने में सहायक होता है। इस अमीनो एसिड की मात्रा बढ़ने पर बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है । आइये जाने shakarkandi khane ke nuksan के बारे में ।

शकरकंद के नुकसान : sweet potato side effects in hindi

✦ अधिक मात्रा में इसका सेवन आपका वजन बढ़ा सकता है ।
✦ जिन्हें पेट में वायु की परेशानी है उन्हें इसका सेवन उचित मात्रा में ही करना चाहिये ।

शकरकंद खाने के फायदे और नुकसान का यह लेख आपको कैसा लगा हमे जरुर बतायें । अगर आपके पास भी shakarkandi ke gun या shakarkandi ke nuksan से संबंधित कोई उपयोगी जानकारी हो तो हमारे साथ भी शेयर जरुर करें ।

2018-12-01T12:02:53+00:00 By |Herbs|0 Comments