पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

शक्तिवर्धक कुछ खास प्रयोग जो दिमाग व शरीर को बनाते है मजबूत

Home » Blog » Health Tips » शक्तिवर्धक कुछ खास प्रयोग जो दिमाग व शरीर को बनाते है मजबूत

शक्तिवर्धक कुछ खास प्रयोग जो दिमाग व शरीर को बनाते है मजबूत

विद्यार्थियों के लिये बुद्धि वर्धक (buddhi vardhak) योग :

★ २५० ग्राम बबूल की गोंद घी में सेंककर बारीक पीस लें |
★ इसमें बराबर मात्रा में पिसी हुई मिश्री मिला लें |
★ १२५ ग्राम बीज निकाले हुए मुनक्के और ५०० ग्राम छिलके उतारे हुए भिगोये बादाम कूट के इसमें मिला लें |

सुबह १ चम्मच (१० – १५ ग्राम) मिश्रण खूब चबा – चबाकर खायें | साथ में एक गिलास मिश्री डालकर दूध घूँट – घूँट पियें | इसके बाद २ घंटे तक कुछ नहीं खायें | जब खूब अच्छी भूख लगे, तभी भोजन करें | यह लोग हड्डियों की मजबूती के साथ ही दिमागी ताकत और तरावट के लिए भी बहुत गुणकारी है | बौद्धिक कार्य करनेवालों व विद्यार्थियों के लिए यह योग विशेष लाभकारी है |

 

इसे भी पढ़े : क्या आप बलवान एवं तेजस्वी बनना चाहते हैं ? अगर हाँ तो यह लेख आपको जरुर पढ़ना चाहिये |

 

शक्तिवर्धक (shakti vardhak)पुष्टिकारक खीर :

★ २ छोटे चम्मच सिंघाड़े का आटा, २ चम्मच घी व स्वादानुसार मिश्री लें |
★ सिंघाड़े के आटे को मंद आँच पर लाल होने तक भुनें | जब अच्छी तरह भुन जाय,
★ तब ३०० मि. ली. दूध डालकर पकायें |
★ तैयार होने पर मिश्री, इलायची मिला लें |

यह स्वादिष्ट तथा पौष्टिक खीर है | यह प्रयोग गर्भिणी व प्रसूता माताओं के लिए विशेष लाभदायी है |

बल्य और पुष्टिकारक प्रयोग :

★ पके हुए १ केले का गूदा, १ चम्मच शहद व थोड़ी – सी मिश्री एक साथ घोंट लें
★ और १ चम्मच आँवले का रस मिलाकर खायें |

इससे वीर्यस्त्राव तथा वीर्य-विकार में लाभ होता है | बल बढ़ता(Bal vardhak) है व वीर्य गाढ़ा होता है |

ध्यान दें : प्रयोगों में दिये गये द्रव्यों की मात्रा अपनी पाचनशक्ति के अनुसार लें | इन दिनों भोजन सुपाच्य व खुलकर भूख लगने पर ही करें | दूध के सेवन के बाद २ घंटे तक कुछ न लें |
स्त्रोत – ऋषिप्रसाद – जनवरी २०१६ से

keywords – बल वर्धक (Bal vardhak) ,shakti vardhak ,shakti vardhak seeds , shakti vardhak capsules ,shakti vardhak capsule price, shakti vardhak gharelu nuskhe , shakti vardhak powder , shakti vardhak yantra ,shakti vardhak churna ,शक्ति वर्धक , घरेलू उपचार ,taakat ke liye kya khaye ,mardana taqat badhane ke liye hindi , jismani taqat ke liye , sarir me takat badhane ke upay, kamjori dur karne ke liye kya kare ,mardana taqat ki anmool dawa ,takat badhane ke liye kya khana chahiye ,ताकत बढ़ाने ,दिमाग की ताकत , शरीर की कमजोरी कैसे दूर करे ,
2017-06-05T08:50:52+00:00 By |Health Tips|0 Comments

Leave a Reply