पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

भोजन के बाद छह खतरनाक आदतों से बचें

Home » Blog » Ahar-vihar » भोजन के बाद छह खतरनाक आदतों से बचें

भोजन के बाद छह खतरनाक आदतों से बचें

१) *धुम्रपान-

विशेषज्ञों द्वारा किये शोध से ये
साबित हुआ है की खाना खाने के
तुरंत बाद सिगरेट या अन्य धुम्रपान
करने से शरीर को हानि होती है.

२)*तुरंत फल ना खायें-

खाने के बाद फल तत्काल खाने से स्टमक में हवा भर
जाती है.जो उसे ब्लाक भी कर
सकती है.

३)*चाय ना पीयें-

चाय की पत्ती से
हाई एसिड बनता है.जो प्रोटिन के
साथ मिल कर शरीर की पाचन
क्षमता को कम करता है.

४)*बेल्ट ढीली ना करें-

खाने के तुरंत
बाद बेल्ट ढीला करने से इन्टेस्टाइन
में मरोड आ जाती है और वो अवरूद्व
हो जाता है.

५)*स्नान से बचें-

भोजन के बाद स्नान
करने से रक्त प्रवाह में
वृधि हो जाती है.जिसके कारण
हमारे हाथ पैर में रक्त का संचार
अवरूद्व हो जाता है.जिससे
हमारा डाइजेस्टीव सिस्टम कमजोर हो जाता है.

६)*सोना मना है-

तत्काल खाने के बाद
सोना हमारे शरीर के लिए
हानिकारक होता है .जिससे
की एसिडिट और गैस्टीक होने से
पाचन गंथि में इन्फैक्सन

2017-01-24T13:31:25+00:00 By |Ahar-vihar, Health Tips|0 Comments

Leave a Reply