पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

बुद्धि व स्मरणशक्ति बडाने वाला एक चमत्कारिक प्रयोग | Smaran Shakti Badhane ka upay

Home » Blog » Mantra Vigyan » बुद्धि व स्मरणशक्ति बडाने वाला एक चमत्कारिक प्रयोग | Smaran Shakti Badhane ka upay

बुद्धि व स्मरणशक्ति बडाने वाला एक चमत्कारिक प्रयोग | Smaran Shakti Badhane ka upay

स्मरणशक्ति विकसित करने के लिए :smaran shakti badhane ke nuskhe

बुद्धू से बुद्धू हो ये मंत्र जप करें तो बुद्धि विकसित होगी | अगर काले तिल और चावल मिलाकर १० माला आहुति देकर मंत्र करें तो ३ दिन में तो तुम्हारी क्या-क्या योग्यता विकसित होगी |

बुद्धि बढ़ाने का मंत्र :smaran shakti badhane ka mantra

ॐ गं गणपतये नम: |

१ माला रोज जप करें | ४० दिन के बाद उसके बुद्धि में परिवर्तन होके ही रहेगा | १ माला रोज करें विद्यार्थी परीक्षा में अच्छे मार्क लायेगा | व्यापारी निर्णय अच्छे करेगा, ऑफिसर निर्णय अच्छे करेगा | जो शरीर का सार तत्त्व है, वो ज्ञानतंत्र में मंत्र के प्रभाव से, इष्ट के प्रभाव से जागेगा, बुद्धि का विकास होगा |

इसे भी पढ़े :यादशक्ति बढ़ा कर दिमाग को तेज करते है यह 42 आयुर्वेदिक नुस्खे

श्रोत – ऋषि प्रसाद मासिक पत्रिका (Sant Shri Asaram Bapu ji Ashram)

मुफ्त हिंदी PDF डाउनलोड करें Free Hindi PDF Download

Summary
Review Date
Reviewed Item
बुद्धि व स्मरणशक्ति बडाने वाला एक चमत्कारिक प्रयोग | Smaran Shakti Badhane ka upay
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Reply