पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेश धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।। हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।" "ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।" पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

भोजन करते समय बैठने की सही विधि का ज्ञान क्या आपको है ..? | What is better position while eating?

Home » Blog » Health Tips » भोजन करते समय बैठने की सही विधि का ज्ञान क्या आपको है ..? | What is better position while eating?

भोजन करते समय बैठने की सही विधि का ज्ञान क्या आपको है ..? | What is better position while eating?

हम टेबल पर खाना खाने सीधे बैठते हैं तो पैर नीचे होते हैं, जिससे पाचन तंत्र पर और किडनी पर तनाव पड़ता है, इससे गैस की और वायु की तकलीफें बढ़ती हैं l कुर्सी पर बैठ कर भोजन करने की अपेक्षा पलथी मार कर भोजन करना पाचन तंत्र को मजबूत करना है , तनाव से बचना है , गैस की तकलीफ , लीवर की तकलीफ में राहत मिलता है l अगर किसी के साथ बैठना ही पड़ता है टेबल पर तो कुर्सी पर भी पलथी मार के बैठें |

पूज्य बापूजी – चंडीगढ़ – 21 Sep.2011

2017-03-09T13:53:44+00:00 By |Health Tips|0 Comments

Leave a Reply