पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेश धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।। हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।" "ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।" पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

निखरी त्वचा पाने के सबसे असरकारक 15 घरेलु नुस्खे | How to Get Clear Skin at Home

Home » Blog » Disease diagnostics » निखरी त्वचा पाने के सबसे असरकारक 15 घरेलु नुस्खे | How to Get Clear Skin at Home

निखरी त्वचा पाने के सबसे असरकारक 15 घरेलु नुस्खे | How to Get Clear Skin at Home

उम्र के हर पड़ाव में सुन्‍दर व आकर्षक दिखने की चाह हर कोई रखता हैं। हर किसी की ख्वाहिश होती है, उसकी त्वचा खूबसूरत और चमकदार बने । लेकिन आजकल धूल-मिट्टी और प्रदूषण में यह कहां संभव हो पाता है। ऐसे में आपको त्वचा का खास खयाल रखना पड़ता है जिससे त्वचा की प्राकृतिक चमक बनी रहे। अगर आप भी त्‍वचा में जल्‍द निखार लाना चाहती हैं, तो यहां दिये उपाय की मदद से आप त्वचा में निखार ला सकते हैं।

आइये जाने त्वचा में निखार (twacha me nikhar) लाने वाले आयुर्वेदिक घरेलू उपाय(gharelu nuskhe)

Effective Home Remedies For Glowing Skin in hindi

त्वचा की कान्ति :

पहला प्रयोगः नींबू का रस एवं छाछ समान मात्रा में मिलाकर लगाने से धूप के कारण काला हुआ चेहरा निखर उठता है।

दूसरा प्रयोगः राई के तेल में चने का आटा और हल्दी मिलाकर लगाने से त्वचा कान्तियुक्त होती है।

तीसरा प्रयोगः मक्खन एवं हल्दी का मिश्रण करके रात्रि को सोते समय मुँह पर लगाने से मुँह कान्तिवान एवं निरोगी होता है।

चौथा प्रयोगः चेहरे पर झुर्रियाँ हों तो दो चम्मच ग्लिसरीन में आधा चम्मच गुलाब जल एवं नींबू के रस की बूँदें मिलाकर मुँह पर रात्रि को लगायें। सुबह उठकर ठण्डे पानी से मुँह धो डालें। त्वचा का रंग निखरकर झुर्रियाँ कम हो जायेंगी।

पाँचवाँ प्रयोगः तुलसी के पत्तों को पीसकर लुगदी बनाकर मुँह पर लगाने से मुँहासों के दाग धीरे-धीरे दूर हो जाते हैं।

छठा प्रयोगः एक कप दूध को उबालें। जब दूध गाढ़ा हो जाये तब उसे नीचे उतार लें। उसमें एक नींबू निचोड़ दें तथा हिलाते रहें जिससे दूध व नींबू का रस एकरस हो जाय। फिर ठण्डा होने के लिए रख दें। रात को सोते समय इसे चेहरे पर लगाकर मसलें। चाहें तो एक-डेढ़ घण्टे के अन्दर चेहरा धो सकते हैं या रात भर ऐसे ही रहने दें। सुबह में चेहरा धो लें। इस प्रयोग से मुँहासे ठीक होते हैं। चेहरे की त्वचा कान्तिमय बनती है।

सातवा प्रयोग : शहद और चीनी का स्क्रब – चेहरे पर निखार लाने के लिए सबसे पहले मृत त्वचा (dead skin cells) को निकालना ज़रूरी होता है।
विधि:
एक कटोरी में ज़रूरत के अनुसार शहद और चीनी डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इस मिश्रण को अपने चेहरे और गले पर लगाकर धीरे-धीरे रगड़े। उसके बाद पानी से चेहरे को धो लें। इस पैक का इस्तेमाल हफ़्ते में एक बार ज़रूर करें।

आठवां प्रयोग : त्वचा में निखार लाने के लिए थोड़े-से चोकर में एक चम्मच संतरे का रस, एक चम्मच शहद व गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर लगाएं। सूखने पर धो डालें।

त्वचा की ताजगी :

पहला प्रयोगः दूध एवं अरण्डी का तेल समान मात्रा में मिलाकर शरीर पर मालिश करने से त्वचा चमकदार होती है।

दूसरा प्रयोगः जौ के आटे को दही में मिलाकर पेस्ट बनाकर चेहरे एवं गले पर लगायें। 15 मिनट बाद गर्म पानी से साफ कर दें। इससे त्वचा में सफेदी आती है तथा त्वचा मुलायम हो जाती है।

शुष्क त्वचा( dry skin) :

पहला प्रयोगः हाथ-पैर की त्वचा फटने पर बड़ का दूध लगाने से शीघ्र आराम होता है।

दूसरा प्रयोगः आँवले के तेल में नींबू का रस समान मात्रा में मिलाकर लगाने से त्वचा की रूक्षता, झुर्रियाँ एवं कालापन मिटता है।

तीसरा प्रयोगः तेल मालिश के साथ सुबह 1 से 2 ग्राम तुलसी की जड़ तथा उतने ही सोंठ के चूर्ण को गर्म पानी के साथ निरंतर सेवन करते रहने से कोढ़ जैसे भयंकर रोग भी दूर होते हैं। यह प्रयोग त्वचा की रूक्षता(susk twacha) एवं फटने के रोग को दूर करता है।

चौथा प्रयोग : नारियल के तेल में शहद और संतरे का रस मिला लें और इसे रुखी, फटी हुई त्वचा पर लगाएं। इस मिश्रण के सूखने के बाद गुनगुने पानी से धो लें और हल्के हाथ से पोंछकर नारियल का तेल या कोई और मॉइश्चराइर लगा लें।

तैलीय त्वचा (teliye twacha,oily skin) से पाएं छुटकारा :

पहला प्रयोगः एक चम्मच नींबू का रस में एक चम्मच गुलाब जल और पिसा हुआ पुदीना मिलाकर 1 घंटे रखें। फिर चेहरे पर लगाकर 20 मिनट बाद धो लें। इससे चेहरे का चिपचिपापन दूर हो जाएगा।

विशेष : अच्युताय हरिओम अलोवेरा जेल व “अच्युताय हरिओम गुलाब महक” के प्रयोग से त्‍वचा में जल्‍द निखार लाया जा सकता है

Leave a Reply