पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

शुक्राणु या वीर्य की वृद्धि(Sperm)

Home » Blog » Disease diagnostics » शुक्राणु या वीर्य की वृद्धि(Sperm)

वीर्य को गाढ़ा व पुष्ट करने के आयुर्वेदिक उपाय | Virya Gada karne ke Ayurvedic Upay

2017-07-29T09:44:13+00:00 By |Disease diagnostics, Health Tips, शुक्राणु या वीर्य की वृद्धि(Sperm)|

वीर्य को गाढ़ा करने के उपाय और घरेलु नुस्खे : virya badhane ke upay in hindi वीर्य (virya)इस शरीररूपी [...]

वीर्य की कमी को दूर करेंगे यह रामबाण प्रयोग | Home Remedies to Increase Sperm Count

2017-04-04T11:57:45+00:00 By |Disease diagnostics, शुक्राणु या वीर्य की वृद्धि(Sperm)|

वीर्य एक जैविक तरल पदार्थ है, जिसे धातु के नाम से भी जाना जाता है। यह बहोत से शुक्राणुओं के [...]