आंवले के 8 जायकेदार स्वास्थ्य वर्धक व्यंजन – Amla Healthy Recipes in Hindi

आंवला कोई आम फल नहीं है, यह तो एक औषधीय फल है। यह अनगणित अरोग्य लाभों से परिपूर्ण है। इसमें कई स्वास्थ लाभदायक पोषक तत्वों एवं खनिज पदार्थ मिश्रित हैं। आंवला विटामिन सी का प्रचुर स्रोत है। इसके अतिरिक्त यह बहुमुल्य फल कैल्शियम, लोहा, फास्फोरस , पोटेशियम , जिंक , कैरोटीन, प्रोटीन , विटामिन ए , ई और बी कॉम्प्लेक्स , फोलेट , सोडियम, संतृप्त वसा, फाइबर आहार एवं और भी बहुत सारे पोषक तत्वों से भरपूर है। यह उत्कृष्ट फल बड़ी ही सहजता से प्रकृति की गोद में मिल सकता है और शरीर को रोग-मुक्त एवम् स्वस्थ रखने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

आज हम आपको बतायेंगे आंवले से अचार ,मुरब्बा ,शर्बत, जूस आदि अन्य स्वास्थ्य वर्धक उत्पाद बनाने की विधि और साथ ही साथ यह भी की कैसे आप आंवले को अमचूर इमली आदि को आंवले से रिप्लेस कर सकते है जो आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होगा | ध्यान रखे कि आँवले के सभी उत्पाद समय के साथ साथ गहरे भूरे रंग के होते जाते हैं। यह आंवला में उपस्थित कुछ रसायनों के कारण होता है जो हानिकारक नहीं है। अत: इसे (खराब समझ कर फेंकना नहीं चाहिए। सिर्फ ध्यान यह रखना है कि इसमें किसी भी प्रकार की फफूंद न लगे व खाने में अच्छी खुशबू व स्वाद बना रहे।

आंवले का मुराब्बा, जैम,आचार,जूस,कैंडी,हेल्थ ड्रिंक बनाने की विधि (Best Amla Healthy Recipes in Hindi )

1) आंवला कैंडी / मीठा आंवला : Amla Candy / Amla Candy Recipe in Hindi

आवला कैंडी लंबे समय तक ख़राब नहीं होती।आंवले के सीजन में इस बार ये विधि जानकर आँवला कैंडी अवश्य बनायें और अपने परिवार के लोगों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर उन्हेंछोटी मोटी बीमारियों से बचाएं। सीखें आंवला कैंडी बनाना —

आंवला कैंडी बनाने की सामग्री – Anvla candy Samagri

सामग्री :

  1. आंवला – 1 किलो,
  2. शक्कर -700 ग्राम,
  3. पिसी शक्कर पाउडर – 50 ग्राम,
  4. पानी,
amla candy Recipe

आंवला कैंडी बनाने की विधि – Anvla Candy Vidhi

  • आंवले को अच्छे से धोकर पोंछ लें।
  • इन्हे दो मिनट के लिए उबलते पानी में डालकर निकाल लें।
  • पानी निथर जाने दें ।
  • चाकू की सहायता से आंवले की फांकें अलग कर लें , गुठली निकाल कर फेंक दें।
  • आंवले की इन फांको को एक बर्तन में रखकर ऊपर से शक्कर डाल दें।
  • किसी पतले कपडे से ढक दें।
  • इसे एक दिन के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • अगले दिन आप देखेंगे चीनी गल चुकी है और आंवले की फांके तैर रही होंगी।
  • इसे थोड़ा हिला लें।
  • इन्हे तीन चार दिन तक ऐसे ही और छोड़ दें।
  • जब आंवले की फांकें नीचे बैठ जाएँ तब आंवले की फांके अलग कर लें।
  • बची हुई चाशनी का शर्बत बना कर काम में लें।
  • आंवले की फांकों को धूप में दो दिन रखकर सूखा लें।
  • अब इन पर पिसी हुई शक्कर पाउडर बुरक कर थोड़ा मिक्स कर दें।

आंवला कैंडी तैयार है। इन्हें किसी डब्बे में भरकर रखें। इनका लम्बे समय तक कुछ नहीं बिगड़ता। दो फांक रोजाना खाएं विटामिन C की इस
खुराक से खुद को चुस्त रखें। खुद भी खाएं दूसरों को भी खिलाएं।
बची चाशनी का शरबत बनाने के लिए चाशनी को पकाकर एक तार की बना ले व ठंडा होने पर बोतल में भरे।

2) आंवला मुरब्बा बनाने की विधि : Amla Murabba Recipe in Hindi

Amla murabba Recipe

सबसे पहले ऑवलों को पानी या भाप में उबालकर इसकी फाँकें (Slices) कर लें,

आंवला मुरब्बा बनाने के लिए सामग्री –

  • आपको चाहिए एक किलो आँवले की फाँकें,
  • चीनी एक किलो,
  • पानी आधा लीटर ।

विधि :-

  • एक किलो चीनी के तीन भाग कर लें। एक भाग चीनी पानी में उबालें। जब पानी में चीनी पूरी तरह से घुल जाये तब इसे कपड़े से छानकर पुन: उबालें।
  • फिर इसमें ऑवलों की फाँकों को डालकर दुबारा उबाल आने तक पकायें। आंच बन्द कर ठण्डा होने दें और किसी जाली से ढककर रात भर छोड़ दें।
  • अगले दिन फाँकों को अलग कर चाशनी में दूसरा भाग चीनी मिलाकर सिर्फ एक उबाल दें। उबलने पर आंवला की फाँकें (जो चाशनी से अलग की थी) उबाल आने तक पकायें। आँच बन्द कर इन्हें स्वत: ठण्डा होने दें और जाली से ढककर रात भर छोड़ दें।
  • तीसरे दिन फॉकों को चाशनी से अलग कर खाली चाशनी में बचा तीसरा भाग चीनी मिलाकर एक उबाल दें। अब आंवला की चाशनी से अलग की हुई फाँकें डालकर पुन: उबालें और 5 मिनट तेज आंच पर एक तार की चाशनी बनने तक उबलने दें।
  • अब इसे हल्का गुनगुना होने पर काँच के जार में भरकर ढक्कन लगा दें। ये पाँच फाँकें प्रतिदिन खाने से एक आंवला खाने से अधिक लाभ होगा।

3) परिरक्षित आंवला जैम बनाने की विधि : Amla Jam Recipe in Hindi

आंवला जैम सामग्री-

पूरी तरह से पके हुए आँवले एक किलो, चीनी एक किलो, पानी 200 मिलीलीटर (लगभग 1 गिलास)।


विधि –

  • आंवला धोकर स्टील के बर्तन में पानी में हल्की आँच पर उबालकर गुठली निकाल लें। आंवलो को पीसकर या मिक्सी से मोटा पेस्ट बना लें।
  • इसमें चीनी मिलाकर गर्म करके चौड़े मुँह के जैम बोतल में गर्म ही भरकर ठण्डा होने तक बिना ढक्कन लगाकर रखें फ़इर ठंडा होने पर ढक्कन लगा दें ।
  • यह जैम तैयार हो गया। इसे ब्रेड, पराठे में लगाकर खायें। इस जैम की दो चम्मच एक गिलास पानी में घोलकर शर्बत के रूप में ले सकते हैं।
  • इस जैम की दो चम्मच में स्वादानुसार सेंधा नमक, कालीमिर्च, गर्म मसाला आदि मिलाकर चटनी के रूप में उपयोग कर सकते हैं।
  • इस चटनी को टमाटर सॉस के स्थान पर खायें। आपके स्वास्थ्य को ज्यादा लाभ मिलेगा |
  • इसी जैम को ठण्डे पानी में घोलकर जलजीरा डालकर शीतल पेय (कोल्ड ड्रिंक्स) के रूप में पियें। ब्रेड स्लाइस पर यह जैम लगाकर खीरा, टमाटर कसकर सैण्ड विच बनाकर खायें।

4) आंवला चूर्ण बनाने की विधि : Amla powder Recipe in Hindi

  • मोटे पके हुए विकसित आंवलो को उबलते पानी में 5 मिनट डालकर देखें कि इनकी फाँकें अलग होने जैसी हो गई हैं, यदि फॉकें अलग नहीं हों तो कुछ समय और उबलने दें, फिर निकालकर सादे पानी में 10 मिनट रखकर निकाल लें।
  • आंवलो की फॉकों को अलग करके धूप में सुखा दें। गुठलियों को फेंक दें। जब ये पूरी तरह सूख जाये तब इनको पीस लें।
  • आंवले का चूर्ण तैयार हो गया। यह चूर्ण आँवलों के जितना ही लाभदायक है।
  • आंवला पाउडर के फायदे और उपयोग– यह चूर्ण एक चम्मच सुबह-शाम लेने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और रोग निरोधक शक्ति बढ़ाता है।
  • आंवले के चूर्ण को दाल, चटनी, सब्जी आदि में खटाई के रूप में कम मात्रा में डाला जा सकता है।जो इमली, अमचूर आदि से स्वास्थ्य की द्रष्टि से कहीं ज्यादा बेहतर है |
  • गर्मी के दिनों में इसे ठण्डे पानी में इच्छानुसार मिलाकर कोल्ड ड्रिंक्स (शीतल पेय) की तरह पिया जा सकता है।
  • अधिक स्वादिष्ट पेय बनाने के लिए काला नमक व भुना-हुआ जीरा या जलजीरा मिलाकर लिया जा सकता है।

5) आंवले से शर्बत बनाने की विधि : Amla Juice and Sharbat Recipe in Hindi

सामग्री –

1 किलो चीनी, 20 चमम्च आंवलो का ताजा रस या पाउडर, 300 ml पानी ।


विधि –

  • चीनी, पानी और आंवला के रस को मिलाकर एक उबाल दें। स्टील के बर्तन में छानकर, ठण्डा कर खाली बोतलों में भरकर रखें।

6) आंवला की पाचक गोलियाँ बनाने की विधि : Amla pachak goli Recipe

सामग्री –

  • हरा ताजा आंवला 250 ग्राम,
  • भुना हुआ पिसा हुआ जीरा 2 चम्मच,
  • ताज़ा अदरक छिली हुई 15 ग्राम,
  • सेंधा नमक पिसा हुआ स्वादानुसार।


बनाने को विधि –

  • आंवलो को कपड़े में बाँधकर उबलते हुए पानी की भाप में पकायें। जब आँवले पक कर मुलायम हो जायें तो इन्हें ठंडा करके पीसें और गुठली को फेंक दें।
  • फिर इसमें सेंधा नमक, जीरा, अदरक मिलाकर पुन: पीस लें और गोलियाँ बनाकर सुखा लें।
  • उपयोग – आंवले की ये गोलियाँ Vitamin C का भंडार और पाचक (हाजमेदार) होती हैं।

7) आँवले का अचार बनाने की विधि ( बिना तेल वाला) : Amla Achar Recipe in Hindi

• एक किलो आँवला उबालकर गुठली निकालकर कस लें, बुरादा बना लें।
• 40 ग्राम सेंधा नमक, एक चाय चम्पच मोटा कुटा हुआ गर्म मसाला, चार छोटी चम्मच पिसी सौंफ, एक चम्मच भुना-पिसा जीरा, 5 चम्मच गन्ने या जामुन का सिरका।

विधि –

  • कसे हुए आंवलो पर सभी सामग्री डालकर, मिलाकर सूखे मर्तबान या जार में भरकर ढक्कन लगाकर 3 दिन तक धूप में रखें। बस आचार तैयार हो जायेगा |
  • यह बिना तेल का अचार पोषक गुणों से भरपूर होता है।

8) आंवला पाचक बनाने की विधि

  • आंवलो को उबलते पानी में 10 मिनट रखकर, उबालकर उसकी फांके अलग कर लें। अब इन फॉकों को थोड़ा सुखा लें।
  • अब इन पर थोड़ा नीबू का रस निचोड़कर मिलाकर फिर से सुखा लें।

2 thoughts on “आंवले के 8 जायकेदार स्वास्थ्य वर्धक व्यंजन – Amla Healthy Recipes in Hindi”

  1. नमस्कार Somesh joshi जी

    आंवला रस घर पर बनाने की विधि को आप इस विडियो के माध्यम से समझ सकते है |

    https://youtu.be/x40x9raMcJY

    धन्यवाद .
    हरिॐ

Leave a Comment