हम आरती क्यों करते है ?

hum-arti-kyu-karte-hai

जब भी कोई घर में भजन होता है, या कोई संत का आगमन होता है या पूजा पाठ के बाद हिंदू धर्म में दीपक को दायें से बाएँ तरफ़ वृताकार रूप से घुमा कर साथ …

Read more

हम नमस्ते क्यों करते है ?

hum-namste-kyu-karte-hai

शास्त्रों में पाँच प्रकार के अभिवादन बतलाये गए है जिन में से एक है “नमस्कारम”. नमस्कार को कई प्रकार से देखा और समझा जा सकता है. संस्कृत में इसे विच्छेद करे तो हम पाएंगे की …

Read more

पूजा का कमरा घर में क्यों होता है ?

pooja-ka-kamara-ghar-mein-kyun-hota-hai

घरो में पूजा के कमरे का अपना महत्त्व है. हर घर में पूजा का कमरा होता है जहाँ पर दीपक लगा कर भगवान की पूजा की जाती है, ध्यान लगाया जाता है या पाठ किया …

Read more

भगवान के सामने दीपक क्यों प्रज्वालित किया जाता है ?

bhagwan-ke-samane-deepak-kyun-jalate-hai

हर हिंदू के घर में भगवान के सामने दीपक प्रज्वालित किया जाता है. हर घर में आपको सुबह, या शाम को या फिर दोनों समय दीपक प्रज्वालित किया जाता है. कई जगह तो अविरल या …

Read more

ॐ का उच्चारण क्यों करते है ?

om

हिंदू धर्म में ॐ शब्द के उच्चारण को बहुत शुभ माना जाता है. प्रायः सभी मंत्र ॐ से शुरू होते है. ॐ शब्द का मन, चित्त, बुद्धि और हमारे आस पास के वातावरण पर सकारात्मक …

Read more

पुरुषोत्तम मास विशेष श्लोक

vishnu

पुरुषोत्तम मास में रोज़ एक बार एक श्लोक बोल सकें तो बहुत अच्छा है :- गोवर्धनधरं वन्दे गोपालं गोपरुपिणम | गोकुलोत्सवमीशानं गोविन्दं गोपिका प्रियं | | हे भगवान ! हे गिरिराज धर ! गोवर्धन को …

Read more

मास अनुसार सूर्य अर्घ्य मंत्र

arghya

विष्णु धर्मोत्तर ग्रंथ में लिखा है कि इन मंत्रो से सूर्य को अर्घ्य देकर प्रणाम करने वाले की विप्पतियाँ दूर होने में उसको मदद मिलती है | और भक्ति बढ़ाना चाहे, मेरी भक्ति बढे, मेरी …

Read more

दीपावलीः लक्ष्मीप्राप्ति की साधना

laxmi-poojan

दीपावली के दिन घर के मुख्य दरवाजे के दायीं और बायीं ओर गेहूँ की छोटी-छोटी ढेरी लगाकर उस पर दो दीपक जला दें। हो सके तो वे रात भर जलते रहें, इससे आपके घर में …

Read more

१०८ दिनों की साधना

meditation

सब तकलीफों का मूल है पाँच क्लेश है | अविद्या माना जो विद्यमान वस्तु नहीं है उसको विद्यमान दिखाये और जो विद्यमान है उसको ढक दे.. उसको अविद्या बोलते है, माया भी बोलते है | …

Read more

साधना रक्षा मंत्र

suraksha chakra

कृपा मातेश्वरी ! देवेश्वरी ! हे करुणामई ! तुम हमारे ह्रदय में सदा रहना.. कलयुग के दोषों से हमारी मधुमय साधना छूट न जाए | अगर साधना को विघ्न आता है तो  “ॐ नमो: सर्वार्थ …

Read more