सफेद दूध जैसी पेशाब (काइल्यूरिया) के कारण और उपचार

सफेद दूध जैसी पेशाब (काइल्यूरिया) : Chyluria in Hindi

गुर्दे में किसी तरह की गड़बड़ी के कारण पेशाब का रंग सफेद हो जाता है।

सफेद दूध जैसी पेशाब (काइल्यूरिया) के कारण :

गुर्दे की गड़बड़ी से जब पेशाब में फास्फेट की ज्यादा मात्रा में आने लगती है तो पेशाब का रंग सफेद हो जाता है।

सफेद दूध जैसी पेशाब (काइल्यूरिया) का विभिन्न आयुर्वेदिक औषधियों से इलाज : Chyluria ka Ilaj

1. सफेद जीरा: आधे से 2 ग्राम सफेद जीरा को पीसकर रोजाना 2-3 बार खाने से पेशाब का रंग साफ हो जाता है।

2. पाषाणभेद : पाषाणभेद को दूध में घिसकर बच्चों को सुबह और शाम खिलाने से पेशाब का रंग साफ होकर लाभ होता है।

3. सुहागा: लगभग आधा ग्राम से एक ग्राम सुहागा के लावा को शहद मिले पानी में घोंटकर सुबह-शाम पीने से पेशाब साफ आने लगता है।

4. नागरमोथा: 3 से 6 ग्राम नागरमोथा को पीसकर सुबह-शाम दूध के साथ लेने से पेशाब साफ होने लगता है।

5. कचूर: कचूर की फांट या घोल को सुबह और शाम को खाने से पेशाब साफ आने लगता है और जलन कम हो जाती है।

6. बलसा: लगभग आधा ग्राम से 1 ग्राम बलसा की राल को सुबह और शाम खाने से पेशाब साफ होने लगता है।

7. हल्दी: पेशाब का रंग सफेद होने पर हल्दी और दारूहल्दी का काढ़ा बनाकर 20 मिलीलीटर से 40 मिलीलीटर सुबह-शाम खाने से पेशाब का रंग साफ होकर लाभ होता है।

8. पीपल: पीपल के पेड़ की छाल का काढ़ा रोजाना 2-3 बार पीने से पेशाब की गर्मी दूर हो जाती है और पेशाब साफ आने लगता है।

9. तुलसी:

  • मिश्री के शर्बत में थोड़े से तुलसी के पत्तों को पीसकर मिला लें। इस चूर्ण को रोजाना 3-4 बार खाने से पेशाब साफ और खुलकर आने लगता है।
  • तुलसी के पत्तों को पीसकर पानी में मिलाकर पीते रहने से पेशाब साफ हो जाता हैं और खुलकर आने लगता है।

10. खस: 10 ग्राम खस और 10 ग्राम सफेद चन्दन को कपड़छन चूर्ण कर शीशी में रखें। इसे 1 से 3 ग्राम की मात्रा में शहद के साथ सुबह-शाम लेने से पेशाब के रोग ठीक होते हैं।

11. त्रिफला: 3 से 5 ग्राम त्रिफला के चूर्ण को रोजाना रात में गरम पानी के साथ रोजाना खाने से पेशाब का रंग साफ हो जाता है।

12. जंगली अजवायन: 40 मिलीलीटर जंगली अजवायन का काढ़ा लेकर सिरका और शहद मिलाकर लेने से पूरा लाभ मिलता है और पेशाब साफ आने लगता है।

13. वंशलोचन: वंशलोचन, शीतलचीनी (कंकोल) और इलायची का कपड़छन किया हुआ चूर्ण बराबर-बराबर 3 चुटकी भर लेकर दूध और मिश्री के साथ सेवन करने से पेशाब का रंग साफ होने लगता है।

14. लोध्र: लगभग 1 ग्राम लोध्र मे मिश्री मिलाकर रोजाना 3-4 बार खाने से 3-4 दिन में पेशाब का रंग साफ हो जाता है। इसमें लोघ्रासव 20 ग्राम से 30 ग्राम रोज 2 बार खाने से भी लाभ होता है।

(अस्वीकरण : दवा, उपाय व नुस्खों को वैद्यकीय सलाहनुसार उपयोग करें)

Leave a Comment