जूं से छुटकारा देंने वाले 26 सबसे असरकारक घरेलु उपचार – Sir me Juye ka ilaj in Hindi

Last Updated on June 3, 2022 by admin

सर में जूं होना क्या है ?:

जूं अक्सर अधिकतर सिर में पाई जाती है। वैसे तो ये ज्यादातर सिर में पाई जाती है लेकिन कभी-कभी ये त्वचा और अन्य अंगों में भी हो जाती है। जूं जिसके सिर में होती है वह उसी का खून चूसकर ज़िंदा रहती है।

सर में जूं होने के कारण (sir me juye hone ke karan)

जुएं अधिकतर पसीने से पैदा होती हैं जो बालों में लगे रहने के कारण बालों की जड़ों में पहुंच जाते हैं और उसमें खुजली पैदा करते हैं। जूं से पीड़ित रोगी के साथ सोने वाले के बालों में जूं पड़ जाते हैं। यह सूक्ष्म (छोटे) परजीवी होते हैं जो मनुष्य के सिर में पलते हैं।

सिर में जूं का इलाज (juon ka gharelu upchar)

1. धतूरा (Datura) : धतूरे के पत्तों को कूटकर उसका रस निकाल लें और इसे बालों में अच्छे से मालिश करें। इससे जूएं मर जायेंगी।

2. मूली (Radish) : मूली के रस से सिर को धोने से लीखें और जुएं झड़ जाती हैं।

3. कालीमिर्च (Black pepper) : 10 से 12 सीताफल के बीजों और 5 से 6 कालीमिर्चों को पीसकर, सरसों के तेल में मिलाकर और रात को सोने से पहले बालों की जड़ तक मलने से सिर की जूएं (juon) मर जाती हैं।

4. चुकन्दर (Beet) :

  • चुकन्दर के पत्तों को पानी में उबालकर सिर को धोने से फरास दूर जाती है और जुएं भी मर जाती हैं।
  • चुकन्दर के पत्तों का रस निकालकर या पत्तों को पीसकर उसमें हल्दी मिलाकर गंजे सिर पर लगाने से बाल उगने लगते हैं और बालों का टूटकर गिर जाना या बालों का उड़ना बन्द हो जाता है।

5. अजवाइन (celery) :

  • एक चम्मच फिटकिरी और 2 चम्मच अजवायन को पीसकर एक कप छाछ में मिलाकर बालों की जड़ों में सोते समय लगाएं और सुबह धो लें।
  • 10 ग्राम अजवायन के चूर्ण में 5 ग्राम फिटकरी का बारीक चूर्ण मिला लें। इसे दही या छाछ में मिलाकर बालों में मलने से लीखें तथा जुएं मर जाती हैं।

6. कपूर : 3 चम्मच नारियल के तेल में थोड़ा-सा कपूर मिलाकर बालों की जड़ों में मलकर रात को सोयें। प्रात: बाल धोकर बारीक कंघी करें। इससे लीखें और जुओं का सफाया हो जायेगा।

7. सरसों का तेल (mustard oil) : 25 मिलीलीटर नींबू का रस और 20 मिलीलीटर सरसों का तेल मिलाकर लगाने से जूं नष्ट हो जाती हैं।

8. बथुआ : बथुआ को उबालकर इसके पानी से सिर को धोने से जुंए मर जाती हैं और सिर के बाल साफ हो जाते हैं।

9. सुहागा : 20 ग्राम सुहागा और 20 ग्राम फिटकरी को 250 मिलीलीटर पानी में मिलाकर सिर पर मालिश करने से जुंए नष्ट हो जाती हैं।

10. पान : मूली और पान के रस में पारा मिला करके बालों में लगाने से जुएं जल्द मर जाती हैं।

11. नीम (neem) :

  • नीम की निबोलियों को घोटकर सिर में लगाने से जूएं मर जाती हैं।
  • नीम का तेल और सरसों का तेल बराबर मात्रा में मिलाकर कुछ दिनों तक रोजाना बालों में मालिश करने से जूएं से छुटकारा मिलता है।
  • नीम के पत्तों को पानी में उबालकर ठंड़ा कर लें। इसके बाद उस पानी से सिर को धो लें। इससे जुएं समाप्त होती हैं।
  • नीम का तेल लगाने से जूएं मर जाती हैं।

12. प्याज (onion) : प्याज का रस सिर में लगाने से जूएं मरकर निकल जाती हैं।

13. मैनफल : मैनफल का रस सिर में लगाने से जूएं मर जायेंगी।

14. शरीफा :

  • शरीफा के बीजों को बारीक पीसकर सिर में लगाकर, किसी मोटे कपड़े से सिर को रात में अच्छी तरह बांधकर सोने से जूंएं मर जाती हैं। इस बात का ध्यान रखें कि यह आंखों तक न पहुंच पाये क्योंकि यह आंखों के लिए नुकसानदायक है।
  • शरीफा के पत्तों का रस बालों की जड़ों में अच्छी तरह मालिश करने से जुंए मर जाती हैं।
  • शरीफा के बीज पीसकर माथे पर लगाने से जुंए नष्ट हो जाएंगी।

15. फिटकरी : 10 ग्राम फिटकरी के चूर्ण में 1 लीटर पानी मिला लें। इस तैयार घोल से रोजाना बालों को धोने से जुएं नष्ट हो जाती हैं।

16. नींबू (Lemon) :

  • पानी में चौथाई भाग नींबू का रस मिलाकर घोल बना लें। इस बने घोल से रोजाना बालों को धोयें। इससे जुंए मर जायेंगी।
  • नींबू के रस को बालों की जड़ों में धीरे-धीरे मालिश करने से कुछ ही दिनों में जूएं मर जाती हैं।
  • नींबू का रस और लहसुन का रस दोनों को मिलाकर सिर में एक-दो बार मालिश करें। इसके बाद सिर को धो लें और शैम्पू से साफ कर लें। इससे जूएं कम हो जाती हैं।

17. अडूसा :

  • अडूसा के पत्तों के काढ़े से बाल धोने से जुंए मर जाते हैं।
  • अडूसा के पत्तों में फल को बांधकर रखने से फल सड़ते नहीं हैं। इसके (एलकोहलिक टिंचर) को छिड़कने से मक्खी, मच्छर एवं पिस्सू आदि भाग जाते हैं तथा पत्तों से बनी खाद को खेतों में डाला जाए तो फसलों में कीड़े नहीं लगते हैं। ऊनी कपड़ों के तह में पत्तों को रखने से कीड़े नहीं लगते हैं। इसी तरह इसका काढ़ा बनाकर बालों को धोने से बालों की जूं मर जाती हैं।

18. डिकामाली (नाड़ीहिंगु) : लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग डिकामाली सुबह-शाम गर्म पानी के साथ मिलाकर सेवन करने से जूएं मर जाती हैं।

19. सीताफल : सीताफल के बीजों को पीसकर लगाने से जुंए मर जाती हैं।

20. बथुआ : बथुआ के पत्तों को गर्म पानी में उबालकर छान लें और उसे ठंड़ा करके उसी पानी से माथे को खूब अच्छी तरह से धोयें। इससे बाल स्वच्छ हो जायेंगे और जूएं भी मर जायेंगी।

21. हींग : बिना भुनी हींग (कच्ची हींग) पानी में घोलकर बालों की जड़ों तक लगायें और पूरे बालों को इस घोल से गीला करके छोड़ दें, कुछ घंटों बाद नींबू रस मिले पानी से बालों को धो लें। इससे सारे जुंए मर जायेंगे और ऐसा रोजाना 1 बार कुछ दिन तक करें। इससे पूरे सिर के जूंए की सफाई भी हो जाएगी।

22. गांजा :

  • गाँजा को पीसकर सिर में लेप करना चाहिए।
  • गाँजा को पानी में मिलाकर बालों को धोने से जूं नष्ट होती हैं।

23. शिलारस : शिलारस को चौगुने तिल के तेल में मिलाकर लगाने से जूं मर जाती हैं।

24. शिकाकाई : शिकाकाई की फली के क्वाथ (काढ़े) से बालों को धोने से जूंए मरती हैं।

25. अमरबेल : हरे अमरबेल को पीसकर पानी के साथ मिला लें। इससे बालों को धोने से जूएं मर जायेंगी। इसे पीसकर तेल में मिलाकर लगायें। इससे बालों के उगने में लाभ होगा।

26. लहसुन : लहसुन को पीसकर नींबू के रस में मिलाकर रात को सोने से पहले सिर पर लगायें और सुबह धो लें। यह क्रिया 5 दिनों तक लगातार करने से सिर की जूं मरकर बाहर निकल जाती हैं।
सावधानी : इसे आंखों पर न लगने दें।

(अस्वीकरण : दवा ,उपाय व नुस्खों को वैद्यकीय सलाहनुसार उपयोग करें)

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!
Share to...