पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

पेशाब में जलन हो तो सीघ्र राहत देते है यह 28 घरेलु उपचार | Home remedy of burning Urination

Home » Blog » Disease diagnostics » पेशाब में जलन हो तो सीघ्र राहत देते है यह 28 घरेलु उपचार | Home remedy of burning Urination

पेशाब में जलन हो तो सीघ्र राहत देते है यह 28 घरेलु उपचार | Home remedy of burning Urination

पेशाब में जलन होने एक बहुत ही आम स्वास्थ्य से जुडी एक समस्या है| ये अच्छों, आदमी, औरत या बड़ों किसी को भी किसी भी समय हो सकती है| ये समस्या इसके कारण के आधार पर कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ़्तों तक चल सकती है|

पेशाब में जलन के कारण | Causes of Burning Sensation when Urinating

कारणों की बात की जाए तो इसके कारण बहुत से हैं और जिनकी सही जाँच आपका डॉक्टर ही कर सकता है|

<> UTI यानी यूरिनरी ट्रॅक्ट इन्फेक्शन होना
<> शरीर में गर्मी होना
<> गर्म फूड्स जैसे स्पाइसी फूड्स (मिर्च मसले) या दूसरी गर्म आइटम्स का सेवन
<> फॅटी और फास्ट फ़ूड का सेवन
<> शरीर में पानी की कमी (डीहाइड्रेशन)
<> पथरी की प्राब्लम ( किड्नी स्टोन)
<> प्रेग्नेन्सी के समय भी पेशाब में जलन हो सकती है
<> कुछ लोगो में सख्लन के बाद ये प्राब्लम होती है ( यानी वीर्या निकलने के बाद, ख़ासकर संभोग के बाद)
<> प्रॉस्टेट ग्रंथि का बढ़ना
<> STD ( sexually transmitted disease) द्वारा
<> diabetes (मधुमेह) होना
<> मूत्र मार्ग में inflammation या सूजन होना
<> दवाइयों का side effect ( मेडिकेशन)
<> लिवर प्राब्लम
<> मूत्र मार्ग में अल्सर का होना
<> कुपोषण के कारण
<> कॉफी, alcohol, तंबाकू, स्मोकिंग और दूसरे नशीले पदार्थों का सेवन.

अब आइए जानते हैं की इस जलन का इलाज घर पर कैसे करें Instant Home Remedies For Burning Urine in hindi

पानी है सबसे ज़रूरी :

जलन का कारण चाहे कोई भी हो पानी शरीर में कई प्रॉब्लम्स को दूर रखने और ट्रीट करने की कारगर माना जाता है और इनमें से एक है पेशाब करते समय जलन होना| आपकी प्राब्लम चाहे संक्रमण के कारण हो या शरीर की गर्मी के कारण ( बॉडी हीट) या फिर डीहाइड्रेशन के कारण, आपको आपनी बॉडी को पानी से तृप्त रखना होगा| पानी ना केवल बॉडी का तापमान घटाता है और उसे साफ़ रखने में मदद करता है बल्कि वो इन्फेक्शन करने वाले हानिकारक बॅक्टीरिया को पेशाब के साथ बॉडी के बाहर करने में भी मदद करता है|

आप पानी को अपनी प्राब्लम के अनुसार कई रूप में उपयोग में ला सकते हैं जैसे:

आपकी प्राब्लम डीहाइड्रेशन और शरीर में गर्मी के कारण है तो आप शरीर को कुछ मिनिट्स में ठंडा और हाइड्रेटेड कर सकते हैं| अगर जलन का कारण डीहाइड्रेशन है तो इसका पता आप पेशाब का रंग देख कर लगा सकते हैं यानि यदि आपके यूरिन का कलर पीला है तो आपकी प्राब्लम है बॉडी का निर्जलीकरण|

नीचे कुछ उपाय दिए गये हैं जो ना केवल आपकी बॉडी में पानी की कमी को पूरा करेंगे बल्कि उसे ठंडा भी करेंगे:

१) गर्मियों के दीनो में तरबूज , खीरा, ककड़ी आदि पानी युक्त सब्जियों का नियमित सेवन करते रहें| इससे आपको पानी के साथ साथ पोषण भी मिलेगा और बॉडी हीट भी कम होगी|

२) एक गिलास ठंडे पानी में एक छोटा स्पून चंदन (सॅंडल वुड) पाउडर और थोडा सा गुलाब जल (रोज़ वॉटर) डालकर पी लीजिए| ये शरीर के साथ साथ मूत्र मार्ग को भी ठंडक का एहसास देगा और पेशाब की जलन को कम करेगा|

३) अगर आपको coconut वॉटर या नारियल का पानी आसानी से उपलब्ध हो सकता है तो आप उसे पीकर अपनी प्राब्लम दूर कर सकते हैं| साथ ही coconut वॉटर आपको ज़रूरी मिनरल और विटमिन्स भी देगा| इतना ही नही आपको एनर्जी भी मिलेगी|

४) मटके का ठंडा पानी पीजिए और दिन में कई बार पीजिए| ये आपके शरीर के टेंपरेचर को कम करेगा| बॉडी हीट घटाने का एक तरीका ये भी है की आप एक टब में ठंडा पानी लीजिए और अपनी टांगो को उसमे कुछ देर डूबो कर रखें, आपको रहत मिलेगी|

५) नींबू पानी पीना और पुदीने का रस पानी में डालकर पीना भी एक सरल उपाय है|

६) एक कटोरी दही आधे गिलास पानी में घोल के छाछ बनके पीजिए आपकी पेशाब की जलन कम होगी|

चिकित्सा :peshab me jalan ka ilaj in hindi

1. धनिया:

<> 30-30 ग्राम सूखा धनिया, सफेद चंदन का चूरा और आंवला को लेकर मोटा-मोटा पीस लें। इस 18 ग्राम चूर्ण को 125 ग्राम पानी में रात को भिगोने के लिये रख दें। सुबह इसे अच्छी तरह पानी मे ही मसलकर और छानकर इसमें खांड को मिलाकर पीने से पेशाब की जलन दूर होती है।

<> यदि पेट, शरीर या मूत्र में कहीं जलन हो तो 15 ग्राम धनिये को रात को सोने से पहले भिगो देते हैं। सुबह के समय धनिये को पानी में ही ठंडाई की तरह पीसकर इसमें मिश्री डालकर सेवन करें।

<> इस प्रयोग से हृदय की धड़कन सामान्य हो जाती है। धनिये और आंवला को रात में भिगोकर सुबह के समय मसलकर पीने से मूत्र की जलन दूर हो जाती है।

2. कालीमिर्च: 5 कालीमिर्च के दानों और 10 ग्राम रतनजोत को पानी के साथ पीसकर उसमें खांड मिलाकर रोगी को पिलाने से पेशाब मे जलन दूर होती है।

3. दूध:

<> 250 मिलीलीटर दूध और 250 मिलीलीटर पानी में खांड को मिलाकर पीने से पेशाब की जलन के रोग में लाभ मिलता है।

<> गर्मी के मौसम में ज्यादा गर्म चीजें खाने से अगर पेशाब में जलन हो तो कच्चे दूध में पानी मिलाकर पीने से लाभ मिलता है।

<> गर्मी के मौसम में कुछ चीजे खाने की वजह से अगर पेशाब मे जलन हो तो लस्सी पीने से बहुत लाभ होता है।

4. रेवन्दचीनी: 10 ग्राम रेवन्दचीनी को पीसकर आधा ग्राम की मात्रा में सुबह और शाम पानी के साथ सेवन करने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है।

5. शोराकलमी: 10 ग्राम शोराकलमी और बड़ी इलायची के दानों को पीसकर चूर्ण बनाकर लगभग 4 ग्राम की मात्रा में पानी या दूध के साथ सुबह और शाम खाने से पेशाब की जलन दूर होती है।

6. खमीरा: 6 ग्राम खमीरा सन्दल को पानी के साथ सुबह और शाम लेने से पेशाब की जलन के रोग मे लाभ होता है।

7. हरड़:

<> हरड़ के चूर्ण मे शहद मिलाकर चाटकर खाने से, पेशाब करते हुये होने वाली जलन और दर्द खत्म हो जाता है।

<> हरड़ के चूर्ण कों मट्ठे यानी छाछ के साथ रोज़ खाने से पेशाब के रोग ठीक हो जाते हैं।

8. आंवला:

<> आधा कप आंवले के रस में 2 चम्मच शहद को मिलाकर पीने से पेशाब की जलन शांत हो जाती है।

<> 50 मिलीलीटर हरे आंवले का रस, 25 ग्राम शहद को थोड़े-से पानी में मिलाकर एक खुराक के रूप में सुबह-शाम सेवन करने से पेशाब खुलकर आता है और पेशाब की जलन, कब्ज और शीघ्रपतन की बीमारी दूर होती है।

<> इसकी ताजी छाल के 10-20 मिलीलीटर रस में 2 ग्राम हल्दी और 10 ग्राम शहद को मिलाकर सुबह-शाम पीने से पेशाब करने में जलन या कष्ट होने का रोग मिट जाता है।

<> आंवलों के 20 मिलीलीटर रस में इलायची का चूर्ण डालकर दिन में 2-3 बार पीने से पेशाब करने में जलन या कष्ट होना मिट जाता है।

9. मुलेठी: 1 चम्मच मुलेठी का चूर्ण एक कप दूध के साथ लेने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है।

10. दूब हरी :

<> दूब की जड़ को पीसकर सेवन करने से मूत्रकृच्छ (पेशाब करने में जलन या कष्ट होना) की विकृति नष्ट हो जाती है।

<> 4 चम्मच दूब का रस को एक कप दूध के साथ सेवन करने से पेशाब की जलन में आराम मिलता है।

11. चीकू: चीकू का सेवन करने से पेशाब की जलन शांत हो जाती है।

12. अदरक: सौंठ, कटेली की जड़, बला मूल, गोखरू को 2-2 ग्राम की मात्रा में और 10 ग्राम गुड़ को 250 मिलीलीटर दूध में उबालकर सुबह-शाम पीने से मल-मूत्र के कारण होने वाला दर्द शांत हो जाता है।

13. ककड़ी:

<> ककड़ी और नींबू के रस में थोड़ा-सा जीरा तथा चीनी डालकर पीने से पेशाब की जलन मिट जाती है।

<> ककड़ी के मांड को पीने से पेशाब की जलन और पेशाब के साथं आने वाला घात बंद हो जाता है।

14. गेंहू: रात को सोने से पहले 10 ग्राम गेहूं को 250 मिलीलीटर पानी में भिगो दें। सुबह के समय इस पानी को छानकर उस पानी में 25 ग्राम मिश्री को मिलाकर पीने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है।

15. ईसबगोल: 1 गिलास पानी में 3 चम्मच ईसबगोल की भूसी को भिगोकर उसमें स्वाद के मुताबिक बूरा डालकर पीने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है।

16. कलौंजी: 250 मिलीलीटर दूध में आधा चम्मच कलौंजी का तेल और 1 चम्मच शहद को मिलाकर पीने से पेशाब की जलन के रोग में फायदा होता है।

17. कचनार: कचनार के सूखे फल के चूर्ण 5 से 10 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से पेशाब की जलन मिट जाती है।

18. गोखरू: गोखरू के पत्ते और फल को बराबर मात्रा में मिलाकर काढ़ा तैयार करके और छानकर आधा कप की मात्रा में दिन में 3 बार सेवन करने से पेशाब की जलन में बहुत जल्द ही आराम मिलता है।

19. फूलगोभी: फूलगोभी की सब्जी का सेवन करने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है।

20. प्याज:

<> 1 लीटर पानी में 45 ग्राम प्याज के टुकड़े डाल कर घुमाएं और उबाल लें। फिर इसे छानकर रोजाना 3 बार रोगी को पिलाने से पेशाब खुलकर तथा बिना कष्ट के आता है। इसके अलावा इसका सेवन करने से बार-बार पेशाब आने का रोग भी ठीक हो जाता है।

<> 50 ग्राम प्याज को काटकर 500 मिलीलीटर पानी में डालकर उबाल लें। जब पानी उबलने पर पानी 125 मिलीलीटर के करीब रह जाये तो उसे छानकर ठंडा कर लें और 3-4 दिन तक लगातार इस पानी को पीने से पेशाब मे जलन के रोग मे लाभ होता है।

<> प्याज का काढ़ा बनाकर रोगी को पिलाने से पेशाब की जलन दूर होती है।

21. अलसी: अलसी के बीजों का काढ़ा 1-1 चम्मच की मात्रा में दिन में 3 बार पीने से मूत्रनली की जलन और मूत्र सम्बंधी कष्ट दूर होते हैं।

22. खस (पोस्त के दाना): खस की जड़ का चूर्ण एक चम्मच की मात्रा में 3 बार पानी से खाने से पेशाब की जलन और पेशाब की रुकावट दूर होती है।

23. नींबू: नींबू के रस में जवाखार को मिलाकर सेवन करने से पेशाब की जलन कम हो जाती है और पेशाब अधिक आता है।

24. पानी: धूप, गर्मी के कारण या गर्म प्रकृति की चीजों को खाने से पेशाब में जलन हो, पेशाब बूंद-बूंद करके आता हो तो ठंडे पानी या बर्फ के पानी में कपड़ा भिगोकर नाभि से नीचे रखनें सें पेशाब खुलकर और बिना दर्द के आता है।

25. बरगद: बरगद के पत्तों से बना काढ़ा 50 मिलीलीटर की मात्रा में 2-3 बार सेवन करने से पेशाब की जलन दूर होती है। इस काढ़े को सिर पर लगाने से सिर का भारीपन, नजला और जुकाम में भी लाभ होता है।

26. अरबी: अरबी के पत्तों का रस 3 दिन तक पीने से पेशाब की जलन मिट जाती है।

27. तोरई: नियमित रूप से तोरई का सेवन करने से पेशाब की जलन दूर होती है और पेशाब खुलकर आता है।

28. गुलाब: पेशाब में जलन आदि रोगों में गुलाब के 10 ग्राम पत्तों को पीसकर मिश्री में मिलाकर दिन में 2-3 बार रोगी को पिलाने से पेशाब की जलन के रोग में आराम आता है।

Peshab Me Jalan Se Bachav ke tarike (Tips to Prevent Burning Sensation while Urination)

1. सबसे अच्छा जलन से बचने का तरीका है की आप अपने आपको पूरी तरह से हाइड्रेटेड रखें और ऐसा आप दिन में 8 तो 10 ग्लास पानी और दूसरे healthy liquid जैसे फ्रूट और वेजिटेबल्स juice पी कर कर सकते हैं|

2. कभी भी अपने मूत्र (यूरिन) को रोक के मत रखिए| ऐसा करने से आपका मूत्र मार्ग irritate होता है और उसमें इन्फेक्शन होने का भी ख़तरा रहता है.|इसलिए जब भी पेशाब आए उसे ज़रूर करिए|

3. संसार व्यवहार करते समय proper प्रोटेक्शन का पालन करें| इसके अलावा संबंध बनाना से पहले हाथ, लिंग और योनि आदि को धो के साफ़ करे लें| संभोग से पहले और बाद में पेशाब करना ना भूलें|

4. Healthy डाइट खाएं और मिर्च मसालेदार फूड्स (स्पाइसी फ़ूड), फॅटी फूड्स, फ्राइड फ़ूड (तली हुई चीज़ें) आदि खाने से परहेज रखें|

5. आल्कोहॉल, तंबाकू , स्मोकिंग, कॉफी, चाय, सोडा आदि का कभी भी सेवन ना करें| ये सभी पदार्थ शरीर में पानी की कमी और गर्मी पैदा करने के लिए जाने जाते हैं|

6. लेडीज पीरियड के दौरान सॅनिटरी पैड्स को समय समय पर बदलते रहें और साफ़ सफाई का विशेष रूप से ध्यान रखें|

7. 8 घंटे की नींद ज़रूर लें और अपने आपको स्ट्रेस या मानसिक तनाव से मुक्त रखने की कोशिश करें| कम नींद और तनाव के कारण भी पेशाब में जलन हो सकती है|

8. ढीले अंडरगार्मेंट्स पहने और उन्हे रोज चेंज करते रहें|

9. सूखे मेवे यानी ड्राइ फ्रूट्स से शरीर में गर्मी होती है इसलिए उन्हे कम मात्रा में खाइए|

विशेष : अच्युताय हरिओम रसायन चूर्ण , अच्युताय हरिओम गुलकंद ,अच्युताय हरिओम गुलाब सर्बत के सेवन से पेशाब की जलन में तुरंत आराम मिलता है।
प्राप्ति-स्थान : संत श्री आशारामजी आश्रमों और श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र |

keywords – Instant Home Remedies For Burning Urine in hindi , Dysuria ,peshab me jalan ka ilaj in hindi , pesab mai jalan ka karan ,jln ,Peshab mein jalan ko door karne ke gharelu nuskhe , पेशाब मे जलन का उपचार , यूरिन में जलन के कारण , पेशाब में जलन का इलाज इन हिंदी , पेशाब का पीला होना , पेशाब करते समय दर्द,

Leave a Reply