पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

Students

Home » Blog » Students

मन की चंचलता मिटा बुद्धि बढ़ाने वाला योगियों का दिव्य प्रयोग |

2017-06-23T12:04:33+00:00 By |Students|

चंचलता – निवारण करने का अपना विचार होता है तो आदमी बहुत ऊँचा उठ जाता है | चंचलता ध्यान [...]

छोटी आयु में बड़ी सफलता

2017-04-26T12:13:23+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा), Students|

नेपोलियन ने २५ वर्ष की आयु में इटली नी विजय प्राप्त की थी। न्यूटन ने २१ वर्ष का होने से [...]

जीवनोपयोगी कुंजियाँ

2017-01-12T17:13:56+00:00 By |kya kare kya na kare, Students|

* अपने कल्याण के इच्छुक व्यक्ति को बुधवार व शुक्रवार के अतिरिक्त अन्य दिनों में बाल नहीं कटवाने चाहिए। बुधवार [...]

विद्यार्थियों के लिए

2017-01-03T05:41:10+00:00 By |Balsanskar, Students|

जिन विद्यर्थियोंको स्कूल में कॉलेज में अच्छे नम्बरों से पास होना है वे प्राणायाम जरूर करें अनुलोम विलोम, भ्रामरी, [...]

ब्रम्हचर्य सहायक प्राणायाम

2017-05-16T09:54:45+00:00 By |Students, Yoga & Pranayam|

सीधा लेट जाये पीठ के बल से.. कान में रुई के छोटे से बॉल बना के कान बंद कर [...]

सूर्यनारायण का ध्यान

2017-05-16T11:24:27+00:00 By |Students, Yoga & Pranayam|

भ्रूमध्य में सूर्यनारायण का ध्यान करने से, ॐकार का ध्यान करने से बुद्धि विकसित होती है और नाभि से सूर्य [...]

पृथ्वी के अमृतः गोदुग्ध

2017-01-01T04:20:09+00:00 By |Ahar-vihar, Health Tips, Students|

आजकल पाउडर का अथवा सार तत्त्व निकाला हुआ या गाढ़ा माना जानेवाला भैंस का दूध पीने का फैशन चल पड़ा [...]

जानिए स्नान करने के महत्वपूर्ण नियम

2017-01-01T02:49:12+00:00 By |Ahar-vihar, Students|

प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व उठकर शौच-स्नानादि से निवृत्त हो जाना चाहिए। निम्न प्रकार से विधिवत् स्नान करना स्वास्थ्य के लिए [...]