खान पान के यह नियम आपको रखेगे सदा तंदरुस्त | Eating Right the Ayurvedic Way

Home » Blog » Ahar-vihar » खान पान के यह नियम आपको रखेगे सदा तंदरुस्त | Eating Right the Ayurvedic Way

खान पान के यह नियम आपको रखेगे सदा तंदरुस्त | Eating Right the Ayurvedic Way

<> सुबह उठते ही सबसे पहले हल्का गर्म पानी पिये !! 2 से 3 गिलास जरूर पिये !
पानी हमेशा बैठ कर पिये !
पानी हमेशा घूट घूट करके पिये !!

<> घूट घूट कर इसलिए पीना है ! ताकि सुबह की जो मुंह की लार है इसमे ओषधिए गुण बहुत है ! ये लार पेट मे जानी चाहिए ! वो तभी संभव है जब आप पानी बिलकुल घूट घूट कर मुंह मे घूमा कर पिएंगे !

<> इसके बाद दूसरा काम पेट साफ करने का है ! रोज पानी पीकर सुबह शोचालय जरूर जाये !पेट का सही ढंग से साफ न होना 108 बीमारियो की जड़ है !

<> खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीना जहर पीने के बराबर है !
हमेशा डेड घंटे बाद ही पानी पीएं !

 

इसे भी पढ़ें – पानी से जुड़ी ये BAD HABITS उसे आपके लिए बना सकती हैं जहर |The Art of Drinking Water

<> खाना खाने के बाद अगर कुछ पी सकते हैं उसमे दो चीजे आती हैं !!

1) जूस
2) छाज (लस्सी)

<> सुबह खाने के बाद अगर कुछ पीना है तो हमेशा जूस पिये !
दोपहर को दहीं खाये ! या छाज पिये !
और दूध हमेशा रात को पिये वह भी भोजन के डेड घंटे बाद !!

इन तीनों के क्रम को कभी उल्टा पुलटा न करे !!

<> इसके इलावा खाने के तेल मे भूल कर भी refine oil का प्रयोग मत करे !(वो चाहे किसी भी कंपनी का क्यू न हो dalda ,ruchi,gagan)को भी हो सकता है !
अभी के अभी घर से निकाल दें ! बहुत ही घातक है !
सरसों के तेल का प्रयोग करे ! या देशी गाय के दूध का शुद्ध घी खाएं ! ! (शुद्ध सरसों के तेल की पहचान है मुंह पर लगाते ही एक दम जलेगा ! और खाना बनाते समय आंखो मे हल्की जलन होगी !

<> चीनी का प्रयोग तुरंत बंद कर दीजिये ! गुड खाना का प्रयोग करे ! या शक्कर खाये !! चीनी बहुत बीमारियो की जड़ ! slow poison है !

इसे भी पढ़ें – भोजन के बाद छह खतरनाक आदतों से बचें

<> खाने बनाने मे हमेशा सेंधा नमक या काला नमक का ही प्रयोग करे !! आयोडिन युक्त नमक कभी न खाएं !!

<> सुबह नाश्ता न कर सीधा ९ से ११ बजे तक भोजन कर लीजिये ! इस दौरान जठर अग्नि सबसे तेज होती है ! सुबह का खाना हमेशा भर पेट खाएं ! सुबह के खाने मे पेट से ज्यादा मन संतुष्टि होना जरूरी है ! इसलिए अपनी मनपसंद वस्तु सुबह खाएं !!

<> खाना खाने के तुरंत बाद वज्रासन में १५ मिनट बैठे या १५ मिनट के लिए बायीं लेट जाएँ ! लेकिन इससे ज्यादा नहीं !

<> रात का खाना सोने से २-३ घण्टे पहले खा ले, रात को खाना खाने के तुरंत बाद नहीं सोना ! रात को खाना खाने के बाद बाहर सैर करने जाएँ ! कम से कम 500 कदम सैर करे !

<> ब्रह्मचारी है (विवाह के बंधन मे नहीं बंधे ) तो हमेशा सिर पूर्व दिशा की और करके सोएँ ! ब्रह्मचारी नहीं है तो हमेशा सिर दक्षिण की तरफ करके सोएँ ! उत्तर और पश्चिम की तरफ कभी सिर मत करके सोएँ !

<> मैदे से बनी चीजे पीज़ा ,बर्गर ,hotdog,पूलड़ोग , आदि न खाएं ! ये सब मैदे को सड़ा कर बनती है !! कब्ज का बहुत बड़ा कारण है !!

इन सब नियमो का अगर पूरी ईमानदारी से प्रयोग करेंगे ! 1 से 2 महीने मे ऐसा लगेगा पूरी जिंदगी बदल गई है ! मोटापा है तो कम हो जाएगा ! hihgh BP,cholesterol,triglycerides,सब level पर आना शुरू हो जाएगा ! HDL बढ्ने लगेगा ! LDL ,VL DL कम होने लगेगा !! और भी बहुत से बदलाव आप देखेंगे !!

keywords – Ayurvedic , Eating ,bhojan karne ke niyam , bhojan karne ka tarika , संतुलित भोजन क्या है , khana khane ka tarika in hindi , संतुलित भोजन का महत्व , भोजन करने का तरीका , खाने का सही तरीका

2017-05-11T09:21:44+00:00 By |Ahar-vihar|0 Comments

Leave a Reply