3० मिनट पैदल चलने के लाभ – Walking Benefits in Hindi

चलना आपकी शारीरिक गतिविधि को बढ़ाने और आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के सबसे सरल तरीकों में से एक है।

पैदल चलने के बारे में सबसे बढ़िया बात यह है कि इसे कोई भी कर सकता है और इसके लिए जिम, महँगे उपकरण या किसी अतिरिक्त समय की आवश्यकता नहीं होती है। आपको बस चलने के लिए एक आरामदायक जूतों के जोड़ी की आवश्यकता होती है और आप अपने संपूर्ण स्वास्थ्य और सेहत को बेहतर बनाने के पथ पर चल पड़ते हैं।

पैदल चलने के अनूठे फायदे (Paidal Chalne ke Fayde in Hindi)

आधुनिक चिकित्सा के जनक के रूप में, हिपोक्रेट्स ने कहा, “ पैदल चलना मनुष्य के लिए सबसे अच्छी दवा है। ” वह सही थे। आज हर बीमारी के लिए अनगिनत चिकित्सा और दवाइयाँ उपलब्ध हैं, लेकिन कोई भी दवाई इतनी प्रभावशाली नहीं है, जो हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य पर रोज़ पैदल चलने की आदत के प्रभाव से ज़्यादा असर डाल सके। स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए अपनी दिनचर्या में पैदल चलने के लिए कम से कम 3० मिनट तक जोड़ें। पाँच कारणों को ध्यान में रखें और बेहतर स्वास्थ्य को पाएँ

1). दिल की सुरक्षा करें –

हमारे शरीर की बाकी माँसपेशियों की तरह ही, हमारे दिल को भी स्वस्थ और मज़बूत रहने के लिए नियमित गतिविधि के माध्यम से मज़बूत बनाने की ज़रूरत है। शुक्र है, शारीरिक गतिविधियों में सबसे आसान तरीकों में पैदल चलना एक बड़ा बदलाव ला सकता है।

कुछ लोग यह मानते हैं कि इसे सार्थक बनाने के लिए कम से कम एक घंटे तक आपको ट्रेडमिल पर दौड़ना होगा या फुटपाथ पर चलना होगा। हालाँकि, यह पहुँच से बाहर हो सकता है अगर आप काम में व्यस्त रहते हैं या नियमित रूप से व्यायाम नहीं करते हैं। अच्छी बात यह है कि व्यायाम से दिल को सुरक्षित रखनेवाले लाभों का अनुभव करने के लिए आपको ओलम्पिक एथलीट या मैराथन धावक बनने की ज़रूरत नहीं है। दो दीर्घकालिक हार्वर्ड के अध्ययनों में पाया गया है कि दिन में केवल 20 मिनट तक पैदल चलने से आपके हृदय को रोग का खतरा 30 प्रतिशत तक कम हो सकता है।

सप्ताह में कम से कम पाँच बार 30 मिनट चलने का लक्ष्य निर्धारित करें, जिससे आप पैदल तेज़ चाल से मिलनेवाले सभी स्वास्थ्य लाभों का अनुभव कर सकें। इससे भी अधिक आश्चर्य की बात यह है कि जब दिल की सेहत की बात आती है तो पैदल चलना, कुछ मामलों में दौड़ने से बेहतर होता है। एएचए जर्नल, आर्टेरियोस्क्लेरोसिस, थ्रोम्बोसिस और संवहनी जीवविज्ञान में प्रकाशित एक नए अध्ययन में पाया गया कि हृदय रोग के विकास में तीन प्रमुख जोखिम कारकों रक्तचाप, कोलेस्ट्रोल और मधुमेह को कम करने के लिए तेज़ पैदल चलना, दौड़ने के समान लाभ प्रदान करता है।

2). पतला होना –

नियमित रूप से तेज़ पैदल चलना, जब इसे पौष्टिक भोजन के साथ जोड़ा जाता है तो वज़न प्रभावी ढंग से कम होता है, जिससे आपको अतिरिक्त कैलोरी जलाने में मदद मिलती है। आँत की वसा जिसे पेट या पेट की चरबी के रूप में भी जाना जाता है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए विशेष रूप से खतरनाक है, इसे पैदल चलने या टहलने से भी कम करने में मदद मिलती है।

यदि आपके पास टहलने के लिए समय नहीं है तो आपको अपनी दिनचर्या में अतिरिक्त कदम जोड़ने चाहिए। स्मार्ट वॉच आपके द्वारा चले गए कदम, दूरी, कैलोरीज, रक्तचाप, हार्ट रेट को नापता है। स्मार्ट वॉच पहनना आपकी प्रगति को ट्रैक करने और आपको प्रेरित रखने में मदद करने का एक शानदार तरीका हो सकता है। शुरुआत में, आधारभूत स्थापित करने के पहले कुछ दिनों के लिए अपनी दिनचर्या के बारे में सामान्य रूप से जाने। वहाँ से, आप अपनी रोज की दिनचर्या को आगे बढाने के लिए छोटे लक्ष्य निर्धारित कर सकते है।
थोड़े समय बाद आप आश्चर्यचकित हो जाएँगे कि इन छोटे बदलावों से आपकी ज़िंदगी में कितना बदलाव आ गया है।

3). अपनी याददाश्त को तेज करें –

अपने दिमाग को तेज़ रखने के लिए सबसे अच्छी चीज़ों में से एक तेज़ पैदल चलना शामिल है। द प्रोसीडिंग्स ऑफ द नैशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चलता है कि हिप्पोकैम्पस- मस्तिष्क का वह हिस्सा जो याददाश्त के लिए महत्वपूर्ण है, इसका नियमित रूप से पैदल चलने के माध्यम से विस्तार किया जा सकता है।

यह ज्ञात है कि हिप्पोकैम्पस उम्र के साथ सिकुड़ने लगता है, आमतौर पर यह 55 या 60 की उम्र के आस-पास होता है। मस्तिष्क के अध्ययन से पता चला है कि एक वर्ष में सप्ताह में कम से कम तीन बार पैदल चलनेवाले समूह में हिप्पोकैम्पस का आकार लगभग दो प्रतिशत बढ़ गया था। यह एक महत्वपूर्ण वृद्धि थी जिसमें उम्र में हुई एक से दो साल तक के नुकसान की भरपाई हुई थी। पैदल चलनेवाले समूह की याददाश्त में सुधार और मस्तिष्क में प्रोटीन के स्तर में वृद्धि को भी देखा गया जो कि सीखने के लिए ज़िम्मेदार होता है।

4). स्वभाव को बेहतर बनाए –

व्यायाम एंडोर्फिन को रिलीज करने में मदद करता है, जो तुरंत आपके मूड को बेहतर बनाता है और शरीर में सकारात्मक भावना को जागृत करता है। जब नियमित रूप से व्यायाम किया जाता है तो तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है और यहाँ तक कि मनोचिकित्सा के रूप में प्रभावी होकर हल्के अवसाद से राहत भी देता है।

कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में पाया गया है कि लोग पूरे दिन में जितने अधिक कदम उठाते हैं, उनका मूड उतना ही अच्छा होता है। एंडोर्फिन के कारण खुशी और उत्साह की भावनाएँ पैदा होती हैं। अतिरिक्त मूड बढ़ाने के लिए, बाहर टहलने जाएँ। सूरज की किरणों से मिलनेवाली सभी प्रकार की विटामिन डी (सनस्क्रीन लगाते समय,निश्चित रूप से) अवसाद के लक्षणों का अनुभव होने की संभावना को कम कर सकते हैं।

5). प्राकृतिक नींद –

व्यायाम जैसे टहलने के कारण मेलाटॉनिन जैसे प्राकृतिक नींद के हार्मोन के प्रभाव को बढ़ाते हैं, जिससे आप तेज़ी से झपकी लेते हैं और अधिक गहरी नींद में सोते हैं। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने नींद पर व्यायाम के प्रभावों का अध्ययन किया। यह पाया गया कि जो लोग हर दूसरे दिन 20 से 30 मिनट तक व्यायाम करते हैं, वे 50 प्रतिशत ज़ल्दी सो जाते हैं और एक घंटा ज़्यादा सोते हैं।

( और पढ़े – सुबह जल्दी उठने के फायदे व स्वास्थ्य लाभ )

बेहतर पैदल चाल के लिए सुझाव :

1. सीधा खड़े रहने का प्रयास करें : सही मुद्रा में खड़े रहने से पीठ के निचले हिस्से के दर्द को रोका जा सकता है। अपने शरीर को बढ़ाने और अपने कंधों को आराम देने के बारे में सोचें। अगर यह आपकी मुद्रा से समझौता करने का कारण बनता है तो हाथ में वज़न पकड़ने से बचें।

2. अपनी भुजाओं को हिलाएँ : अपनी बाहों को 90 डिग्री पर मोड़ें और अपनी दोनों बाहों को बिना डरे एक साथ हिलाते हुए आगे बढ़ें।

3. अपनी निगाहों को सामने सीधा रखें : अपने सिर को सीधा रखें और आँखों से लगभग 10 से 20 फीट सामने देखें, जो शरीर के ऊपरी तनाव को रोकने में मदद करेगा।

4. अंतराल को शामिल करें : सहनशक्ति और चयापचय को बढ़ावा देने के लिए एक ब्लॉक तेज़ी से और एक या दो ब्लॉकों को धीमी गति से बारी-बारी से आज़माएँ।

सप्ताह में कम से कम पाँच बार 30 मिनट चलने का लक्ष्य निर्धारित करें, जिससे आप तेज़ पैदल चाल से मिलनेवाले सभी स्वास्थ्य लाभों का अनुभव कर सकें।

Leave a Comment