मुद्रा बनाने का तरीका-

yoga mudra in hindi

सबसे पहले वज्रासन में बैठकर दोनों हाथों को कमर के पीछे ले जाकर बाएं हाथ से दाएं हाथ को पकड़ लें। फिर आगे की ओर झुककर सिर को जमीन पर टिका लें और प्राणवायु को बाहर छोड़ दें। इस प्रकार लगभग 20 सैकेंड तक वायु को बाहर निकालते हुए दुबारा वायु को अंदर लें।
इसे भी पढ़े : कालीमुद्रा : सदा जवान बनाये रखती है यह मुद्रा | Kali mudra benefits

लाभ-

Yoga Mudra mudra benefits in hindi

<> यह मन और नाडिय़ों को शान्त करता है|
<> सिर की रक्तापूर्ति बढ़ाता है, चित्त एकाग्रता की योग्यता बढ़ाता है एवं पाचन क्रिया को उद्दीप्त करता है।
<> पेट के रोगों को दूर करती है।
<> इस मुद्रा को रोजाना करने से जिगर, तिल्ली, बवासीर आदि के रोग भी समाप्त हो जाते हैं।

इसे भी पढ़े : अपान मुद्रा : शरीर के हानिकारक तत्व को बाहर निकालने वाली मुद्रा | Apaan Mudra : Steps and Benefits