पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

Adhyatma Vigyan

Home » Blog » Adhyatma Vigyan

भगवान शंकर के 12 ज्योतिर्लिंग कथा व उनका महात्म | Bhagwan Shiv Ke 12 Jyotirling

2017-08-11T16:21:45+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

12 ज्योतिर्लिंगों का महात्म : shiv ji ke 12 jyotirling हिन्दू धर्म में आस्था रखनेवाले करोडों हिन्दू भी बद्रीनाथ, [...]

रक्षा बंधन का पौराणिक इतिहास व उस से जुडी 4 रोचक कथाएं : Raksha Bandhan ka Itihas in Hindi

2017-08-07T14:58:09+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Inspiring Stories(बोध कथा)|

जानिए क्यों मनाया जाता है राखी का त्योहार : Raksha Bandha Kyon Manaya Jata hai रक्षा बंधन का त्यौहार [...]

जानिए भद्रा काल कितना शुभ कितना अशुभ | Bhadra Kal Vichaar and Parihaar

2017-08-07T12:05:51+00:00 By |Adhyatma Vigyan, kya kare kya na kare|

भद्रा काल विचार : Bhadra Vichaar and Parihaar किसी भी मांगलिक कार्य में भद्रा योग का विशेष ध्यान रखा [...]

चन्द्रग्रहण – क्या करें, क्या ना करें | Chandragrahan kya kare, kya na kare

2017-08-07T10:53:18+00:00 By |Adhyatma Vigyan, kya kare kya na kare|

चंद्रग्रहण : Chandragrahan Chandragrahan kya kare, kya na kare यह सवाल हमेशा में यही सवाल सामने आता है की [...]

पूज्य आसाराम बापू जी से आध्यात्मिक प्रश्नोत्तरी | Pujya Asaram Bapu Ji

2017-08-04T14:53:41+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

Spiritual Questions and Their Answers -Pujya Asaram Bapu Ji प्र०- ईश्वर को कैसे पाया जाय ? उ०-  हरेक साधक [...]

श्राद्ध-कर्म : अगर आपको आयु, पुत्र, यश ,धन-धान्य की कामना है तो अवस्य करे श्राद्ध-कर्म

2017-06-14T13:31:52+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

आयु, पुत्र, यश, स्वर्ग, पुष्टि, धन-धान्य देनेवाला पुण्यदायी श्राद्ध-कर्म आइये जाने shradh kya hai ★ आश्विन मास के कृष्ण [...]

प्रकाश की गति : ऋग्वेद | Speed of light in Rigveda

2017-06-07T14:27:45+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

माना जाता है की आधुनिक काल में प्रकाश की गति की गणना Scotland के एक भोतिक विज्ञानी James Clerk [...]

भारतीय काल गणना की वैज्ञानिक पद्धति | Bhartiya Kaal Ganana

2017-05-26T13:17:26+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

★ भारतीय काल गणना की वैज्ञानिक पद्धति यह अति सूक्ष्म से लेकत अति विशाल है .यह एक सेकण्ड के [...]

शिवलिंग के पीछे छुपा हुआ वैज्ञानिक रहस्य | The interesting and untold story of Shivlinga

2017-05-25T23:06:39+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

शिवलिंग का मतलब क्या होता है ..??? शिवलिंग किस चीज का प्रतिनिधित्व करता है......??????दरअसल कुछ अल्पबुद्धि किस्म के प्राणियों ने [...]

श्रीमद भागवत पुराण में सापेक्षता का सिद्धांत | Theory of Relativity

2017-05-22T13:57:06+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

श्रीमद भागवत पुराण में सापेक्षता का सिद्धांत (Theory of Relativity) आइंस्टीन से हजारों वर्ष पूर्व ही लिख दिया गया [...]

महर्षि पाणिनि : कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के पिताश्री | Maharshi Panini : The Father of Computer Programming

2017-05-13T20:46:06+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के पिताश्री: महर्षि पाणिनि - Ancient Programming By Maharshi Panini <> महर्षि पाणिनि के बारे में बताने [...]

महर्षि कणाद परमाणुशास्त्र के जनक | Father of Atom Maharishi Kanada

2017-05-11T17:54:47+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

महान परमाणुशास्त्री आचार्य कणाद पूर्व 3500 ईसापूर्व से भी पहले हुए थे गुजरात के प्रभास क्षेत्र (द्वारका के निकट) [...]