पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

मसालों के चमत्कारिक औषधीय प्रयोग | Health Benefits of Ayurvedic Spices

Home » Blog » Ayurveda » मसालों के चमत्कारिक औषधीय प्रयोग | Health Benefits of Ayurvedic Spices

मसालों के चमत्कारिक औषधीय प्रयोग | Health Benefits of Ayurvedic Spices

जिरा(Cumin) : Jira ke fayde

गुण – ये त्रिदोषशामक, वायुनाशक, वेदनाहारक और मात्रृदुग्धवर्धक है |

★ जिरा व मिश्री समभाग पीसकर ५-६ ग्राम मिश्रण सुबह-श्याम दूध के साथ लेने से माताएँ के
दूध बढ़ जाता है|२-३ ग्राम जीरे का पूड गुड के साथ खाने से भी माँ का दूध बढ़ जाता है |
★ सफेद जिरा ऊबाल के उस पानी से कुछ दिन मुँह धोने से फोड़ो-फंसी, के डाग दूर होते है |
★ जिरा और मिश्री समभाग पीसकर २ से ५ ग्राम मिश्रण चावल के पानी के साथ लेने से श्वेतपदर (ल्यूकोरिया) में लाभ होता है |

धनिये के बीज(Coriander Seed) : Dhaniya ke beej ke fayde

गुण – ये शीतल, त्रिदोषशामक और मस्तिष्क को बल देनेवाला है |

★ पित्तजन्य रोगोमे धनिये के बीज(Coriander Seed), सौंफ और आँवला समभाग चूर्ण बनाकर और उसमे उतनी ही मात्रा में
मिश्री मिलाकर ये मिश्रण १० ग्राम एक ग्लास पानीमें ४- ६ घंटे भिगोकर रखना औरछानकर हररोज पीने से फायदा होता है |
★ हरा धनियाँ के रस में सक्कर मिलाकर पीने से अनिद्रा,उलटी और सिरदर्द में लाभ होता है |
★ थोडा धनिये के बीज(Coriander Seed)चबा-चबाकर खाने से सगर्भावस्था से होने वाली पित्तशामक बीमारी दूर होती है|
★ खाने खाना के बाद तुरंत शौच को जाने के आदत है तो २ ग्राम धनिये के बीज पावडर को लेकर उसमे
थोडा काला नमक मिलाकर खाना खाने के बाद लेना लाभ होता है |

इसे भी पढ़े :तिल खाने के 79 जबरदस्त फायदे | Til khane ke fayde in hindi

सौंफ(Fennel) : Saunf khane ke fayde

गुण- ये सुंगधित, बलबर्धक और रुचिकारक है |

★ सौंफ और मिश्री चबा-चबाकर खाने से नेत्रज्योति बढती है और पित्त का शमन होता है |
खाना खाने के बाद सौंफ खाने से मुँह के छाले और दुर्गंधी मिटती है |
★ आधा चमच सौंठ और १ चमच सौंफ का काढ़ा बनाकर सुबह-श्याम पीने से जुलाब में आराम मिलता है |
★ १ चमच सौंफ पावडर रात को पानी के साथ पीने से पेट साफ़ होता है |
★ ५ ग्राम सौंफ व ५ ग्राम मिश्री पीसकर शरबत बनाके पीने से सिरदर्द में आराम मिलता है |

Summary
Review Date
Reviewed Item
मसालों के चमत्कारिक औषधीय प्रयोग | Health Benefits of Ayurvedic Spices
Author Rating
51star1star1star1star1star
2017-09-23T14:54:02+00:00 By |Ayurveda, Herbs|0 Comments

Leave a Reply