पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

पसली के दर्द से राहत देंगे यह 17 चमत्कारिक घरेलु उपचार | Pasli me dard ka ilaj in hindi

Home » Blog » Disease diagnostics » पसली के दर्द से राहत देंगे यह 17 चमत्कारिक घरेलु उपचार | Pasli me dard ka ilaj in hindi

पसली के दर्द से राहत देंगे यह 17 चमत्कारिक घरेलु उपचार | Pasli me dard ka ilaj in hindi

परिचय :

पसली का दर्द (Pain of the ribs): फेफड़ों में कफ जम जाने के कारण नसे जकड़ जाती है जिसके कारण रोगी की पसलियों में दर्द ( Pasli me dard )होने लगता है। कभी-कभी जब ठंड लग जाती है तो कफ ऊपर की ओर रुक जाता है, बाहर नहीं आ पाता है जो लोग अधिक गैस पैदा करने वाले पदार्थ खाते हैं। उनको भी यह रोग हो जाता है। यह रोग ठड़ा मौसम और ठडी चीजे खाने से उत्पन्न होता है।
लक्षण :

शरीर में वायु के प्रभाव के कारण दर्द शुरू हो जाता है। सबसे अधिक दर्द छाती में होता है। रोगी के माथे पर पसीना आता रहता है जिससे रोगी की बेचैनी बढ़ जाती है।
भोजन तथा परहेज :

इस रोग के रोगी को ठंड और ठंडी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इस रोग में हल्के गर्म तेल की मालिश करें जिससे कि ठंडक दूर होकर रोग में लाभ हो। आइये जाने Pasli me dard ka Gharelu Upchaar

इसे भी पढ़े : सीने में दर्द से तुरंत राहत देते है यह 10 घरेलु उपचार |

विभिन्न औषधियों से उपचार-

1. सरसों : 20 ग्राम अजवाइन और 5 लहसुन की कलियां (पुती) को 250 मिलीलीटर सरसों का तेल में मिला ले, फिर उसके बाद सरसों के तेल को हल्की आग पर गर्म करें। तेल जब आधा रह जाये तो उसे छानकर शीशी (छोटी बोतल) में भर लें। इस तेल को छाती और पसलियों पर मलने से तुरन्त आराम मिलना है।

2. लहसुन : लहसुन का रस और आधा चुटकी श्रृंगभस्म-दोनों को मिलाकर शहद के साथ खाने से पसलियों के दर्द में आराम मिलता है।

3. कपूर : कपूर के तेल से छाती और पसलियों पर करने से पसलियों का दर्द में ठीक हो जाता है।

4. लौंग : लौंग को मुंह में रखकर चूसने से खांसी कम होती है और कफ आराम से निकल जाता है। खांसी, दमा श्वास रोगों में लौंग के सेवन से लाभ पहुंचता है।

5. दूध : दूध में 5 तुलसी के पत्तों और लौंग को डालकर उसे उबालकर बच्चों को पिलाने से बच्चों की छाती मजबूत होती है तथा रोग ठीक होता है।

6. हींग : हींग को पानी में घिसकर उसका लेप करने से पसलियों का दर्द दूर होता है।

7. सौंठ : 30 ग्राम सौठ कूट कर आधा लीटर पानी में उबालकर पीने से पसलियों में किसी भी प्रकार का दर्द ठीक हो जाता है।

8. शहद : सिंदूर की थोड़ी मात्रा शहद में मिलाकर साफ कपड़ें पर लगाकर कपड़े को पसलियों के दर्द वाले जगह पर चिपका दें और पसली की सिकाई करें तो रोग में जल्द आराम मिलता है।

9. पानी : खाना खाने के बाद हल्का गर्म पानी करके पीने से रोग ठीक होता है।

10. अजवायन : 1 चम्मच अजवायन 250 मिलीलीटर पानी में उबालें, चौथाई भाग शेष रहने पर काढ़े को छानकर रात को सोते समय गरम करके 2 चम्मच रोजाना रात को पी कर सोने से 2-4 दिन में ही रोग में आराम मिलता है।

11. धतूरा : धतूरा का रस और मकुइया के रस को हींग और बारहसिंगा के सींग को घिसकर उसे पसली पर लेप करने से लाभ मिलता है।

12. नीलाथोथा : 1 ग्राम शुद्ध नीलाथोथा और 10 ग्राम कंजा के बीजों को पीसकर इडोरन के फल के गूदे (फल के बीच का हिस्सा) में मिला लें। इससे लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग की गोलियां बनाकर पसलियों पर बांधने से रोग में आराम मिलता है।

13. हींग : हींग को गर्म पानी में मिलाकर पसलियों पर मले इससे दर्द में लाभ मिलता है।

14. आक : आक के दूध में थोडे़ से काले तिलों को खूब खरल कर जब पतला सा लेप सा हो जाए तो उसे गरम कर पसली के दर्द वाले स्थान पर लेप कर दें और ऊपर से आक के पत्तों पर तिल का तेल चुपड़कर तवे पर गरम कर उस स्थान पर पट्टी से बांधने पर शीघ्र लाभ होता है।

15. सौंठ : 30 ग्राम सौंठ को 500 लीटर पानी में उबालकर और छानकर यह 4 बार पीने से पसली के दर्द में राहत मिलती है।

16. शहद : सांभर सींग को पानी में घीसकर शहद के साथ मिलाकर पसलियों पर लेप करना चाहिए।

17. नींबू : नींबू का रस 10 मिलीलीटर, जवाखार 3 ग्राम और शहद 6 ग्राम मिलाकर पीने से पसली का दर्द, हृदय (दिल) और पेट का दर्द दूर होता है।

 

विशेष :अच्युताय हरिओम स्पेशल मालिश तेल  का दर्द में  हाथ से मालिश करके गरम कपडे से सेंकने पर लाभ होता है।

keywords – fefdo me dard , pasli k dard ka ilaj , symptoms of pasli chalna , meri pasli mein dard , pasliyon mein dard , pasli me jalan , pasli chalne ka gharelu ilaj , pasli chalna ka ilaj , Pasali ka dard ka karan aur lakshan, Chhati avam fefdo ke rog, पसलियों में दर्द ,पसली मे दर्द , पसली के नीचे दर्द , छाती दर्द का इलाज ,पसली के दर्द का इलाज ,पसली में सूजन ,पसली में पानी , पसलियों में पानी ,पसलियों में चोट , Pain of the ribs ,rib pain left side , pain under rib cage both sides , back rib pain , rib fracture , dull pain under right rib cage , rib pain right side tender to touch , pain under right rib when breathing ,pain under ribs left side

Leave a Reply