नाक के अंदर फुंसी का आयुर्वेदिक घरेलू इलाज – Nak ke Andar ki Funshi ka Ilaj

नाक के अन्दर कई प्रकार की छोटी-छोटी फुंसिया होकर जलन पैदा करती है जिसकी वजह से नाक के अन्दर सूजन और दर्द है।

नाक के अंदर की फुंसी का घरेलू उपचार (Nak ke Andar ki Funshi ke Gharelu Nuskhe)

1. अजवायन : अजवायन के काढ़े या अजवायन के रस से फुंसियों को अच्छी तरह से साफ करने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

2. कायफल : कायफल को पकाकर बने हुए तेल को फुंसियों पर लगाने से आराम आता है।

3. हरीतकी : हरीतकी को पानी के साथ पीसकर उसमें शहद मिलाकर फुंसियों पर लेप करने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

4. कमीला : कबीला (कमीला) को तेल में मिलाकर नाक की फुंसियों पर लगाने से लाभ होता है।

5. कायफल : कायफल के काढ़े से नाक की फुंसियों को अच्छी तरह से साफ करने से नाक की फुंसियों में आराम आता है।

6. सत्यानाशी : सत्यानाशी (पीला धतूरा) के पीले दूध को घृत (घी) में मिलाकर नाक की फुंसियों पर लगाने से आराम आ जाता है।

7. तिल : तिल के तेल में पत्थरचूर के पत्तों के रस को मिलाकर नाक की फुंसियों पर लगाने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

8. चंदन : चंदन के तेल को उससे 2 गुना सरसो के तेल में मिलाकर लगाने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

9. दारूहल्दी : दारूहल्दी की जड़ के काढ़े से फुंसियों को साफ करने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

10. डिकामाली : पानी में डिकामाली (नाड़ी हिंगु) को मिलाकर फुंसियों को धोने से और लगाने से नाक की फुंसियां ठीक हो जाती है।

(अस्वीकरण : दवा, उपाय व नुस्खों को वैद्यकीय सलाहनुसार उपयोग करें)

Leave a Comment