सर्दीयों में जरूरी है नियमित योग और व्यायाम – Exercise in Winter in Hindi

Last Updated on March 13, 2021 by admin

सर्दियों की सर्द हवाओं की चुभन शरीर को रजाई में लपेटकर लेटे रहने का आनंद दिलाती है। क्या कोई चाहेगा कि ऐसी गर्माहट को छोड़कर बाहर टहलने जाए या जिम जाकर सेहत बनाए ?

सेहत बनाने का सही समय तो यही मौसम होता है। इसका पूरा फायदा उठाना चाहिए ताकि सेहत स्वस्थ रह पाए । सर्दियों में सही व्यायाम करना महत्त्वपूर्ण होता है । सही समय पर, सही तरीके से प्रमाणित मात्रा में बिना अतिरेक किया गया व्यायाम ही स्वास्थ्य की कुंजी होता है। व्यायाम के गलत अंदाज या अतिरेक से शरीर को लाभ के बजाय हानि पहुंचा सकता है। शरीर को स्वस्थ बनाने के बजाय रोगी बना सकता है।

सर्दियों में व्यायाम करने का सही तरीका :

1). वार्म-अप : सर्दियों में मांसपेशियों में अकड़न आती है इसलिए सर्वप्रथम वार्म-अप करना अत्यावश्यक है।

2). दौड़ना : हमारे शरीर की हर कोशिका ऐक्टिव होनी चाहिए, रक्तप्रवाह ठीक होना चाहिए। इसके लिए चलना, दौड़ना सहायक होगा।

3). पानी : सर्दियों में प्यास कम महसूस होती है, इसका मतलब यह नहीं कि पानी कम पीएँ। सर्दियों में भरपूर पानी पीएँ । व्यायाम के साथ पानी अवश्य पीएँ। सर्दियों में खूब चलें। चलना सबसे अच्छा व्यायाम है। सर्दियों में बीमारी को दूर रखना बिलकुल कठिन नहीं है यदि आप पूर्ण तैयार हों तो। कुछ महत्त्वपूर्ण कदम अपनाकर आप अपना कार्य पूर्ण उत्साह से कर पाएंगे।

4). गर्म कपड़े : सर्दियों में गर्म कपड़े पहनें। अपने आपको गर्म रखने का यह मूल उपाय है। अपने पसंदानुसार गर्म कपड़ों का चयन करें। बाहर जाते समय गर्म कपड़े साथ रखें, लौटते वक्त जरूरत महसूस होगी।

5). आहार : सर्दियों में घर का बनाया गरमा-गरम भोजन ही करना चाहिए। इससे आप सर्दी से बच सकते हैं क्योंकि गर्म तासीर का अन्न आपको शरीर को आवश्यक उष्मांक की पूर्ति कर देगा। गर्म सब्जियों का सूप, दाल, सुबहसवेरे डायफ्रुट का हलवा आपको गर्माहट देगा। साथ ही अपने आहार में अँटी ऑक्सिडंट पदार्थों का समावेश करें। विटामिन ‘सी’ की मात्रा बढ़ाएँ। रसदार फल लें। खट्टे फलों के रस में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में प्राप्त होता है। लोगों में यह मान्यता है कि नींबू, संतरा आदि फलों के सेवन से सर्दियों में कफ, सर्दी-खाँसी होती है। यह मान्यता गलत है। विटामिन सी आपकी प्रतिकार शक्ति को बढ़ाकर रोगों से बचाव करता है।

6). स्वच्छता : इन्फेक्शन से बचने के लिए स्वच्छता पर पूर्ण ध्यान दें। इफेक्शन एक से दूसरे तक बड़ी आसानी से फैलता है इसलिए हाथ की सफाई पर ध्यान दें।

7). मद्यपान : मद्यपान कम करें। सर्दियों में मद्यपियों का मद्यपान बढ़ जाता है और कभी-कभार मद्य प्राशन करनेवाले भी ज्यादा लेने लगते हैं जो स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं ।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!
Share to...