सर्दियों के लिये ब्यूटी टिप्स :

शीतलहर का सर्वाधिक दुष्प्रभाव शुष्क त्वचा पर होता है और जरा-सी असावधानी के कारण त्वचा फटने लगती है। कई बार त्वचा फट जाने से रक्त भी निकल जाता है | चेहरे के साथ-साथ शरीर के विभिन्न अंगों-हाथ, पाँव, पीठ और गरदन की भी देखभाल करनी पड़ती है। शीतलहर के दुष्प्रभाव के करण प्रायः त्वचा का रंग गिर जाता है, इसलिए शरीर की त्वचा को ढकने का हर सम्भव प्रयत्न करें |

• सर्दियों में चेहरे पर क्या लगाएं-शुष्क त्वचा होने पर साबुन का प्रयोग कम से कम कीजिए | कोल्ड-क्रोम और आलिव ऑयल द्वारा त्वचा की खुश्की काफी हद तक दूर की जा सकती है । लेकिन इससे पहले चेहरे की डीप-क्लीनजिंग अवश्य कीजिए ।

• डीपक्लीनजिंग करने के लिए साफ रूई को पानी में गीला कर, निचोड़ ले और उस पर क्लीनजिंग मिल्क लगा कर चेहरे व गरदन की त्वचा पर अच्छी तरह रगड़ कर पोछिए |

• क्लीनजिंग-मिल्क के रूप में कच्चा दूध प्रयोग करने से प्रायः त्वचा पर अनावश्यक रोम उत्पन्न होने का डर रहता है । चेहरे की सफाई के लिए टमाटर और रसभरियों का रस श्रेष्ठ होता है |

• रात को सोने से पहले श्रृंगार साफ करने के बाद चेहरे पर पानी प्रयोग में नहीं लाना चाहिए बल्कि क्लीनजिंग के बाद चेहरे को गीले तौलिये से पोछ डालना चाहिए | तौलिया गरम पानी में भिगो कर अच्छी तरह निचोड़ कर गीला किया जा सकता है। उसके बाद स्किनटानिक में थोड़ा-सा बादाम रीगन मिलाकर त्वचा की मालिश करने से विशेष लाभ होता है । मालिश कम से कम दस मिनट कीजिए, जिससे क्रीम त्वचा में जज्ब हो सके ।

• स्किन टानिक बजार से तैयार खरीदा जा सकता है अथवा घर में भी तैयार किया जा सकता है । घरेलू विधि दवारा स्किन टॉनिक बनाने के लिए पचास ग्राम गेंदे के फूलों की पंखुड़ियों को आधा लिटर पानी में मिलाकर स्टेनलेस स्टील के बर्तन में धीमी आँच पर पकाये । बर्तन ढक कर रखना चाहिए ताकि भाप बर्तन में ही रहे । अब शुद्ध मोम पिघला कर पंखड़ियों वाले घोल में मिलाइए और मध्यम आँच पर लगभग आधा घण्टा पकाइए | क्रीम ठंडी होने पर शीशी में भर लें । इस प्रकार क्रीम के रूप में स्किन टानिक तैयार हो जाता है |

• शीत ऋतु में कोल्ड क्रीम की काफी खपत होती है । घरेलू विधि द्वारा कोल्ड क्रीमें तैयार करने के लिए खीरा छील कर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। अब चार भाग बादाम रोगन में एक भाग शुद्ध मोम मिलाकर हल्की आँच पर रखें । घोल अच्छी तरह मिल जाने पर खीरे के टुकड़े मिलाइए और हल्की आँच पर लगभग पौन घण्टा पकने दीजिए। खीरे के टुकड़ों को मात्रा घोल से एक चौथाई होनी चाहिए | क्रीम पकाते समय धीरे- धीरे हिलाती रहें । क्रीम सुगन्धित बनाने के लिएआँच पर पकाते समय उसेमें थोड़ा-सा इत्र मिला दें ।

• जाड़े के दिनों में हाथों, बाहों और शरीर के अन्य खुले अंगों पर हैण्ड लोशन द्वारा मालिश करने से त्वचा का गिरा हआ रंगें फिर से निखरने लगता है । इसेसे रसोई घर में कम करते समयें हाथ नहीं फटते ।

• नींबू के रसे में थीड़ी-सी ग्लिसरीन और गुलाब जल मिलाकर हैण्ड लोशन घर में बनाया जा सकता है। उँगलियाँ मुलायम रखने के लिए कलाई के अगले भाग और उँगलियों पर मलाई मलनी चाहिए।

• सरसों, बादाम रोगन या जैतून के तेल से शरीर की मालिश करके थोड़ी देर धूप-सेवत से सारे शरीर की खुश्की दूर हो जाती है। धूप-स्नान करने के थोड़ी देर बाद गुनगुने जल से स्नान करने से थकान उतरती है और शरीर की शिराओं में रक्त-संचार तीव्र हो जाता है |

• शष्क हवा के दुष्प्रभाव से आपके होठ न फटें, इसके लिए जरूरी है कि रात को सोते समय होंठों पर वेसलीन अथवा कोल्ड क्रीम हल्के से मला जाये । फटे हुये होठों पर चैपस्टिक लगाने से भी लाभ होता है ।

( और पढ़ेनिखरी त्वचा पाने के सबसे असरकारक 15 घरेलु नुस्खे )

शीत ऋतु में त्वचा की रक्षा के लिए कुछ सुझाव इस प्रकार है :

✦ साबुन का इस्तेमाल नहीं कीजिए, हाँ, यदि आपकी त्वचा तैलीय है,तो दिन में केवल एक बार साबुन लगा कर चेहरा धोना चाहिए ।

✦ शुष्क त्वचा होने पर क्लीनजिंग क्रीम द्वारा चेहरा सफ करें तैलीय त्वचा पर स्किन टानिक इस्तेमाल करना चाहिए ।

✦ अधिक गरम जल से चेहरा नहीं धोना चाहिए ।

✦ त्वचा पर मोइश्चराइजर लगाने से त्वचा की शुष्कता कम होती है ।

✦ रात को सोने से पहले कोल्ड क्रीम अथवा स्किन टानिक से चेहरे की मालिश करना न भूलें ।

✦ यदि चेहरे पर मुँहासे हों, तो कम से कम श्रृंगार-प्रसाधन लगाइए ।

( और पढ़ेगोरा होने के 16 सबसे कामयाब घरेलु नुस्खे )

त्वचा का सौन्दर्य निखारने के कुछ अन्य उपाय :

✥ सरदियों की खुश्क हवाओं से त्वचा अक्सर फट जाती है। इसके लिए मैदे में थड़ा दूध मिलाकर पेस्ट बनायें और चेहरे पर मलें । मैल की बत्तियाँ उतर आयेंगी और त्वचा मुलायम हो जायेगी ।

✥ यदि आप के चेहरे की त्वचा बहुत शुष्क व खुदरी है, तो तरबूज़, कहू, खीरा और खरबूजा इन चारों की गिरियाँ बराबर मात्रा में लेकर दूध में बारीक पीसे लें। अब इसे मलाई में फेंट कर चेहरे पर मलें। और एक घण्टे बाद चेहरा धो डालें ।

✥ सरसों के उबटन से भी त्वचा का रंग निखरता है। शुद्ध सरसों को बारीक पीसे कर दूध या पानी में लेई-सी बना लें । इसके प्रतिदिन प्रयोग से त्वचा की रंगत निखर आयेगी ।

✥ सिरका और पानी बराबर मात्रा में मिलाकर रूई दवारा चेहरे की त्वचा पर लगाइए । यदि त्वचा अधिक शुष्क हो, तो घोल लगाने के बाद कोल्ड क्रीम से हल्की मालिश करें ।

✥ स्नान करते समय पानी में एक चम्मच जैतून का तेल मिला देने से शरीर की त्वचा का आकर्षण बढ़ने लगता है ।

✥ यदि शरीर की त्वचा अधिक शुष्क हो, तो स्नान करने से लगभग पन्द्रह मिनट पहले हल्के गर्म जैतून के तेल से सारे शरीर को मालिश करें ।

✥ गरमियों के मौसम में लू से बचने के लिए लाइम वाटर और अलसी का तेल बराबर मात्रा में मिलाकर चेहरे की त्वचा पर लगभग पन्द्रह मिनट लगाये रखें, लेकिन इसे बात का ख्याल रखें कि घोल आँखों में न जाने पाये।

✥ शुष्क त्वचा के लिए एक विशेष उपयोगी घोल इसे प्रकार बनाया जा सकता है । एक चम्मच बादाम रोगन में दस चम्मच ठण्डा कच्चा दूध और थोड़ी-सी चीनी मिलाकर फेंटें और रूई के फाहे। दवारा त्वचा पर लगा कर लगभग पन्द्रह मिनट के लिए छोड़ दें. फिर टेमिड जल से धो डालें ।

( और पढ़ेचेहरे की झुर्रियां हटाने के 20 कुदरती आसन उपाय)