सुस्ती थकान दूर करने के आसान उपाय, रहेंगे तरोताजा

Home » Blog » Health Tips » सुस्ती थकान दूर करने के आसान उपाय, रहेंगे तरोताजा

सुस्ती थकान दूर करने के आसान उपाय, रहेंगे तरोताजा

थकान से पाइए निजात :

अक्सर ऐसा होता है कि आप रात में अच्छी नींद लेने के बावजूद सुबह पूरी तरह ताजा महसूस नहीं करते। पूरे आराम के बाद भी आप अपने को थका और बुझा हुआ-सा पाते हैं। शक्ति और उत्साह के दूर भाग जाने पर आपको लगता है कि जीवन में फिर जान फेंकना असंभव है। आप इस दमघोंटू अनुभव से पहले नहीं गुजरे और यह समझ भी नहीं पा रहे कि अब क्या करना चाहिए। यहाँ थकान दूर करने के कुछ उपाय दिए जा रहे हैं :

1-नियमित रूप से टहलें :

अपने दिन की शुरुआत तीस या पैंतीस मिनट तेज टहलकर करें। इससे आपके शरीर का इंजन चुस्ती से चलने लगेगा। दरअसल व्यायाम शरीर और दिमाग के लिए शक्ति का आश्चर्यजनक स्रोत है। दैनिक जीवन में नियमित व्यायाम की आदत डालें और इस आदत को बनाए रखें। आपको जल्दी ही इसके फायदे नजर आने लगेंगे।
दिन-भर के कार्यक्रम में जब भी लगे कि आप थकने लगे हैं तो पाँच मिनट के लिए टहलने निकल जाएँ। इससे आपकी खोई हुई स्फूर्ति आपको पुनः मिल सकती है। यह संभव न हो तो कुछ हलके-फुलके, शरीर को स्ट्रेच करनेवाले व्यायाम ही चार-पाँच बार कर लें। आपको अच्छा लगेगा और शरीर की सारी सुस्ती दूर हो जाएगी।

( और पढ़ेसुबह की सैर करने के चमत्कारी फायदे )

2-कभी भी समय के दबाव में काम न करें :

अपना दैनिक काम सदा समय से शुरू करें। हमेशा पाँच मिनट का अतिरिक्त समय लेकर चलें,
आप ट्रैफिक जाम में भी लेट हो सकते हैं, यह भी हो सकता है कि किसी दूसरे की देरी के कारण ही आपको देर हो जाए। हबड़ा-दबड़ी करने की बजाय अच्छा यही है कि बाकी बचे समय को देखते हुए अपना कार्यक्रम दोबारा तैयार करें। कुछ काम आगे के लिए मुल्तवी कर दें। भागदौड़ में काम करने से ऊर्जा नाहक ही नष्ट होती है।

3-हर दिन के लक्ष्य की स्पष्ट रूपरेखा तैयार करें :

रोज सुबह कुछ समय निकालकर दिन-भर के महत्त्वपूर्ण कार्यों की सूची बनाएँ। निश्चित करें कि आज आप क्या करना चाहते हैं और प्रत्येक कार्य की क्या प्राथमिकता है। साथ में यह कोशिश भी रखें कि अपने कार्यक्रम में विविधता और नयापन ला सकें। मगर जब-तब कार्यक्रम बदलना पड़े, इसे उत्साह के साथ स्वीकार करें, और परेशान न हों।

4-एक समय में एक ही काम पकड़ें :

आपका यह सोचते रहना कि ‘मुझे इतना कुछ करना है और इसे मैं कैसे पूरा कर पाऊँगा, इससे निबटने का एक सरल तरीका यही है कि अपने कामों की एक सूची बनाइए और इस पर वरीयता-क्रम के अनुसार अमल कीजिए।

5-गहरी साँस लें :

योगियों और संन्यासियों ने यह राज हजारों वर्ष पहले जान लिया था। आप भी यह सरल युक्ति आजमाकर देखें। जब थकान घिर आए तो उसे दूर भगाने के लिए लगातार तीन बार गहरी साँस लें। साँस को एक ही बार में तेजी से बाहर छोड़ें और फिर मुँह बंद करके नाक से लंबी साँस अन्दर भरें-एक से बारह तक की गिनती करते हुए। फिर एक से छह तक की गिनती बराबर समय के लिए साँस को रोके रखें। उसके बाद एक से छह तक की गिनती करते हुए साँस को बाहर की तरफ छोड़ें।
इस प्रक्रिया को तीन बार दोहराएँ। आप अपने आपको तरोताजा और पुनः स्फूर्ति से भरा हुआ महसूस करेंगे।

6-वजन नियंत्रित रखें :

अपने वजन को नियंत्रित रखें। अगर आप वजन को बढ़ने देते हैं तो तय मानिए कि प्रत्येक अतिरिक्त किलोग्राम वजन । आपको थकाने का काम करेगा। वजन बढ़ा हुआ हो तो उसे कम करें, आपको स्वयं ही अंतर महसूस होगा।

7-ठीक ढंग से भोजन करें :

भोजन की उपेक्षा न करें। समय से भोजन करें। हल्का भोजन लें। संपूर्ण आहार थकान को दूर भगाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बेकार की चीजें न खाएँ। कम वसा की वस्तुएँ, ताजा फल और सब्जियाँ ही लेने की कोशिश करें।

( और पढ़ेभोजन करने के 33 जरुरी नियम )

8-नींद जरूरी है :

रोज रात में छह से आठ घंटे की नींद लें और यदि दिन में झपकी लें तो कम समय के लिए।
रात में बहुत देर तक जागना और थोड़ी-थोड़ी देर के लिए सोना आपको थकान ही देगा, लेकिन जरूरत से अधिक भी न सोएँ। अगर आप अधिक सोते हैं तो सुबह सिर भारी और चक्कर आता महसूस होगा।

9-संगीत को साथी बनाएँ :

जिस संगीत को आप बहुत पसंद करते हैं वह तनाव और थकान को दूर करने में सहायक साबित हो सकता। है। इसकी धुन में खुद को सराबोर कर दीजिए और तरोताजा हो जाइए।

10-हँसिए और खिले रहिए :

अभी भी ‘हँसना’ एक बहुत बड़ी दवा माना जाता है। इसलिए आप भी हँसना शुरू कीजिए और इसका आनंद लीजिए। एक अच्छी हँसी आपके मानसिक व शारीरिक विकारों को दूर करने में सहायक होगी।

( और पढ़ेहँसने के अनोखे फायदे और स्वास्थ लाभ)

11-वही काम करें, जिससे आपको खुशी मिलती हो :

पढ़ने का समय निकालिए, सिनेमा देखने जाइए, पिकनिक मनाइए, मित्रों से मिलने का समय निकालिए या फिर ड्राइव पर निकल जाइए–कुल मिलाकर यह दिमाग से निकाल दीजिए कि जीवन केवल जुते रहने का नाम है। आराम करना हमेशा ही स्फूर्तिदायक होता है; किन्तु जरूरत से ज्यादा नहीं।

12-सकारात्मक सोच :

हमेशा सकारात्मक सोच रखिए। यह आपके दिमाग को स्फूर्ति के सागर की तरफ ले जाएगी। आप अपने आपको हर मुश्किल में प्रेरित महसूस करेंगे और हर काम आपकी मरजी के मुताबिक होगा।

2019-01-23T15:57:48+00:00By |Health Tips|0 Comments

Leave A Comment

one × 5 =