भिंडी के फायदे, गुण, उपयोग और नुकसान – Bhindi ke Fayde aur Nuksan in Hindi

Last Updated on November 8, 2023 by admin

भिंडी क्या है ? : What is Lady Finger in Hindi

bhindi kya hai

भिंडी बहुत ही पौष्टिक फाइबर की अधिकता वाली सब्जी है। भिंडी का उपयोग साग ,सूप, सब्जी, कढ़ी तथा रायता आदि बनाने में किया जाता है।

भिंडी दो प्रकार की होती है – कांटेदार भिंडी तथा नरम भिंडी। कांटेदार भिंडी की अपेक्षा नरम भिंडी अधिक लाभकारी और पौष्टिक होती है। इसमें से रेशे निकलते हैं तथा ये रेशे चिकने होते हैं।

भिंडी का पौधा कैसा होता है ? :

  • भिंडी का पौधा – भिंडी का पौधा 2 से 5 फिट तक ऊंचा होता है ।
  • भिंडी के पत्ते – इसके पत्ते बड़े और चौड़े होते हैं।

भिंडी का पौधा कहां पाया या उगाया जाता है ? : Where is Lady Finger Plant Found or Grown?

भिण्डी का मूल वतन, अफ्रीका माना जाता है। आजकल इसका भारतवर्ष में भी भारी मात्रा में उत्पादन होता है।

भिंडी के पौधे का उपयोगी भाग : Beneficial Part of Lady Finger Plant in Hindi

फल और मूल (जड़)

भिंडी के गुण : Bhindi ke Gun in Hindi

bhindi ke aushadhi gun

  • भिंडी की तासीर: यह पचने में भारी तथा वातकारक होती है।
  • कोमल नरम भिंडी भूख को बढ़ाती है।
  • यह पचने में भारी ,वातकारक तथा वीर्य को बढ़ाने वाली होती है।
  • यह बलगम (कफ) को दूर कर शरीर की शक्ति को बढ़ाती है।
  • भिंडी में कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम, गंधक, प्रोटीन, आयोडीन,पोटेशियम, लौहा, तांबा, विटामिन ‘ए’, बी.काम्पलेक्स तथा विटामिन ‘सी’ आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं।
  • भिंडी में प्रोटीन की मात्रा सबसे अधिक होती है।
  • इसकासाग (सब्जी) बनाने पर भी इसमें से विटामिन ‘ए’ नष्ट नहीं होता है ।

भिंडी का उपयोग : Uses of Lady Finger in Hindi

bhindi ka upyog in hindi

  • सब्जी के रूप में अपने देश में भिण्डी का बहुत उपयोग होता है । इसका साग पौष्टिक और उत्तमपथ्य है । कांटेदार भिन्डी की अपेक्षा नरम भिण्डी अधिक गुणकारी और पथ्यकर है।
  • जरठ भिन्डी साग के लिए निरूपयोगी है।
  • भिण्डी का सूप, नर्म साग, भिण्डी की कढ़ी, रायता आदि लोकप्रिय बानगियाँ बनती हैं।
  • पकी सूखी भिण्डी में से काले या बादामी रंग के और सफेद आँख वाले बीज निकलते है। इन बीजों को कभी-कभी सेंककर कॉफी के स्थान पर उपयोग किया जाता है ।
  • भिण्डी के में से रेशे निकाले जाते हैं।
  • कागज उद्योग के लिए भिण्डी उपयोगी है।
  • भिण्डी के भीतर का चिकना रस-रंग में डालने के कार्य में आता है ।

भिंडी के फायदे : Benefits of Lady Finger in Hindi

bhindi khane ke fayde hindi me

1. पेचिश में फायदेमंद भिंडी के औषधीय गुण (Benefits of Lady Finger in Dysentery Disease Treatment in Hindi)

भिंडी की सब्जी पेचिश के रोगियों के लिए लाभप्रद है । इसके सेवन कराने से रोग में लाभ मिलता है।

2. पेशाब की जलन में भिंडी के सेवन से लाभ (Lady Finger Cures Burning Urination in Hindi)

भिंडी पेशाब की जलन दूर करने मे अती गुणकारी है । जलन में सब्जी खाने से लाभ मिलता है । इसके सेवन से पेशाब खुलकर और साफ आता है।

3. धातु की पुष्टि में लाभकारी है भिंडी का प्रयोग

4 से 5 कोमल भिंडी नित्य सेवन करने से धातु पुष्ट होता है तथा कमजोर शरीर बलसाली बनता है ।

4. आमवात मिटाए भिंडी का उपयोग

भिंडी की जड़ के चूर्ण को मिश्री के साथ सेवन करने से आमवात रोग में लाभ होता है।

5. प्रमेह में लाभकारी भिंडी

भिंडी के ताजा बीज को पीसकर इसमें मिश्री मिला सेवन करने से प्रमेह की जलन नष्ट होती है

6. आंत उतरना (हार्निया) रोग में भिंडी का उपयोग फायदेमंद

भिंडी की जड़ को बुधवार के दिन कमर में बांधने से हार्निया रोग ठीक हो जाता है।

7. प्रदर रोग मिटाए भिंडी का उपयोग

सुखा आंवला ,विदारीकंद और भिंडी की जड़ 50-50 ग्राम तथा मुलेठी 25 ग्राम की मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण की 1 चम्मच मात्रा गाय के दूध के साथ नित्य लेने से प्रदर रोग नष्ट होता है।

8. मधुमेह में लाभकारी है भिंडी का प्रयोग

भिंडी के पीछे के हिस्से (डंडी) को काटकर हटा दें । बचे भाग को छाया में सुखाकर पीस लें तथा मैदा की छलनी से छान लें। इस चूर्ण में समान मात्रा में मिश्री मिलाकर नित्य सुबह खाली पेट ठंडे पानी से सेवन करने से मधुमेह (डायबिटीज) का रोग मिट जाता है।

भिंडी के दुष्प्रभाव : Lady Finger Side Effects in Hindi

आयुर्वेद मतानुसार, भिंडी के ये नुकसान भी हो सकते है –

  • भिंडी ठंडी प्रकृति के लोगों के लिए हानिकारक होती है।
  • वायु से ग्रस्त रोगी , मंदाग्नि और खांसी के रोगीयों को भिंडी का सेवन नहीं करना चाहिए ।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!
Share to...