रूसी (डैंड्रफ) के कारण, लक्षण, इलाज और परहेज | Dandruff Ke Karan, Lakshan, ilaj Aur Gharelu Upchar in Hindi

रूसी (डैंड्रफ) क्या है ? : What is Dandruff in Hindi

बालों में रूसी या डैंड्रफ (Dandruff) का होना आजकल एक आम समस्या हो गई है। यह स्वस्थ बालों की सबसे बड़ी परेशानी होती है। काले, लंबे व घने बाल होने के बावजूद डैंड्रफ से उनका आकर्षण खत्म सा हो जाता है। इस परेशानी में सिर खुजलाने या कंघी करने पर सफेद रंग के छोटे-छोटे कण बुरादे की तरह यहां-वहां फैले नजर आते हैं। यह एक संक्रामक रोग है, जो दूसरों के सौंदर्य प्रसाधनों के उपयोग या कंघी के इस्तेमाल से भी हो सकता है।
जितनी जल्दी इसका संक्रमण होता है, उतनी ही रफ्तार से यह फैलती भी है।

डैंड्रफ (रूसी) के प्रकार (Types of Dandruff in Hindi)

रुसी (डैंड्रफ) के निम्नलिखित प्रकार होते हैं –

डैंड्रफ (Dandruff) या रूसी तैलीय (Oily) और सूखी (Dry) दो प्रकार की होती है। रूखे बालों में सूखी रूसी होती है, जिसमें सिर खुजलाने से वह बालों पर नजर आने लगती है और नाखूनों में लग जाती है। जबकि बालों में बुरी तरह से चिपकी रहने वाली रूसी को तैलीय रूसी कहते हैं, जो पपड़ी बनकर सिर की त्वचा पर जमी रहती है।

रूसी (डैंड्रफ) के लक्षण (Dandruff Symptoms in Hindi)

rusi hone ke lakshan kya hai

रूसी (डैंड्रफ) रोग के प्रमुख लक्षणों में –

  • भूसी के समान छोटे-छोटे सफेद रंग के कणों का बालों में यहां-वहां फैले दिखाई पड़ना।
  • बालों का टूटना व झड़ना।
  • पपड़ी के जमने से बालों की जड़ों में हवा का न पहुंचना।
  • जिससे कारण बालों का कमजोर होकर टूटना।
  • सर में कंघी करने व खुजलाने पर भूसी झड़ना।
  • बालों मे खुजली का चलना।
  • बार-बार अतिशय खुजलाने से पैदा हुई गर्मी के कारण बालों का कमजोर होकर झड़ना । आदि देखने को मिलते हैं।

रूसी (डैंड्रफ) के कारण (Dandruff Causes in Hindi)

rusi hone ke karan kya hai

ऐसे कुछ प्रमुख कारक जो बालों में रूसी होने का कारण बन सकते हैं,वे इस प्रकार हैं –

  • सिर में रक्त संचार की गड़बड़ी का होना ।
  • सफाई के दौरान बालों में शैम्पू या साबुन का अंश रह जाना।
  • रासायनिक हेयर डाई लगाना।
  • असंतुलित भोजन खाना।
  • त्वचा की तेल ग्रंथियों (Oil glands) का अधिक क्रियाशील होना।
  • बालों में अधिक तेल लगाना।
  • बालों की सफाई की ओर ध्यान न देना।
  • रूसी वाले शख़्स के कधे, हेयर ब्रश, तौलिए (taulie) ,तकिए का इस्तेमाल करना ।
  • रोजाना कंघी से सिर के बालों का व्यायाम न होना ।
  • घटिया रासायनिक तेल, साबुन व शैम्पू का उपयोग करना ।

रूसी (डैंड्रफ) से बचाव के उपाय (Prevention of Dandruff in Hindi)

rusi hone par kya karna chahiye

क्या खाएं :

✔ पौष्टिक, सादा, सुपाच्य, संतुलित आहार लें।
गाजर, ककड़ी, खीरे, आंवला का रस सुबह-शाम पिएं।
✔ चौलाई, गाजर, प्याज, मेथी, चुकंदर, ककड़ी, पत्तागोभी की सब्जी का सेवन करें।
✔ दूध, दही, घी, मौसमी (Seasonal) मीठे फल खाएं।
✔ सोयाबीन, राजमा, चना जैसी अधिक प्रोटीन युक्त चीजें खाएं।
✔ गेहूं के पौधों ( गेहूं के जवारे) का रस एक कप की मात्रा में सुबह नियमित पिएं।

कया न खाएं :

✘ तले-भुने, भारी, गरिष्ठ, तेज मिर्च-मसालेदार, असंतुलित भोजन न खाएं।
✘ अधिक तैलीय भोजन से परहेज करें।
✘ अचार, अमचूर व ज्यादा खटाई न खाएं।

क्या न करें :

✘ सुगंधित तेलों का उपयोग बालों में न करें।
✘ अपना तौलिया, तकिया, कंघा, हेयर ब्रश अन्य को इस्तेमाल करने को न दें।
✘ डैंड्रफ (Dandruff) दूर करने में लापरवाही न बरतें।
✘ रासायनिक शैम्पू, हेयर डाई आदि का प्रयोग न ही करें।

रूसी (डैंड्रफ) का घरेलू इलाज (Dandruff Treatment in Hindi)

dandruff hone par gharelu nuskhe

रूसी निवारण में सहायक घरेलू उपाय –

दही (curd for dandruff in hindi)

एक कप दही (curd) में आधा कप बेसन (gram flour) को अच्छी तरह फेंट कर बालों में मल-मल कर लगाएं। लगाने के 2 घंटे बाद सिर को धो लें।

आंवला (gooseberry for dandruff in hindi)

रीठा, अरहर की दाल और आंवला को समान मात्रा में मिलाकर सिर में मलें। 2 घंटे बाद धोकर साफ करें।

नीबू (lemon juice for dandruff in hindi)

नित्य नहाने के एक घंटा पूर्व नीबू के रस की सिर में मालिश करें। इस उपाय से आपको निश्चित रूप से लाभ होगा।

नारियल (coconut oil for dandruff)

नारियल का शुद्ध तेल (coconut oil) बालों में नियमित रूप से लगाएं।

तुलसी और नीम (neem for dandruff in hindi)

रूसी से छुटकारा पाने का तरीका – तुलसी और नीम की पत्तियों को पानी में उबाल लें । पानी जब आधा रह जाए तो इसे छान लें व ठंडा होने पर इस पानी से बालों को धोएं। इस नुस्खे से कुछ ही दिनों में रूसी की समस्या दूर हो जाएगी।

मुल्तानी मिट्टी (multani mitti for hair dandruff in hindi)

मुल्तानी मिट्टी के पाउडर में सेब का सिरका मिला लें। इस पेस्ट को बालों में शैंपू की तरह इस्तेमाल करें। यह प्रयोग सप्ताह में दो बार करना लाभदायक रहेगा।

सफाई

रूसी (डैंड्रफ) से बचाव के लिए बालों की सफाई का पूरा ध्यान दें ।

1 thought on “रूसी (डैंड्रफ) के कारण, लक्षण, इलाज और परहेज | Dandruff Ke Karan, Lakshan, ilaj Aur Gharelu Upchar in Hindi”

Leave a Comment