होंठ के रंग से जाने आपकी सेहत के राज | What Your Lip Color Says About Your Health

Last Updated on August 22, 2019 by admin

आपके स्‍वास्‍थ्‍य का आईना हैं आपके होंठ :

हमारे होंठ हमारे पाचनतंत्र के शुरुआती अंग हैं। अर्थात हमारा पाचनतंत्र होंठों से शुरू होकर गुदा पर ख़त्म होता है। पाचनतंत्र के शुरुआती अंग होने के कारण ये पाचनतंत्र के दर्पण हैं। हमें अपने होंठों से स्वयं के स्वास्थ्य का भी पता चलता है। इनकी दशा बताती है कि हम शारीरिक एवं मानसिक रूप से कितने स्वस्थ हैं। आइए, हम जानते हैं कि होंठ हमें सेहत के बारे में क्या-क्या बताते हैं :

✦ एक स्वस्थ व्यक्ति के मुँह की चौड़ाई आकार में नाक की चौड़ाई के बराबर होना चाहिए। यदि मुँह की चौड़ाई नाक से अधिक होगी तो स्वास्थ्य कमज़ोर होगा, शारीरिक और मानसिक भी। वर्तमान पीढ़ियों के मुख की चौड़ाई पूर्व की पीढ़ियों से अधिक है क्योंकि हमारे मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य में लगातार गिरावट हो रही है।

✦ सामान्य मोटे तथा चौड़े होंठ बताते हैं कि व्यक्ति कार्बोहाइड्रेट, वसा तथा शुगर का ज़रूरत से अधिक सेवन कर रहा है।

✦ गुलाबी होंठ अच्छे स्वास्थ्य एवं बेहतरीन हृदय, श्वसन तंत्र एवं पाचन तंत्र की निशानी हैं।

✦ सफ़ेदी लिए हुए गुलाबी होंठ बताते हैं कि आप अत्यधिक डेयरी प्रोडक्ट्स, वसा, शुगर एवं मीठे फलों का सेवन करते हैं। ये यह भी बताते हैं कि आपका लिम्फेटिक सिस्टम कमज़ोर है तथा आपके हार्मोन असंतुलित हैं।
स्किन एलर्जी, हॉजकिन्स डिसीज़ तथा हृदय रोगों में भी होंठों का रंग ऐसा हो सकता है।

✦ सफ़ेद होंठ बताते हैं कि आप में खून की कमी है या ब्लड का सर्कुलेशन बाधित हो रहा है या हृदय अत्यधिक कमज़ोर है।

✦ एनीमिया एवं ल्यूकेमिया (श्वेत रक्त कणिकाओं की अत्यधिक वृद्धि) से भी होंठों का रंग सफ़ेद हो जाता है।

✦ गहरे पर्पल रंग के होंठ बताते हैं कि आपका ब्लड सर्कुलेशन बाधित है तथा रक्त कोशिकाएँ अत्यधिक-विकृत हो चुकी हैं। ऐसे होंठ लिवर,आँत, स्प्लीन, किडनी तथा फेफड़ों के रोग की तरफ़ भी इशारा करते हैं। कई किताबों में इस रंग के होंठों को मृत्यु सूचक माना गया है।

✦ गहरे लाल रंग के होंठ बताते हैं कि आप अत्यधिक प्रोटीन, वसा तथा नमक का सेवन करते हैं। इस रंग के होंठ बताते हैं कि आप में फेफड़े, लिवर, किडनी, गालब्लैडर, स्प्लीन तथा पैंक्रियाज के रोग होने की संभावना है या शुरुआत हो चुकी है।

✦ गहरे रंग के होंठ बताते हैं कि आपके रक्त में नमक तथा वसा की मात्रा अत्यधिक बढ़ गई है जिसके कारण ब्लड के सर्कुलेशन में बाधा होती है, केपेलरीज़ ब्लॉक हो जाती हैं जिसके कारण होंठों का रंग गहरा हो जाता है। इस रंग के होंठ किडनी, लिवर एवं गालब्लैडर के रोगों की तरफ़ भी इशारा करते हैं।

✦ ब्लड केपेलरीज़ के अत्यधिक फैल जाने के कारण होंठों का रंग चटख लाल हो जाता है। यह श्वसनतंत्र की खराबी का एक कारण है। ये यह भी बताता है कि रोगी का ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है तथा रक्त का प्रवाह शरीर में तेज़ है। होंठों का यह रंग शोथ एवं संक्रमण का भी सूचक है।

आगे पढ़ने के लिए कुछ अन्य सुझाव :
• फटे होंठ ठीक करने के घरेलू उपाय
खुबसूरत होठों के लिए घरेलू नुस्खे

error: Alert: Content selection is disabled!!
Share to...