सुपारी पाक के फायदे ,घटक द्रव्य ,गुण ,उपयोग और नुकसान | Supari Pak Benefits and Side Effects in Hindi

सुपारी पाक : Supari Pak

सुपारी पाक के फायदों की बात करें तो आयुर्वेदिक योगों में ‘सुपारी पाक’ एक ऐसा योग है जिसे आयुर्वेदिक चिकित्सक एक पौष्टिक एवं शक्तिवर्द्धक वृष्य योग (टॉनिक) के रूप में विशेष कर नारी रोगों की चिकित्सा हेतु महिलाओं को बड़े विश्वास के साथ सेवन कराते हैं।

सुपारी पाक, अनेक घटक-द्रव्य के मिश्रण से बनता है फिर भी इसके नामकरण में चूंकि एक घटक-द्रव्य ‘सुपारी’ का उपयोग किया गया है इसलिए इसे प्रमुख घटक द्रव्य मान कर, इसका संक्षिप्त परिचय पाठक-पाठिकाओं के लिए ज्ञानवर्द्धक होने से, सुपारी के विषय में कुछ पंक्तियां लिख रहाँ हूं।

सुपारी क्या है ? : Areca nut in Hindi

सुपारी को कौन नहीं जानता ? हर पान की दुकान पर सुपारी होती है जो पान में डाली जाती है, मेहमान का स्वागत पानसुपारी या सुपारी के साथ लौंग इलायची पेश करके किया जाता है। इसके वृक्ष बंगाल, आसाम, सिलहट, मैसूर, मलाबार तथा दक्षिण भारत के तटीय क्षेत्र में पाये जाते हैं।

विभिन्न भाषाओं में नाम :

✦ संस्कृत – पूगी फल ।
✦ हिन्दी – सुपारी ।
✦ मराठी – सुपारी।
✦ गुजराती – सोपारी।
✦ बंगला -शु पारी।
✦ तैलुगु – पोका ।
✦ तामिल – कमुगु, पक्कु गफकु ।
✦ कन्नड़ – अडिके ।
✦ मलयालम – अदक्का ।
✦ फ़ारसी – पोपिल।
✦ इंगलिश – बेटल नट पाम (Betel Nut Palm).।
✦ लैटिन – एरिका केटेचु (Areca catechhu).

सुपारी के औषधीय गुण :

☛ सुपारी भारी, शीतल, रूखी, कषाय (कसैली) रस वाली होती है ।
☛ यह मोह करने वाली, अग्निदीपक, रुचिवर्द्धक तथा कफ, पित्त का शमन करने वाली है ।
☛ सुपारी मुख की विरसता को दूर करने वाली होती है।
कच्ची सुपारी – कच्ची सुपारी भारी, अभिष्यन्दी तथा जठराग्नि व नेत्र ज्योति को कम करने वाली होती है ।
☛ चिकनी सुपारी त्रिदोष नाशक होती है ।
☛ जिस सुपारी का मध्य भाग दृढ़ हो वह सुपारी उत्तम होती है।

सुपारी के उपयोग : Areca Nut Uses in Hindi

✥ सुपारी का उपयोग पान में डाल कर या लौंग, इलायची या सौंफ के साथ किया जाता है।
✥ इसे कच्ची अवस्था में खाना हानिकारक होता है। बालू रेत में सेक कर या पानी में उबाल कर सुखा कर शुद्ध करके यानी सिकी हुई सुपारी खाना अच्छा होता है।
इसी सुपारी को लेकर अन्य कई द्रव्यों के साथ ‘ सुपारी पाक बनाया जाता है। यह सुपारी पाक बहुत पौष्टिक और बलवर्द्धक योग है और स्त्रियों के लिए विशेष रूप से उपयोगी तथा लाभकारी सिद्ध होता है क्योंकि यह उनके शरीर को बल पुष्टि देने के साथ कई योनि-रोगों को भी दूर करता है। दरअसल यह योग स्त्री-पुरुष दोनों के लिए बहुत ही लाभकारी और बलपुष्टि प्रदान करने वाला श्रेष्ठ टॉनिक (वृष्य) है।

सुपारी पाक के घटक द्रव्य : Supari Pak Ingredients in Hindi

✦ कपूर – 4 ग्राम
✦ तज – 3 ग्राम
✦ तेजपात – 3 ग्राम
✦ नागरमोथा – 3 ग्राम
✦ सूखा पुदीना – 3 ग्राम
✦ पीपल – 3 ग्राम
✦ खुरासानी अजवायन – 3 ग्राम
✦ छोटी इलायची के पिसे हुए दाने – 3 ग्राम
✦ तालीस पत्र – 5 ग्राम
✦ वंशलोचन – 5 ग्राम
✦ जावित्री – 5 ग्राम
✦ सफेद चन्दन – 5 ग्राम
✦ काली मिर्च – 5 ग्राम
✦ जायफल – 5 ग्राम
✦ सफ़ेद जीरा – 7 ग्राम,
✦ बिनौले की गिरी – 12 ग्राम
✦ लौंग – 12 ग्राम
✦ सूखा धनिया – 12 ग्राम
✦ पीपलामूल – 12 ग्राम
✦ नीलोफर का फूल -1 ग्राम,
✦ सूखा सिंघाड़ा – 30 ग्राम
✦ शतावर – 30 ग्राम
✦ नागकेशर – 30 ग्राम
✦ खिरनी के बीज – 40 ग्राम,
✦ बादाम – 50 ग्राम
✦ पिस्ता – 50 ग्राम
✦ बीज रहित मुनक्का – 50 ग्राम ,
✦ सुपारी – 1 किलो,
✦ शक्कर – 1 किलो,
✦ गो घृत – आधा किलो।

सुपारी पाक बनाने की विधि :

बीज रहित मुनक्का सिल पर पीस लें। सुपारी को कूट पीस व छान कर खूब महीन चूर्ण कर लें और गो घृत में मन्दी आंच पर अच्छी तरह सेक लें। शक्कर व शहद अलग रख कर सभी द्रव्यों को खूब अच्छी तरह कूट पीस कर छान कर महीन चूर्ण करके मिला लें और गोघृत के साथ मन्दी आंच पर अच्छी तरह सेक लें।

शक्कर की चाशनी बना कर, भुने हुए सभी द्रव्य चाशनी में डाल कर अच्छी तरह मिला कर ठण्डा होने के लिए रख दें। ठण्डा हो जाए तब शहद मिला कर बड़े थाल में फैला कर जमने के लिए रख दें। जम जाने पर बर्फी काट लें।

दूसरी एक सरल विधि भी है कि थाल में न जमा कर इसे कूट कर मसल कर, इसकी बर्फी न बना कर, बूरे के रूप में ही बर्नी में भर लें। बूरे के रूप में सुपारी पाक अधिक दिनों तक खराब नहीं होता और सेवन योग्य बना रहता है।

उपलब्धता : यह योग इसी नाम से बना बनाया आयुर्वेदिक औषधि विक्रेता के यहां मिलता है।

सुपारी पाक की मात्रा और सेवन विधि :

इसे 10-10 ग्राम सुबह शाम दूध के साथ सेवन करें। अगर दूध गाय का मिल सके तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

सुपारी पाक के फायदे : Supari Pak Benefits in Hindi

1- पुरुषों के लिए सुपारी पाक के फायदे – supari pak benefits for male
यह पाक पुरुषों के लिए वाजी कारक, पुष्टिकारक और वीर्य वर्द्धक होता है ।

( और पढ़े – वीर्य वर्धक चमत्कारी 18 उपाय )

2- स्त्रियों के लिए सुपारी पाक के फायदे – supari pak benefits for female
सुपारी पाक स्त्रियों के कई प्रकार के प्रदर रोग को नष्ट करने वाला, उन्हें अच्छा स्वास्थ्य और सौन्दर्य प्रदान करने वाला तथा स्त्रीपुरुष के बन्ध्यत्त्व दोष को दूर करने वाला है। स्त्रियों के लिए तो यह आयुर्वेद का वरदान ही है।

( और पढ़े – स्त्री रोग नाशक आयुर्वेदिक चिकित्सा और नुस्खे )

3- सौन्दर्य वृद्धि में सुपारी पाक के लाभ –
इसका सेवन करने से स्त्रियों के स्वास्थ्य व सौन्दर्य की वृद्धि तो होती ही है ।

( और पढ़े – गोरा होने के 16 सबसे कामयाब घरेलु नुस्खे )

4- बांझपन को दूर करने वाला –
सुपारी पाक के सेवन से बन्ध्यत्व (बांझपन) दूर होता है, गर्भाशय स्वस्थ, विकार रहित और सशक्त बनता है ।

( और पढ़े – बांझपन को दूर करने के 34 आयुर्वेदिक उपचार )

5- योनि मार्ग की शिथिलता को दूर करने वाला –
सुपारी पाक के सेवन से योनि मार्ग की शिथिलता दूर होती है जिससे वह संकुचित और स्वस्थ होता है, शरीर फुर्तीला और चेहरा ओजस्वी होता है, रंग रूप निखरता है।

6- नवजात शिशु की माता को बल व पुष्टि देनेवाला –
प्रसूति के बाद प्रसूता स्त्री द्वारा इसका सेवन करना अत्यन्त गुणकारी होता है।
इसके सेवन से प्रौढ़ा स्त्री भी युवती की तरह लावण्यमयी हो जाती है ।

( और पढ़े – गर्भवती महिला की देखभाल, खान पान एवं सावधानियां )

7- प्रदर रोग में सुपारी पाक के फायदे –
प्रदर रोग नष्ट होता है जिससे स्त्री, प्रदर रोग के कारण उत्पन्न होने वाली सभी पीड़ाओं और व्याधियों से मुक्त हो जाती है।

( और पढ़े – श्वेत प्रदर के 28 अचूक नुस्खे )

इस तरह सुपारी पाक स्त्रियों के स्वास्थ्य और सौन्दर्य की रक्षा करने वाला तथा शरीर को स्वस्थ तथा निरोग रखने वाला श्रेष्ठ लेडीज़ टॉनिक सिद्ध होता है।

पुरुषों के लिए भी यह अत्यन्त गुणकारी और सेवन योग्य टॉनिक है क्योंकि इसका सेवन करने से पुरुष को यौन शक्ति, बल पुष्टि और चुस्ती फुर्ती की प्राप्ति होती है इसलिए पति-पत्नी दोनों ही इस योग का सेवन कर लाभ उठा सकते हैं।

सुपारी पाक के नुकसान : Side Effects of Supari Pak in Hindi

इस दवा के कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं हैं फिर भी इसे आजमाने से पहले अपने चिकित्सक या सम्बंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से राय अवश्य ले ।