सौभाग्य शुंठी पाक के फायदे, घटक द्रव्य, उपयोग और नुकसान | Saubhagya Sunthi Pak Benefits in Hindi

सौभाग्य शुंठी पाक क्या है ? : Saubhagya Sunthi Pak in Hindi

स्त्री शरीर को चुस्त दुरुस्त और स्वस्थ रखने वाला एक उत्तम पौष्टिक योग है- सौभाग्य शुंठी पाक
। जिसका नाम ही इस बात की खबर दे रहा है कि यह योग स्त्रियों के स्वास्थ्य को सौभाग्यपूर्ण करने वाला है इसीलिए इसके नाम के साथ ‘सौभाग्य’ शब्द जोड़ा गया है। इस योग का सेवन कुमारी और विवाहिता दोनों वर्ग की स्त्रियों के लिए उपयोगी एवं लाभकारी सिद्ध होता है।

सौभाग्य शुंठी पाक के घटक द्रव्य : Saubhagya Sunthi Pak Ingredients in Hindi

✦ सोंठ – 750 ग्राम
✦ गो घृत – 750 ग्राम
✦ शतावर – 25 ग्राम
✦ विदारीकन्द – 25 ग्राम
✦ सफ़ेद मुसली – 25 ग्राम
✦ गोखरू – 25 ग्राम
✦ बला की जड़ की छाल – 25 ग्राम
✦ गिलोय सत्व – 25 ग्राम
✦ दालचीनी – 25 ग्राम
✦ छोटी इलायची – 25 ग्राम
✦ तेजपात – 25 ग्राम
✦ अजवायन – 25 ग्राम
✦ तालीसपत्र – 25 ग्राम
✦ अजमोद – 25 ग्राम
✦ सौंफ – 25 ग्राम
✦ रास्ना – 25 ग्राम
✦ पोहकर मूल – 25 ग्राम
✦ वंशलोचन – 25 ग्राम
✦ देवदारु – 25 ग्राम
✦ सोया-बीज – 25 ग्राम
✦ कचूर – 25 ग्राम
✦ जटामांसी – 25 ग्राम
✦ वच – 25 ग्राम
✦ मोचरस – 25 ग्राम
✦ नागकेशर – 25 ग्राम
✦ जावित्री – 25 ग्राम
✦ मेथी – 25 ग्राम
✦ मुलहठी – 25 ग्राम
✦ सफ़ेद चन्दन – 25 ग्राम
✦ लाल चन्दन – 25 ग्राम
✦ वायविडंग – 25 ग्राम
✦ खस – 25 ग्राम
✦ बांसा – 25 ग्राम
✦ धनिया – 25 ग्राम
✦ कायफल – 25 ग्राम
✦ नागरमोथा – 25 ग्राम
✦ शक्कर सवा किलो।

सौभाग्य शुंठी पाक बनाने की विधि :

सोंठ को खूब कूट पीस कर महीन चूर्ण कर इसमें गोघृत मिलाकर, मसलमसलकर, एक जान कर लें फिर मन्दी आंच पर थोड़ा सा भून लें। ज्यादा देर न भूनें। सभी द्रव्यों को भी कूट-पीस कर चूर्ण कर लें। शक्कर की बुरा बनाने जैसी गाढ़ी चाशनी बना कर भुनी हुई सोंठ और सब द्रव्यों का चूर्ण डालकर अच्छी तरह हिला चला कर मिला लें। इसे थालियों में फैला कर जमने के लिए रख दें। जब पाक जम जाए तब 20-20 ग्राम वज़न की बर्फी काट लें।

मात्रा और सेवन विधि :

सुबह-शाम 5-10 ग्राम से 20 ग्राम तक वज़न में, खूब चबा-चबा कर खाएं और ऊपर से कुनकुना गर्म दूध या पानी पिएं।

सौभाग्य शुंठी पाक के फायदे और उपयोग : Saubhagya Sunthi Pak Benefits in Hindi

1- सौभाग्य शुंठी पाक के सेवन से शरीर में बल-पुष्टि की वृद्धि होती है और त्वचा का रंग साफ़ होता है।

( और पढ़े – शरीर की कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय

2- यह योग स्त्रियों के लिए अमृत तुल्य है क्योंकि इसके सेवन से योनि-विकार , प्रदर, कष्टार्तव आदि रोग नष्ट होते हैं।

( और पढ़े – मासिक धर्म का दर्द कारण और इलाज )

3- प्रसव के पश्चात इस पाक का सेवन अवश्य करना चाहिए।

( और पढ़े – प्रसूति (डिलीवरी) के बाद खान पान और सावधानियां )

4- जिन नवयुवतियों का शरीर दुबला पतला हो, स्तन और नितम्बों का पर्याप्त विकास न हुआ हो, चेहरा भरा हुआ न हो और इस कारण हीनभावना से ग्रस्त हों उन्हें इस पाक का सेवन कर शरीर को सुडौल बनान चाहिए। इसके सेवन से स्तनों व नितम्बों का उचित विकास होता है ।

( और पढ़े – स्तनों(ब्रेस्ट) की देखभाल के उपाय )

5- सौभाग्य शुंठी पाक के सेवन से मासिक धर्म नियमित और बिना कष्ट के होता है ।

( और पढ़े – मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करने के घरेलू उपचार )

6- इसके सेवन से प्रदर रोग नष्ट होता है, गर्भाशय को बल मिलता है ।
7- सौभाग्य शुंठी पाक के सेवन से गर्भाधान होने में सहायता मिलती है और शरीर में शक्ति व स्फूर्ति बनी रहती है।
8- शिशु को दूध पिलाने वाली माता इसका सेवन करे तो शिशु को लाभ होता है।

इसे घर पर ही तैयार करना पड़ता अथवा किसी कुशल वैद्य से तैयार करवाना पड़ता है। यह योग बाज़ार में बना बनाया नहीं मिलता।

सौभाग्य शुंठी पाक के नुकसान : Saubhagya Sunthi Pak Side Effects in Hindi

यद्यपि इसके कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है फिर भी इसे लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें ।