मेथी पाक बनाने की रेसिपी (विधि) और इसके फायदे | Methi pak Recipe in Hindi

Last Updated on July 15, 2020 by admin

व्याधिनाशक मेथी पाक :

मेथी सर्वत्र प्रसिद्ध है क्योंकि यह सारे भारत में पैदा होती है। आयुर्वेद ने इसके प्रमुख गुण बताये हैं- एक तो वात (गैस) को शान्त करना और दूसरा कफ को हरना। आयुर्वेद का कहना है-
मेथिका वात शमनी श्लेष्मघ्नी ज्वरनाशिनी
“भाव प्रकाश निघण्टु” के अनुसार मेथी वात, कफ और ज्वर का शमन करने वाली है। इसके सेवन से वातजन्य और कफजन्य अनेक रोगों से मुक्ति प्राप्त होती है और ज्वर का नाश होता है। शीतकाल में सेवन योग्य, मेथी से बनाये जाने वाले, ‘मेथी पाक’ का परिचय प्रस्तुत है।

मेथी पाक के घटक द्रव्य :

मेथी दाना 3 किलो 200 ग्राम। हरड़, बहेड़ा, आंवला, धनिया, नागर मोथा, सोंठ, काली मिर्च, छोटी पीपल, कायफल, सेन्धानमक, काकड़ासिंगी, सफ़ेद जीरा, काला जीरा, पुष्करमूल, अजवायन, नागकेसर, तेजपात, तालीस पत्र, विडंग,जायफल, दालचीनी, हरी इलायची, जावित्री, लौंग, सौंफ, मुरा मांसी, मुलेठी,पदमाख, चव्य, सोया, देवदारु और भीमसेनी कपूर- प्रत्येक 100-100 ग्राम। शक्कर 12 किलो 800 ग्राम, शहद डेढ़ किलो और शुद्ध घी आधा किलो। आइये जाने मेथी पाक कैसे बनाते हैं

मेथी पाक बनाने का तरीका : Methi pak Recipe in Hindi

methi pak banane ki vidhi

  1. भीमसेनी कपूर और मेथी दाना अलग करके, हरड़ से लेकर देवदारु तक के सभी द्रव्यों को कूट पीस कर बारीक चूर्ण कर लें।
  2. मेथी दाना भी बारीक पीस लें और सब को खूब अच्छी तरह मिला कर थोड़ी देर मसलते रहें ताकि सब द्रव्य अच्छी तरह से मिल जाएं।
  3. शक्कर की चाशनी बना कर यह मिश्रण डाल कर तब तक हिलाते चलाते रहें जब तक सब द्रव्य अच्छी तरह से चाशनी में मिल न जाएं फिर चाशनी ठण्डी होने दें।
  4. ठण्डी हो जाए तब शहद व घी और अन्त में भीमसेनी कपूर पीस कर डाल दें और खूब हिला चला कर भली भांति एक जान कर लें और बर्नियों में भर दें।

मात्रा और सेवन विधि :

अपनी पाचनशक्ति के अनुसार इसकी मात्रा घटा बढ़ा लेना चाहिए। सामान्यतः 1-1 चम्मच सुबह व रात को सोते समय एक गिलास मीठे दूध के साथ लेना चाहिए।

मेथी पाक खाने के फायदे : Methi pak ke Fayde in Hindi

  • मेथी पाक का सेवन करने से होने वाले लाभ का क्या कहना ! यह जवान, प्रौढ़ और वृद्ध- तीनों अवस्था वालों के लिए सेवन योग्य है।
  • मेथी पाक वात जन्य रोगों जैसे जोड़ों का दर्द, गठिया, कम्पवात, आमवात, सन्धिवात, साइटिका, स्नायविक दौर्बल्य, क़ब्ज़, मधुमेह, मोटापा और यौन दौर्बल्य आदि के रोगियों के लिए अमृत तुल्य है ।
  • मेथी पाक शारीरिक शक्ति और स्वास्थ्य की रक्षा करने वाला उत्तम टॉनिक है।
  • विशेष कर प्रौढ़ एवं वृद्ध स्त्री पुरुषों को तो प्रति वर्ष शीतकाल के दिनों में 2-3 मास तक इसका सेवन करना ही चाहिए।

हमारे मित्र श्री विष्णु प्रकाशजी व्यास (व्यास फार्मास्युटिकल्स) बताते हैं कि उनके ताउजी 95 वर्ष की उम्र में स्वर्गवासी हुए और अन्तिम दिन तक वे 2-3 किलोमीटर पैदल चलते थे, जीवन भर कभी कोई तकलीफ़ या बीमारी नहीं हुई यहां तक कि कभी न तो सिर दर्द हुआ, न कभी हाथ पैरों में दर्द हुआ। उनकी खुराक भी ऐसी थी कि जवान भी नहीं खा सके। उनसे इस चमत्कार का राज़ पूछा तो वे बोले- मैं हमेशा से हर शीतकाल में पिसी मेथी व गुड़ मिला कर खाता आ रहा हूं। जब खाली मेथी व गुड़ खाने से ऐसा चमत्कार हुआ तो इतने द्रव्यों से युक्त मेथी पाक खाने का कैसा बढ़िया प्रभाव होगा यह स्वयं समझ सकते हैं। प्रौढ़ व वृद्ध स्त्री -पुरुषों के लिए फिर अन्य किसी टॉनिक की ज़रूरत नहीं। यह पाक कोई निर्माता नहीं बनाता इसलिए घर पर ही बनाना होगा।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!
Share to...