पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेश धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।। हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।" "ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।" पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

Articles

Home » Blog » Articles

श्रीमद भागवत पुराण में सापेक्षता का सिद्धांत | Theory of Relativity

2017-05-22T13:57:06+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

श्रीमद भागवत पुराण में सापेक्षता का सिद्धांत (Theory of Relativity) आइंस्टीन से हजारों वर्ष पूर्व ही लिख दिया गया [...]

मिसाईल का अविष्कार हम हिन्दुओं ने आज से 6000 साल पहले ही कर लिया था | Ancient Weapons

2017-05-19T17:44:16+00:00 By |Articles|

आजकल अंग्रेजी स्कूलों एवं अंग्रेजी प्रभाव के कारण.... हमारे हिंदुस्तान में लोगों के दिमाग में यह बात ठूंस -ठूंस [...]

महादेव के पाँच मुखों का क्या है रहस्य ? | Panchmukhi Shiva

2017-05-19T10:16:45+00:00 By |Articles|

★ क्या आप जानते हैं कि..... देवाधिदेव महादेव के पाँच मुखों का क्या रहस्य है......????? ★ पंचमुखी महादेव के [...]

लव जिहाद का शिकार सबसे अधिक क्यूँ बनती है हिन्दू बेटियां | Love Jihad

2017-05-19T17:49:57+00:00 By |Articles|

हिन्दू समाज की बेटियां सबसे अधिक क्यूँ लव जिहाद का शिकार बनती हैं?1. क्यूंकि न तो हिन्दू समाज अपनी संतानों [...]

महर्षि पाणिनि : कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के पिताश्री | Maharshi Panini : The Father of Computer Programming

2017-05-13T20:46:06+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के पिताश्री: महर्षि पाणिनि - Ancient Programming By Maharshi Panini <> महर्षि पाणिनि के बारे में बताने [...]

दुनिया जो यह आप देख रहे हो वह असली नहीं मात्र एक सपना है |

2017-05-12T17:34:06+00:00 By |Articles|

शास्त्रों में दिए गए इस महा वाक्य का क्या मतलब है;- “ब्रह्म (ईश्वर) सत्य, जगत मिथ्या” ? यह मात्र [...]

महर्षि कणाद परमाणुशास्त्र के जनक | Father of Atom Maharishi Kanada

2017-05-11T17:54:47+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

महान परमाणुशास्त्री आचार्य कणाद पूर्व 3500 ईसापूर्व से भी पहले हुए थे गुजरात के प्रभास क्षेत्र (द्वारका के निकट) [...]

प्राणियों पर हिंसा से प्राकृतिक आपदाएं (एक खास रिपोर्ट ) | The Link Between Natural Disasters and violence

2017-05-07T09:19:13+00:00 By |Articles|

<>    कतलखानों में जब जानवरों को कतल किया जाता है तो वह बहुत ही बेरहमी के साथ किया [...]

वेद क्या हैं ? what are the vedas in hinduism

2017-05-05T14:13:57+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Articles|

''वेदो अखिलो धर्म मूलम '' ... ''वेद धर्म का मूल हैं'' ... राजऋषि मनु के अनुसार 'वेद' शब्द 'विद' मूल [...]

अंडे की वह हकीकत जो आपसे छुपाई गई | You Will Never Eat Eggs Again After Reading This

2017-05-05T12:04:05+00:00 By |Ahar-vihar, Articles|

मादा स्तनपाईयों (बन्दर बिल्ली गाय मनुष्य) में एक निश्चित समय के बाद अंडोत्सर्जन एक चक्र के रूप में होता है [...]

महर्षि देवल( Devala Maharshi ) : धर्मान्तरीत हिन्दुओ के पुनरुथ्थान के जनक

2017-05-05T16:43:02+00:00 By |Articles|

मुसलमानों का इस्लाम के प्रचार और उनकी पैशाचीक महत्वाकांक्षाओ की पूर्णता हेतु आठवी शताब्दी में मीर कासिम के नेतृत्व [...]

महाभारत को काल्पनिक अब न बोल सकेगा कोई | Bhartiya History – Mahabharat

2017-05-04T17:56:05+00:00 By |Articles|

महाभारत के बाद से आधुनिक काल तक के सभी राजाओं का विवरण जितने भी लोग महाभारत को काल्पनिक बताते हैं.... [...]