पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया
Fugiat dapibus, tellus ac cursus commodo, mauris sit condim eser ntumsi nibh, uum a justo vitaes amet risus amets un. Posi sectetut amet fermntum orem ipsum quia dolor sit amet, consectetur, adipisci velit, sed quia nons.
Fugiat dapibus, tellus ac cursus commodo, mauris sit condim eser ntumsi nibh, uum a justo vitaes amet risus amets un. Posi sectetut amet fermntum orem ipsum quia dolor sit amet, consectetur, adipisci velit, sed quia nons.
Fugiat dapibus, tellus ac cursus commodo, mauris sit condim eser ntumsi nibh, uum a justo vitaes amet risus amets un. Posi sectetut amet fermntum orem ipsum quia dolor sit amet, consectetur, adipisci velit, sed quia nons.

Inspiring Stories(बोध कथा)

Home » Blog » Inspiring Stories(बोध कथा)

मेरी भ्रान्ति दूर हो गई …( सत्य कथा जरुर पढे )

2017-03-13T09:55:11+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

पढ़े कैसे धर्मान्तरित करने भारत आया हुवा पादरी खुद हिन्दू धर्म में दीक्षित हुवा पत्रकार शिवकुमारजी गोयल अपने संस्मरणों [...]

स्वामी विवेकानंद जी की अनोखी परीक्षा

2017-02-04T20:00:05+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

स्वामी विवेकानंद जी , बात उस समय की है जब विवेकानंद शिकागो धर्मसभा में भारतीय संस्कृति पर बोलने के लिए [...]

बुद्ध ने अत्यन्त ही शान्त स्वर में कहा- “ मैं भी तो किसान हूँ। मैं भी खेती करता हूँ (मधुर कथा )

2017-01-30T23:05:29+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

तथागत एकबार काशी में एक किसान के घर भिक्षा माँगने चले गये। भिक्षा पात्र आगे बढ़ाया। किसान ने एकबार [...]

अनूठे सिद्धयोगी श्रीतैलंगस्वामी (Trailanga Swami )जी के संस्मरण

2017-01-23T09:06:38+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

बहुत वर्ष पूर्व आंध्रप्रदेश के विशाखापत्तनम जिले के होलिया गाँव में एक उदार व प्रजावत्सल जमींदार हुए जिनका नाम [...]

हकीकत राय की हकीकत सभी को सुनना चाहिए-Veer Haqiqat Rai

2017-01-14T14:49:38+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

श्रेयान्स्वधर्मो विगुणः परधर्मात्स्वनुष्ठितात्। स्वधर्मे निधनं श्रेयः परधर्मो भयावहः।। ʹअच्छी प्रकार आचरण में लाये हुए दूसरे धर्म से गुणरहित भी [...]

मारकर भी खिलाता है !

2017-01-13T17:16:09+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

पूज्य बापू जी की प्रेरणादायी वाणी मलूकचंद नाम के एक सेठ थे। उनके घर के नजदीक ही एक मंदिर था। [...]

अदभुत है संत का विज्ञान

2017-01-13T15:36:44+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

साँईं श्री लीलाशाहजी महाराज के सत्संग में एक सज्जन आते थे। उनके विवाह को 17 साल हो गये थे पर [...]

मैं पुरानी अस्वस्थ परम्परा तोड़ना चाहता हूँ (प्रेरक जीवन प्रसंग )

2017-01-12T17:26:20+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

महामना मदनमोहन मालवीयजी के हृदय में अपनी राष्ट्रभाषा के प्रति अपार प्रेम था। एक बार वे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के दीक्षांत [...]

अपने रक्षक आप बनो-(राजा भर्तृहरि जीवन प्रसंग)

2017-01-12T16:27:06+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

राजा भर्तृहरि ने राजपाट का त्याग किया और गोरखनाथजी के चरणों में जा पहुँचे। उनसे दीक्षित हुए और उनकी आज्ञानुसार [...]

धन्य हैं ऐसे गुरुभक्त

2017-01-12T17:03:45+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

अपने सदगुरु की प्रसन्नता के लिए अपने प्राणों तक का बलिदान करने का सामर्थ्य रखने वाले शिवाजी धन्य हैं। "भाई [...]

जब तुलसी के पौधे से निकले दिव्य पुरुष

2017-01-09T11:07:12+00:00 By |Inspiring Stories(बोध कथा)|

बंगाल के फरीदपुर जिले के बाजितपुर गाँव में विनोद नाम का एक पवित्रबुद्धि बालक रहता था। हर कार्य में उसकी [...]