शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय ,आहार और उपचार | Immune Badhane ke Upay in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है ? (What is Immune System in Hindi)

इसमें कोई दो राय नहीं है कि स्वस्थ रहना आज के समय में सबसे बड़ी चुनौती है। लेकिन आपकी रोगप्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी मजबूत है, तो आप कठिन परिस्थितियों में भी स्वस्थ रह सकते हैं। क्योंकि बीमारियों व इंफेक्शन्स से लड़ने की हमारी क्षमता हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) पर ही निर्भर करती है। इम्यूनिटी के कमज़ोर होने पर हम बहुत जल्द बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं।

हमारे शरीर में प्राकृतिक रूप से बीमारियों से लड़ने व उन्हें नष्ट करने की क्षमता होती है। हमारे इम्यून सिस्टम में कई तरह की कोशिकाएं व तत्व होते हैं, जो किसी भी बाहरी आक्रमण पर क्रियाशील होकर उनसे हमारा बचाव करते हैं। “सफेद रक्त कोशिकाएं” हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली का महत्वपूर्ण अंग होती हैं। यदि हमारा इम्यून सिस्टम मज़बूत है, तो हम निरोगी और फिट रहते हैं।

अक्सर हम अपने आसपास ही देखते हैं कि ऋतु परिवर्तन होते ही कुछ लोग जल्दी सर्दी-बुख़ार या अन्य रोगों की चपेट में आ जाते हैं, जबकि कुछ लोगों पर मौसम ,स्थान या खानपान में बदलाव का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। इसका मतलब यही है कि जो लोग शीघ्र बीमार नहीं पड़ते, उनकी रोगप्रतिरोधक शक्ति काफ़ी सबल व मज़बूत होती है।

हमारी रोगप्रतिरोधक शक्ति काफ़ी हद तक हमारे खान-पान व दिनचर्या से जुड़ी होती है। अगर आप भी चाहते हैं कि आप हमेशा तंदुरुस्त और सेहतमंद रहें और बीमारियां आपके पास आने से भी डरे, तो आप भी ऐसी चीजों का सेवन करे, जिनसे आपकी इम्यूनिटी बढ़े।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आहार (Diet to Increase Immunity System In Hindi)

how to improve immunity in hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ (फूड्स) –

1). आंवला (Gooseberry For Immunity In Hindi)

स्वास्थ्य विशेषज्ञ हर दिन आंवला लेने की सलाह देते रहे हैं। खासतौर पर वह इसलिए क्योंकि आंवला वह फल है जो प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में कारगर है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए नित्य एक आंवला खाना चाहिए। विटामिन-सी से भरपूर आंवले का सेवन कच्चा, अचार के रूप में, चटनी, मुरब्बा या जूस के रूप में किया जा सकता है। आंवले मे विटामिन सी के साथ विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स और कैरोटीन भी भरपूर मात्रा मे पाया जाता है।

( और पढ़े – आंवला के फायदे और नुकसान )

2). हल्दी और काली मिर्च (Turmeric and Black pepper For Immune System In Hindi)

काली मिर्च के साथ मिलाए जाने पर हल्दी जादूई असर करती है। काली मिर्च में पिपेरिन की उपस्थिति में करक्यूमिन (हल्दी में शक्तिशाली यौगिक) सक्रिय होता है। इस दोनों को मिलाकर इसका सेवन इम्यूनिटी को बढ़ाता है।

( और पढ़े – हल्दी के 51 लाजवाब फायदे )

3). दही (Curd For Immunity in Hindi)

प्रोबायोटिक्स” जिन्हें हम अच्छें बैक्टीरिया भी कहते हैं, ताजे दही में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। दिन में दही का नियमित सेवन रोगप्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाता है।

( और पढ़े – दही खाने के 44 बेहतरीन फायदे )

4).लहसुन (Garlic Immunity Benefits in Hindi )

लहसुन में अलाइसिन नाम का तत्व होता है, जो संक्रमण (इनफ़ेक्शन) और बैक्टीरिया से लड़ता है। लहसुन का नियमित सेवन करने वाले व्यक्ति को सर्दी व अन्य इंफेक्शन्स होने की संभावना काफ़ी कम रहती है। यही नहीं, जो लोग एक हफ्ते में लहसुन की पाँच से छह कलियां सेवन करते हैं, उन्हें कोलोरेक्टल कैंसर होने की 30% तक संभावना व पेट के कैंसर की 50% तक संभावना कम होती है।

( और पढ़े – छोटे लहसुन के 13 बड़े फायदे )

5). अदरक (Ginger Immunity Booster in Hindi)

अदरक में प्रचुर मात्रा मे संक्रमण रोकने वाले तत्व पाए जाते हैं। इसलिए अपने नित्य आहार में इसे जरूर शामिल करें। शहद या सौंफ के साथ इसका सेवन करने से इसका परिणाम ज्यादा बेहतर और असरकारक होता है । दिन में दो से तीन बार अदरक का सेवन करने से आपका प्रतिरक्षा तंत्र (इम्यून सिस्टम) अच्छा रहेगा।

( और पढ़े – गुणकारी अदरक के 111 फायदे )

6). तुलसी (Tulsi Leaves for Immunity in Hindi)

रोगप्रतिरोधक शक्ति को मजबूत बनाने वाले तत्वों से भरपूर तुलसी बेहद गुणकारी है। रोजाना सुबह एक से दो चम्मच तुलसी का रस लेने से आपका इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर होता है। तुलसी के रस के साथ 3 से 4 काली मिर्च को एक चम्मच शहद में मिलाकर सेवन करने से आपके शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है।

( और पढ़े – तुलसी के 71 के अचूक घरेलू नुस्खे )

7). बादाम (Almond For Immune System in Hindi)

विटामिन ई से भरपूर बादाम भी हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता हैं। विटामिन ई इम्यूनिटी को बढ़ाता है, साथ ही बादाम में राइबोफ्लेविन और नायसिन भी होता है, जो तनाव के कारण हुई मानसिक छती से उबरने में मदद करता है।

( और पढ़े – बादाम खाने के 67 स्वास्थ्य वर्धक फायदे )

8). पालक (Spinach Health Benefits Immunity in Hindi)

सुपर फूड कही जाने वाली पालक कई तरह के पोषक तत्वों और विटामिनों से भरपूर आहार है। पालक का नियमित सेवन हमारी कोशिकाओं के निर्माण व डीएनए की मरम्मत में सहायता करता है। तंदुरुस्त रहने के लिए व इसका भरपूर फायदा लेने के लिए हल्का या कम पके रूप में पालक का सेवन करें।

( और पढ़े – पत्तेदार शाक खायें, शरीर को स्वस्थ व निरोगी बनायें )

9). गाजर (Carrot Juice for Immunity in Hindi)

नित्य गाजर (carrot) का जूस लेने से सर्दी और जुकाम नहीं होता। गाजर का जूस शरीर की रोगप्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने का काम करता है , और इससे हम रोग और संक्रमण (इन्फेक्शन्स) से बचे रहते हैं। गाजर की तासीर ठंडी होने पर भी सर्दीयों में इसका सेवन फायदेमंद होता है। लौंग और अदरक की ही तरह गाजर भी छाती व गले में जमा कफ को बाहर निकालने का काम करता है।

( और पढ़े – गाजर के 97 हैरान कर देने वाले जबरदस्त फायदे )

10). ओट्स (जई) (Oats increase Immunity in Hindi)

ओट्स (oats) में बीटा-ग्लूकैन होता है, जो एक प्रकार का फाइबर है, जिसमें एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज़ होती हैं और यह कई प्रकार की बीमारियों व फ्लू से हमारी रक्षा करता है। यह रोगप्रतिरोधक शक्ति (इम्यूनिटी) तो बढ़ाता ही है, साथ ही घाव को शीघ्र भरने में सहायता करता है और एंटीबायोटिक्स को भी और प्रभावशाली बनाने में मदद करता है।

11). मशरूम (Mushroom Boost Immunity in Hindi)

मशरूम एंटीऑक्सीडेंट्स और सेलिनियम (एक प्रकार का मिनरल) से भरपूर होता है। सेलिनियम की कमी से फ्लू की संभावना कई गुणा तक बढ़ जाती है। साथ ही इसमें राइबोफ्लेविन और नायसिन भी पाए जाते हैं, जो इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखते हैं।

रोगप्रतिरोधक शक्ति (इम्युनिटी) बढ़ाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली (Dietary Habits and Immunity In Hindi)

How to boost your immune system

रोगप्रतिरोधक शक्ति को सबल और मजबूत करने के लिए सबसे पहले आप स्वस्थ जीवनशैली को चुने , अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने के साथ ही निचे बताई कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें , जैसे –

  • हरी सब्ज़ियां और फलों का सेवन करें।
  • फलों को खाने व रसोई बनाने से पहले फलों व सब्ज़ियों को अच्छी तरह से धो लें ।
  • प्रतिदिन व्यायाम व योग करें।
  • मोटापे से बचें ,वजन को संतुलित रखें।
  • नमक का सेवन कम से कम करें।
  • ब्लड प्रेशर को यथासंभव सामान्य रखें।
  • गहरी पूर्ण नींद लें।
  • भोजन से पहले हाथों को जरूर धोएं।
  • धूम्रपान व शराब का त्याग करें।

इम्यूनिटी कमजोर होने का इलाज (Weak Immune System Treatment in Hindi)

how to increase immunity in hindi

जिन लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है उन्हें कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि वे संक्रमण और बीमारियों से बच सके व स्वस्थ जीवन जी सकें। इसके लिए –

हेल्दी डायट का करें सेवन (healthy diet for immune system in hindi)

प्रतिरक्षा तंत्र (इम्यून सिस्टम) को मजबूत करने के लिए अपने आहार में फलों और सब्जियों को अधिक मात्रा में शामिल करना चाहिए ताकि हमारे शरीर को भरपूर मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त हो सकें।

साफ-सफाई का ध्यान रखें (cleanliness and immune system)

भोजन बनाने से पहले व बाद में, भोजन करने से पहले और बाद में, खांसने व छींकने के बाद, नाक साफ करने, घाव को साफ करने, किसी रोगी व्यक्ति के संपर्क में आने, कचरे को छूने ,टॉयलेट उपयोग के तुरंत बाद और पालतू पशुओं को छूने के बाद अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से साफ जरूर करें।

तनाव को नियंत्रित करें (stress and immune system)

मानसिक तनाव और व्यर्थ की चिंता व्यक्ति के प्रतिरक्षा तंत्र (इम्यून सिस्टम) को कमजोर बना देती है। लिहाजा इस्से बचने के लिए ध्यान (मेडिटेशन) करें, मालिश करवाएं, अपनी पसंदीदा शौक को समय दें, मित्रों, रिश्तेदारों आदि के साथ मेल बनाए रखें।

रोजाना कसरत करें (yoga and immune system)

नियमित रूप से व्यायाम करना स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है इस्से आपका शरीर स्वस्थ रहता है। शरीर को मजबूत बनाने के साथ ही कसरत करने से तनाव के स्तर में कमी आती है।

पर्याप्त नींद लें (sleep time and immune system)

नींद की कमी का हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र पर वही असर पड़ता है जो मानसिक तनाव का होता है । पर्याप्त नींद न लेने से सफेद रक्त कोशिकाओं के सामान्य उत्पादन में कमी आती है जो हमारे इम्यून सिस्टम का सबसे अहम हिस्सा है । रात्रि में बड़ों के लिए रोजाना कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद बेहद जरूरी है। वहीं बच्चों की उम्र के हिसाब से 8 से 17 घंटे की नींद जरूरी है।

सप्लिमेंट्स का सेवन कर सकते हैं (supplements and immune system)

कई बार शरीर में कुछ विटामिन्स और मिनरल्स की कमी होने की वजह से हमारा प्रतिरक्षा तंत्र (इम्यून सिस्टम) कमजोर हो जाता है। लिहाजा आप अपने डॉक्टर से पूछकर सप्लिमेंट्स का सेवन कर सकते हैं ताकि इम्यून सिस्टम को सबल बनाया जा सके।

रोगीयों के संपर्क में आने से बचें

किसी भी तरह के संक्रमण से पीड़ित या रोगी व्यक्ति के बेहद पास जाने से बचना चाहिए।

Leave a Comment