सुंदरता बढ़ाने के लिए आहार – Sundarta Badhane ke Liye Aahar

सौंदर्य और आरोग्य का घना संबंध है। जहां आरोग्य पनपता है, वहीं सुंदरता उभरती है। स्वास्थ्य ही जहां बिगड़ा हो, वहां सौंदर्य अपने आप नष्ट हो जाएगा। चिरस्थायी सौंदर्य पाने के लिए आरोग्य संवर्धन अत्यंत आवश्यक है। वैदिक साहित्य, सुश्रुत, चरक, कौटिल्य शास्त्र व अमरकोश जैसे प्राचीन ग्रंथों में स्वास्थ्य और सौंदर्य प्राप्त करने के लिए बहुत सी क्रियाए बताई गई हैं। पुरातन काल से ही सौंदर्य को बहुत महत्व दिया जाता है। उन दिनों सौंदर्य प्रसाधनों में नैसर्गिक साधनों का उपयोग होता था।

सौंदर्य वर्धक आहार जो रखें आपको हमेसा जवान

sundarta badhane ke liye kya khaye –

व्यक्ति का सौंदर्य उसकी त्वचा, बालों, नाखून, आंखों, दांतों और शरीरयष्टि पर निर्भर करता है। शरीर के प्रत्येक हिस्से के लिए रोज के आहार में विशिष्ट घटकों की बहुत ही आवश्यकता होती है। यह सभी पोषकतत्व हमें नैसर्गिक रूप में आहार से प्राप्त होने चाहिए। हमें आहार पर विशेष ध्यान देना चाहिए न कि भिन्न सौंदर्य प्रसाधनों से चेहरे की त्वचा को खराब किया जाए क्योंकि याद रहे, सौंदर्य प्रसाधनों के लगातार इस्तेमाल से कुछ समय बाद चेहरे पर धब्बे आ सकते हैं, त्वचा शुष्क और सूखी होकर ढीली पड़ सकती है व आंखें निस्तेज होती हैं।

खूबसूरत त्वचा के लिए आहार (Diet for beautiful skin in Hindi)

khubsurat twacha kaise paye –

मुलायम व थोड़ी सी तैलीय त्वचा अच्छे स्वास्थ्य की प्रतीक है। व्यक्ति का रंग चाहे कोई भी हो पर उसका स्वास्थ्य यदि अच्छा है तो त्वचा पर तेज दिखता है। चमकती मुलायम त्वचा ही सौंदर्य का लक्षण है। उत्तम त्वचा के लिए हमारा खून अच्छा होना चाहिए। त्वचा का अच्छा रक्ताभिसरण होना जरूरी होता है। तभी त्वचा मुलायम रहती है।

☛ एनिमिया याने रक्तक्षय में शरीर से खून और लौह की कमी रहने पर त्वचा शुष्क, सूखी और फीकी दिखती है। चेहरे का रंग भी फीका सा जाना पड़ता है।

☛ जीवनसत्व ‘अ’ (Vitamin A) की कमी के कारण त्वचा सूखी और खुरदरी होती है। चेहरे पर धब्बे या बारीक दाने आ सकते हैं। ऐसी त्वचा को कीटाणुओं से संसर्ग होने का भय रहता है।

☛ निरोगी त्वचा के लिए अच्छे पोषक तत्व याने उत्तम प्रोटीन्स, लोह, आयोडिन जैसे क्षार और जीवनसत्वों की आवश्यकता होती है। लंबी अवधि तक इनकी कमी के कारण त्वचा पर दाग पड़ सकते हैं। वह बहुत अधिक तेलमय भी हो सकती है। होंठों के बाजू में चीर पड़ सकते हैं।

☛ जीवनसत्व बी 3 (Vitamin B-3) की कमी के कारण गलगंड रोग हो सकता है। इसके लिए रोज भोजन के पहले यीस्ट की 2 गोलियां नींबू पानी के साथ लें।

☛ त्वचा हमारे शरीर का संरक्षण करती है। यह पसीने द्वारा शरीर का मल भी बाहर फेंकती है। सर्दी में शरीर गरम और गर्मी में ठंडा होना चाहिए। इसलिए रोज सुबह की धूप शुद्ध हवा एवं पानी से संपर्क होना चाहीए।

☛ हरी पत्तेवाली सब्जियां, भरपूर फल, नींबू, आंवला, दूध, छाछ से शरीर में रक्त का संचालन सही होता है। उसी से त्वचा का सौंदर्य बढ़ता है।

☛ तरूणावस्था में चेहरे पर आनेवाले पिंपल्स से लड़के लड़कियां बहुत परेशान होते हैं। जिस उम्र में सुंदर त्वचा व मुलायम चेहरा उनका आकर्षण होते हैं, उस उम्र में मुंहासों के कारण वे त्रस्त हो जाते हैं। उनकी महत्वाकांक्षा और आत्मविश्वास घटने लगता है। इसका कारण उसी उम्र में उनकी यौन ग्रंथियों में बदलाव, गलत आहार, मीठे खाद्य पदार्थ, चर्बीयुक्त पदार्थ, तले हुए खाद्य पदार्थ, काजू, चॉकलेट जैसी चीजें अधिक खाना आदि है। इसलिए संतुलित आहार थोड़ा आराम, खुली हवा में नियमित व्यायाम आवश्यक है।

☛ त्वचा की झुर्रियां कम करने के लिए पैंटोथेनिक एसिड नामक ‘बी’ जीवनसत्व (Vitamin B) का प्रमाण बढ़ाने से फायदा होता है। इसके लिए –

  • मूंगफली, साबुत अनाज, दालें, दूध, दूध पाउडर, टमाटर, आलू वगरैह का सेवन करना चाहीए।
  • इसके अलावा टमाटर व ककड़ी का रस, बेसन, दूध, मेथीदाना पाउडर चेहरे की त्वचा पर लगाने से वह मुलायम आकर्षक व सुंदर बनती है।
  • खसखस व तिल भिगोकर-पीसकर मुंह पर लगाने से फायदा मिलता है।
  • प्रखर सूर्यप्रकाश से बचना चाहिए।

( और पढ़े – निखरी त्वचा पाने के सबसे असरकारक 15 घरेलु नुस्खे )

खूबसूरत बालों के लिए आहार (Diet for beautiful Hair in Hindi)

balo ko khubsurat banane ke liye kya karna chahiye –

लंबे, घने, काले व मुलायम बाल भारतीय स्त्री का आभूषण हैं। यह स्वास्थ्य का प्रतीक भी होते हैं। इसलिए इनके पोषण के लिए सभी 40 आवश्यक तत्व योग्य प्रमाण में मिलना आवश्यक है। इनमें 10 एमिनो अम्ल, 15 जीवनसत्व (Vitamins), 14 क्षार और 1 फैटी एसिड का समावेश होता है।

☛ प्रोटीन्स से ही बाल बनते व बढ़ते हैं। रोज के आहार में 50 से 60 ग्राम प्रोटीन्स हो। एक कटोरी दाल से केवल 5 ग्राम प्रोटीन्स मिलते है। यह दूध, दही, दाल, तेलबीज, द्विदल आदि से प्राप्त होते हैं।

☛ अंकुरित द्विदल खाने से प्रोटीन्स, ब जीवनसत्व (Vitamin B) प्राप्त होते है।

☛ ‘अ’ जीवनसत्व (Vitamin A) की कमी से बाल कड़े होते हैं। लौह, कॉपर आयोडिन, ब जीवनसत्व (Vitamin B) और प्रोटीन्स की कमी के कारण बाल झड़ते हैं। इन्हें काला व घना करने के लिए पैटेथेनिक एसिड, पैराएमिनो बेन्जाइक एसिड और इनोसिटॉल यह बी कॉम्प्लेक्स जीवनसत्व आवश्यक होते हैं, जो गेंहूं के जवारों का रस, हाथ कुटाई के चावल, समुद्र के मोटे नमक इत्यादि से प्राप्त होते हैं।

☛ हमें प्रतिदिन भरपूर हरे पत्तोंवाली सब्जियां, दूध, साबुत अनाज, दाल, फल, छाछ आदि का सेवन करना चाहिए। जहां तक हो सके, रेडीमेड खाद्य पदार्थ टालने चाहिए।

( और पढ़े – बालों को लंबा ,काला और घना करने के घरेलू उपाय )

आंखों को स्वस्थ रखने के लिए आहार (Best Foods for Eye Health in Hindi)

aankhon ko swasth rakhne ke liye kya karna chahie –

आंखें हमारे स्वास्थ्य का आईना तथा शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होती हैं। अतः इनकी विशेष देखभाल करनी चाहिए। आहार के सभी पोषकतत्वों, क्षार तथा जीवनसत्वों (Vitamins) का आंखों के स्वास्थ्य से गहरा संबंध है।

☛ जीवनसत्व ‘अ’ (Vitamin A) की कमी का सबसे अधिक बुरा असर आंखों पर ही होता है। विशेष रूप से बच्चों की आंखों को इस जीवनसत्व का लगातार प्राप्त होना अत्यंत आवश्यक होता है। इसलिए प्रतिदिन हरी पत्तों वाली सब्जियां, पीले नारंगी रंग के फल, शकरकंद आदि खाएं। साथ में दूध का भी सेवन करें।

☛ आंखों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक अन्य जीवनसत्व ‘ब’ (Vitamin B) की प्राप्ति के लिए रोज के आहार में भरपूर दूध, दही, छाछ, हरी पत्तों वाली सब्जियां, साबुत दालें, मुनक्का, अंजीर, खजूर, मक्खनआदि लें।

( और पढ़े – आंखों की देखभाल और सुरक्षा के घरेलू उपाय )

दांतों को स्वस्थ रखने के लिए आहार (Best Foods to Keep Teeth Healthy)

danto ko swasth kaise rakhe –

दांतो को स्वस्थ रखने के लिए कैल्शियम, फॉस्फोरस और जीवनसत्व ‘डी’ (Vitamin D) आवश्यक होते हैं। उचित आहार से हम उनमें लगने वाले कीड़ों व मसूडे के रोगों को टाल सकते हैं।

☛ शुभ्र-सफेद दांतों से चेहरे के सौंदर्य में बढ़ोतरी होती है। दांतों पर ही संपूर्ण शरीर का आरोग्य निर्भर है। मीठे, बहुत मुलायम खाद्य पदार्थ दांतो को खराब करते हैं।

☛ शक्कर, ब्रेड, पॉलिश के चावल आदि दांतो के दुश्मन हैं। मसूड़ों के संक्रमण में नमक के गर्म पानी के गरारे करें। मजबूत मसूड़ों और दांतो के लिए ‘क’ जीवनसत्व (Vitamin K) आवश्यक है।

( और पढ़े – दांतों को मजबूत व सुरक्षित रखने के 10 उपाय )

नाखूनों को स्वस्थ रखने के लिए आहार (Diet for Beautiful Nails in Hindi)

nakhuno ko swasth rakhne ke upay –

नाखून भी हमारे शारीरिक स्वास्थ्य के परिचायक होते हैं। रक्तक्षय में नाखून सफेद हो जाते है। नाखूनों का रंग गुलाबी और आकार गोल होना चाहिए।

☛ कैल्शियम रक्ताल्पता तथा जीवनसत्व ‘अ’ ((Vitamin A) की कमी से नाखून टूटने लगते हैं। अतः आहार में भरपूर प्रोटीन्स और कैल्शियम लें।

( और पढ़े – नाखून का रंग ,बनावट और आपका स्वास्थ्य )

देहयष्टि सुगठित शरीर का प्रभाव सभी पर पड़ता है। गलत आहार और व्यायाम के अभाव के कारण शरीर सुडौल नहीं रहता। संतुलित आहार से ही हमारे स्नायु तथा हड्डियां मजबूत होती है। इसके लिए भरपूर प्रोटीन्स, कैल्शियम व सभी जीवनसत्वों की आवश्यकता होती है।

Leave a Comment