पूज्य बापू जी का संदेश

ऋषि प्रसाद सेवा करने वाले कर्मयोगियों के नाम पूज्य बापू जी का संदेशधन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः। धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता।।हे पार्वती ! जिसके अंदर गुरुभक्ति हो उसकी माता धन्य है, उसका पिता धन्य है, उसका वंश धन्य है, उसके वंश में जन्म लेने वाले धन्य हैं, समग्र धरती माता धन्य है।""ऋषि प्रसाद एवं ऋषि दर्शन की सेवा गुरुसेवा, समाजसेवा, राष्ट्रसेवा, संस्कृति सेवा, विश्वसेवा, अपनी और अपने कुल की भी सेवा है।"पूज्य बापू जी

यह अपने-आपमें बड़ी भारी सेवा है

जो गुरु की सेवा करता है वह वास्तव में अपनी ही सेवा करता है। ऋषि प्रसाद की सेवा ने भाग्य बदल दिया

Adhyatma Vigyan

Home » Blog » Adhyatma Vigyan

हम तिलक (Tilak )क्यों लगाते है , क्या है इसका वैज्ञानिक महत्व

2017-01-14T17:26:13+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

ललाट पर दोनों भौहों के बीच विचारशक्ति का केन्द्र है। योगी इसे ʹआज्ञाचक्रʹ कहते हैं। इसे ʹशिवनेत्रʹ अर्थात् कल्याणकारी [...]

कलश पूजा क्यों की जाती है ?

2017-05-25T09:29:22+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

सनातन धर्म में कलश (जो प्रायः पीतल, ताम्बे या मिट्टी का) होता है जिस में पानी भरा जाता है. इसके [...]

भगवान को नारियल क्यों अर्पित किया जाता है ?

2017-01-03T15:00:52+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

आप देखेंगे की मन्दिर में आम तौर पर नारियल अर्पित किया जाता है. शादी, त्यौहार, गृह प्रवेश, नई गाड़ी [...]

हम नमस्ते क्यों करते है ?

2017-01-03T14:25:18+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

शास्त्रों में पाँच प्रकार के अभिवादन बतलाये गए है जिन में से एक है “नमस्कारम”. नमस्कार को कई प्रकार [...]

पूजा का कमरा घर में क्यों होता है ?

2017-01-03T14:12:35+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

घरो में पूजा के कमरे का अपना महत्त्व है. हर घर में पूजा का कमरा होता है जहाँ पर [...]

भगवान के सामने दीपक क्यों प्रज्वालित किया जाता है ?

2017-01-03T14:05:46+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

हर हिंदू के घर में भगवान के सामने दीपक प्रज्वालित किया जाता है. हर घर में आपको सुबह, या [...]

ॐ का उच्चारण क्यों करते है ?

2017-01-03T13:54:39+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Mantra Vigyan|

हिंदू धर्म में ॐ शब्द के उच्चारण को बहुत शुभ माना जाता है. प्रायः सभी मंत्र ॐ से शुरू [...]

सर्व सिद्धिदायी विजय काल

2017-01-03T08:43:21+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Mantra Vigyan|

दशहरा के दिन शाम को जब सूर्यास्त होने का समय और आकाश में तारे उदय होने का समय हो [...]

अकाल मृत्यु से बचने हेतु

2017-01-03T07:46:19+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Mantra Vigyan|

जो एक बार रोज सुबह घर से निकलते समय महा मृत्युंजय मंत्र जप कर के निकलता है , उसको [...]

सौभाग्य के लिए तिज

2017-01-03T07:31:34+00:00 By |Adhyatma Vigyan, Mantra Vigyan|

कोई रिक्ता तिथियाँ होती है महीने में, जैसे तृतीया, अष्टमी, त्रयोदशी | तृतीया तिथि की स्वामिनी माँ गौरी है, [...]

ग्रहण में क्या करें, क्या न करें ? Grahan me kya kare kya na kare

2017-08-07T09:34:07+00:00 By |Adhyatma Vigyan|

★    चन्द्रग्रहण और सूर्यग्रहण के समय संयम रखकर जप-ध्यान करने से कई गुना फल होता है। श्रेष्ठ साधक उस [...]