साइकिल चलाने के 9 बड़े फायदे – Health Benefits of Cycling in Hindi

साधारनतया लोग साइकिल को घुमने का मात्र एक साधन मानते हैं। किंतु यह अविश्वसनीय खोज लगभग 250 वर्षों से हमारे साथ है।

यदि आपने अभी-अभी साइकिल चलाना आरंभ किया है तो आप यह लेख अवश्य पढ़ें, जिससे आप साइकिल चलाने के कई लाभों से परिचित हो सकते हैं।

साइकिल चलाने के फायदे (Cycle Chalane ke Fayde in Hindi)

नियमित रूप से साइकिल चलाने से निम्नलिखित स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किये जा सकते है –

1). साइकिल चलाना आपकी मांसपेशियों को स्वस्थ बनाता है

सबसे पहले तो हम यह कहेंगे कि साइकिल चलाने से हम स्वस्थ रहते हैं। अगर आप यह कसरत लगातार करते रहें तो आप मांसपेशियों का विकास कर सकते हैं और वसा कम कर सकते हैं। आपकी सामान्य क्षमता में वृद्धि हो सकती है। अगर आप कार्यस्थल पर साइकिल चलाकर जा सकें तो यह सप्ताह में 5 दिन जिम जाने के बराबर होगा।

( और पढ़े – आयुर्वेद के उपदेश : स्वास्थ्य रक्षा के उपाय )

2). साइकिल चलाने से आप दीर्घजीवी हो सकते हैं

यह तो सार्वभौम सत्य है कि यदि आपका सामान्य स्वास्थ्य अच्छा है तो आप दीर्घजीवी हो सकते हैं। साइकिल चलाने से अल्पजीवी होने का खतरा कम हो जाता है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक लेख के अनुसार यदि आप अपने कार्यस्थल पर साइकिल चलाकर जा सकें तो कैंसर होने का खतरा 45% कम हो जाता है और हृदयरोग की संभावना 46% कम हो जाती है। इस बात में आश्चर्य नहीं कि अधेड़ आयु के साइकिल चालक समवयस्कों की अपेक्षा 2 वर्ष अधिक जीते हैं। साइकिल चालक जीवन का रहस्य जान चुके होते हैं।

( और पढ़े – सौ साल जीने की आयुर्वेदिक सरल विधियाँ )

3). आप जवान बने रहते हैं

दीर्घायु होने के रहस्यों के बारे में चर्चा की जाए तो यह तथ्य सामने आता है कि साइकिल चलाने से आप जवान बने रहते हैं। एक ऑनलाइन जर्नल एजिंग सेल में प्रकाशित एक लेख में कहा गया है कि साइकिल चलाने से उम्र बढ़ने के प्रभाव कम दिखाई देते हैं। यह मांसपेशियों को दृढ़ बनाता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

एक शोध के दौरान यह पाया गया है कि 50 से 70 वर्ष की आयु के साइकिल चलानेवालों में 20 वर्षीय साइकिल चालकों के बराबर प्रतिरोध कोशिकाएँ पाई गईं। यह सच है कि आयु तो बढ़ेगी ही पर साइकिल चलाने से इसका आभास कम हो जाता है। यदि आपको लग रहा है कि काम की अधिकता और तनाव के कारण आप असमय बूढ़े लग रहे हैं तो साइकिल चलाना आरंभ करें। झुर्रियों में अवश्य कमी आने लगेगी।

4). आप अधिक चुस्त, स्मार्ट लगेंगे

यदि आपको लगता है कि साइकिल चलाने से मात्र शारीरिक व्यायाम होता है तो मात्र इतना ही नहीं है। यकीन मानिए, यह आपको चुस्त भी बनाता है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी के एक शोध में पाया गया है कि जब स्वस्थ नवयुवकों को एक परीक्षा देने के लिए कहा गया, इसके बाद उन्हें 30 मिनट तक एक स्थिर साइकिल चलाने के लिए कहा गया और फिर से एक परीक्षा देने के लिए कहा गया। देखा गया कि साइकिल चलाने के बाद उन्होंने अधिक अच्छे अंक प्राप्त किए। यह परीक्षा स्मरणशक्ति, तर्क और योजना के विषय में थी। साइकिल चलाने से सोचने समझने की क्षमतावाले दिमाग के हिस्से का विकास होता है, जो आप के कार्यक्षेत्र में आवश्यक सिद्ध होगा।

5). यह चिंता का स्तर कम करता है

यह किसी से छिपा नहीं है कि व्यायाम करने से अनेक प्रकार के हार्मोन शरीर में स्रावित होते हैं जिनमें डोपामिन, सेरोटोनिन और एंडोर्फिन शामिल हैं। इनके अलावा साइकिल चलाने से अनेक प्रकार के कैनाबिनोइड्स का स्राव भी बढ़ जाता है। यह वैसा ही रासायनिक पदार्थ है जो कि मारिजुआना में पाया जाता है। यह दिमाग के उस हिस्से को प्रभावित करता है जहाँ से अत्यंत प्रसन्नता और उत्साह का भाव पैदा होता है।

यही कारण है कि अनेक साइकिल चलानेवाले लंबी दूरी तक साइकिल चलाने के बाद बहुत उत्साह का अनुभव करने की बात करते हैं। लेकिन आपको मैराथन में साइकिल चलाने की ज़रूरत नहीं है। आपके घर से दफ्तर तक जाकर ही आपको उच्च अनुभूति हो सकती है।

( और पढ़े – चिंता एवं तनाव से बचने के 41 उपाय )

6) यह बचत का साधन है

पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं। साइकिल चलाने से आप कितना पैसा बचा सकते हैं यह बताने के लिए किसी विद्वान की आवश्यकता नहीं है। साइकिल चलाने के लिए कार की अपेक्षा बहुत कम खर्च की आवश्यकता होती है। साइकिल को ज़्यादा रखरखाव की ज़रूरत नहीं होती।

7) समय की बचत

कार्यस्थल तक साइकिल से जाना एक और चीज़ की बचत करता है, वह है समय। पूरे संसार में ट्राफिक में फंसकर बहुत से लोग समय बरबाद करते हैं। वे जीवन में बहुत से अवसर खो देते हैं। वे निराशा में अपना दिन आरंभ करते हैं क्योंकि उन्हें पार्किंग नहीं मिल पाती। उन्हें दफ्तर में देर हो जाती है। उनका काम प्रभावित होता है। उन्हें देर तक काम करना पड़ता है। वे परिवार के साथ समय नहीं बिता पाते। इस दुष्चक्र में फँसना बुद्धिमानी नहीं है। अपने कार्यस्थल तक साइकिल से जाकर अपना कीमती समय बचाइए।

8) पर्यावरण की सुरक्षा

साइकिल चलाने का यह लाभ आपके दफ्तर के काम को सीधे प्रभावित भले ही न करे, लेकिन यह
सभी मानते हैं कि अपना दिन सकारात्मकता से आरंभ करना बहुत कुछ कर सकता है। इससे अधिक सकारात्मक क्या हो सकता है कि आप पर्यावरण के लिए अपना योगदान दे रहे हैं। जब आप कार छोड़कर साइकिल अपनाते हैं, आप कितनी कार्बन डाइऑक्साइड से धरती को बचा लेते हैं, आप अनुमान नहीं लगा सकते।

9) आपके बैठने-उठने का ढंग सही हो जाता है

साइकिल चलाने के इस लाभ का आपको अनुभव नहीं होता, लेकिन सही ढंग से उठने-बैठने से बहुत अंतर आता है। इससे पीठदर्द और मांसपेशियों के दर्द से बचा जा सकता है। आप आत्मविश्वास से भरपूर दिखाई देते हैं, जो कि हर जगह ज़रूरी है। देह भाषा से आप दूसरों को प्रभावित कर सकते हैं। इसी माध्यम से आप दूसरों से अलग साबित हो सकते हैं।

Leave a Comment