कोविड से स्वस्थ होने के बाद बरतें सावधानियां

कोविड संक्रमण के बाद होने वाले लोगों में कई प्रकार की जटिलताएं देखने को मिल रही हैं, सांस लेने में दिक्कतें आ रही हैं, उम्रदराज लोगों को हार्ट, फेफड़े, किडनी, ब्रेन आदि की समस्याएं उभरकर सामने आ सकती हैं। ऐसे में पोस्ट रिहैब्लिटेशन प्रोग्राम पर ध्यान देने की सलाह दी हैं। इसमें फेफड़ों के व्यायाम के साथ ही नियमित जांच कराने की सलाह दी जाती है। इस वजह से सावधानी बरतें।

( और पढ़े – शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय )

हार्ट का ख्याल रखें :

कोविड से स्वस्थ होने के बाद भी 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को मोटापा, रक्तदाब, मधुमेह से जुड़े इलाज व्यवस्थित रूप से करना चाहिए। कोविड के बाद हार्ट का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। कोविड़ के बाद लंग फायब्रोसिस होने का खतरा बढ़ जाता है। इस वजह से जो भी व्यक्ति धूम्रपान का आदी है, उसे तत्काल छोड़ देना चाहिए। नियमित व्यायाम आवश्यक है। जो भी कोविड से स्वस्थ हुए हैं उन्हें निमोनिया व स्वाइन फ्लू का वैक्सीन लगवाने से लाभ होगा। इसके अलावा किस प्रकार के कॉप्लिकेशन हो सकते हैं। वे आगे ही पता चल पाएंगे अभी भी कोविड पर अध्ययन जारी है।

लंग फायब्रोसिस का खतरा :

कोविड से स्वस्थ होने के बाद लंग फायब्रोसिस होने का खतरा बना रहता है। इस वजह से धूम्रपान करना तत्काल बंद कर दें । 114 दिन तक पॉजीटिव व्यक्ति को विशेष सावधानी बरतनी होगी। फिर भी विशेष मामलों में पॉजीटिव व्यक्ति से 18 दिन संक्रमण का खतरा बना रहता है। इसलिए मास्क का इस्तेमाल करते रहें, हाथ धोएं, सुरक्षित दूरी के नियम का पालन करें, अच्छी नींद लें, संतुलित आहार का सेवन करें, व्यायाम के अंतर्गत योगासन व प्राणायाम करें। सकारात्मक सोच बनाएं रखें। सांस से जुड़े व्यायाम करते रहें। प्रदूषण से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाएं। मानसिक स्वास्थ्य जांच आवश्यक हैं।

फेफड़ों के नियमित व्यायाम करें :

कोविड से स्वस्थ होने के बाद विशेष सावधानी बरतने की जरूरत हैं। पोस्ट कोविड रिहैब्लिटेशन पर ध्यान देना होगा। इस वजह से पल्मोनरी फंक्शन टेस्ट करानी चाहिए। फिजियोथेरेपिस्ट की मदद से फेफड़ों का व्यायाम सीखकर उसे नियमित करना चाहिए। दीर्घ श्वसन (डीप ब्रीदिग) व्यायाम मददगार साबित हो रहा है। मधुमेह, बीपी, हार्ट की बीमारी से ग्रस्त रुग्णों को विशेष सावधानी बरतनी होगी। नियमित जांच व दवाएं लेते रहना होगा। भारी काम या व्यायाम नही करना चाहिए। संतुलित आहार लें।

नियमित जांच आवश्यक :

कोविड से स्वस्थ होने के बाद स्वास्थ्य की तरफ अतिरिक्त ध्यान देना पड़ता है। हार्ट किडनी फेफडों की बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति को नियमित जांच कराते हुए दवाएं लेते रहना चाहिए। पोषक आहार का सेवन करें। मास्क आवश्यक दवाएं डॉक्टर की सलाह पर लेते रहें। फल, सलाद, दही का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। जो स्वस्थ हुए है उन्हें दूसरों की मदद के लिए प्लाज्मा दान करने के लिए आगे आना चाहिए। चेस्ट फिजियोथेरेपिस्ट की भूमिका अहम हो गई है।

कोविड से स्वस्थ होने के बाद ये करें :

  1. कोविड से स्वस्थ होने के बाद भी मास्क नियमित पहने। हाथ साबुन से धोते रहें सुरक्षित दूरी का पालन करते रहें।
  2. स्वस्थ होने के बाद कोविड नहीं होगा, यह धारणा ही गलत है। कई देशों में दोबारा लोग कोविड से ग्रस्त हो रहे है। इसलिए उचित सावधानी ही इस बीमारी से बचा सकता है।
  3. संतुलित आहार व नियमित दवाई लें।
  4. फेफड़ों, हार्ट आदि की नियमित जांच कराते रहें। पोस्ट कोविड रिहैब्लिटेशन प्रोग्राम अंतर्गत फेफड़े को मजबूत बनाने का व्यायाम फिजियोथेरेपिस्ट से सीखकर करें।
  5. धूम्रपान, शराब का सेवन बंद कर दें। यह तकलीफ बढ़ा सकता हैं।
  6. शुद्ध हवा लें। सुबह जॉगिंग करें। भरपूर नींद लें।

2 thoughts on “कोविड से स्वस्थ होने के बाद बरतें सावधानियां”

Leave a Comment